WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

13 फरवरी 2024 कक्षा 10 गणित का पेपर 4 घंटे पहले सोशल मीडिया पर हुआ वायरल?

एमपी बोर्ड की चल रही परीक्षाओं के बीच चार घंटे पहले ही गणित का पेपर वायरल हो गया इसके पीछे की क्या वजह रही कि एमपी बोर्ड के द्वारा कोई एक्शन नहीं लिया गया आज की आर्टिकल में इन सभी बातों पर चर्चा करेंगे। जब भी हर साल एमपी बोर्ड की परीक्षाओं को आयोजित किया जाता है तब यही चीज हर बार देखने को मिलती है लेकिन इनको बहुत ही हल्के में ले लिया जाता है और मीडिया के द्वारा भी कोई ज्यादा प्रयास नहीं किया जाता है और ना ही सरकार के द्वारा कोई एक्शन लिया जाता है। क्या कारण है कि पेपर वायरल हो जाते हैं और इस पेपर के वायरल होने से विद्यार्थियों पर क्या प्रभाव होगा आई समझते हैं आज के इस आर्टिकल में।

4 घंटे पहले कैसे मिला विद्यार्थियों को पेपर –

विद्यार्थियों को परीक्षा शुरू होने के समय से ठीक 4 घंटे पहले ही ओरिजिनल पेपर दिए जाने का दवा सोशल मीडिया पर किया जाता है जिसमें टेलीग्राम सॉफ्टवेयर का सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता है। टेलीग्राम के माध्यम से विद्यार्थियों का ग्रुप बनाया जाता है और जिन विद्यार्थियों को 4 घंटे पहले पेपर चाहिए होता है उनको कुछ पैसे देने होते हैं इसके बाद डिस्ट्रीब्यूटर के द्वारा पेपर व्हाट्सएप के माध्यम से अथवा टेलीग्राम के माध्यम से भेज दिया जाता है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

पेपर मिलने से विद्यार्थी के मन में बड़ा असंतोष –

पढ़ाई के प्रति विद्यार्थियों का मन बहुत ही गिर गया है क्योंकि जो विद्यार्थी बहुत ही अच्छे ढंग से पढ़ाई करते हैं और परीक्षा की तैयारी करते हैं लेकिन परीक्षा के समय से ठीक 4 घंटे पहले जब कभी पेपर वायरल हो जाता है तो उनको बड़ी ठेस पहुंचती है। पेपर के वायरल होने से कुछ नहीं होता लेकिन विद्यार्थी के मन में यह डर पैदा हो जाता है कि पेपर वायरल हो गया है तो जरूर इसका प्रभाव हमारे रिजल्ट पर भी आएगा।

पिछली बार पेपर वायरल करने वाला हुआ था गिरफ्तार –

मध्य प्रदेश में 2023 की एमपी बोर्ड की परीक्षा के दौरान जब पेपर के वायरल होने की खबरों को फैलाया गया था तो उसे समय यह भी सुनने को मिला था कि जिन्होंने पेपर वायरल कराया है उनको गिरफ्तार कर लिया गया है हालांकि इसकी पुष्टि हमारी वेबसाइट नहीं करती ।

कैसे पहुंचता है परीक्षा केंद्र तक कोई पेपर?

माध्यमिक शिक्षा मंडल के जब पेपर आयोजित किए जाते हैं तब एमपी बोर्ड के विद्यार्थियों के पेपर परीक्षा केंद्र तक पहुंचने से पहले जिलेवार वितरित किए जाते हैं इसके बाद गांव गांव जाकर परीक्षा केंद्र के नजदीक थाने में उनको जमा किया जाता है। थाने में जमा होने के बाद परीक्षा केंद्र तक पेपर तभी पहुंचते हैं जब पेपर का टाइम एक घंटा रह जाता है इसके बाद ही पेपर परीक्षा केंद्र तक पहुंचाते हैं ।

पेपर वायरल नहीं हुआ है, कुछ शरारती तत्वों द्वारा पेपर वायरल करने का दावा किया गया लेकिन उनका ये दावा झूठा रहा

Join telegram

Leave a Comment