WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

22 फरवरी 2024 कक्षा 10 विज्ञान पेपर वार्षिक परीक्षा 2024 एमपी बोर्ड

बीते कुछ सालों से जब भी मध्य प्रदेश में बोर्ड परीक्षा आयोजित होती है तो परीक्षा से कुछ ही दिन पहले ओरिजिनल पेपर के वायरल होने की खबरों को फैलाया जाता है जो की एक तरह से विद्यार्थियों से पैसा लूटने का जरिया बनाया जाता है। सोशल मीडिया के तमाम प्लेटफार्म जहां पर यह दावा किया जाता है कि यह ओरिजिनल पेपर है और ठीक वैसा ही परीक्षा में देखने को मिलेगा जबकि ऐसा असल में नहीं होता है। ओरिजिनल पेपर के वायरल होने की खबरों को किस तरीके से फैलाया जाता है और विद्यार्थियों को किस तरीके से इस तरह के कारनामे से बचना है और बेहतर तैयारी करना है आज की आर्टिकल में यही सब समझेंगे।

पेपर हल करने से पहले विद्यार्थी करें यह तैयारी –

  1. सभी विद्यार्थियों के लिए विज्ञान का पेपर हल करना इतना मुश्किल नहीं होता है जितना अन्य पेपर को करना थोड़ा कठिन होता है । पेपर हल करने से पहले केवल इतनी सावधानी रखना है कि हल करने का सही तरीका क्या है?
  2. पेपर को हल करने से पूर्व हमें यह सावधानी रखना चाहिए कि वह कौन से प्रश्न है जिनको हम बहुत ही अच्छे से कर सकते हैं इस तरीके के प्रश्न सबसे पहले हल करना चाहिए।
  3. विज्ञान का पेपर बहुत ही बड़ा पेपर नहीं होता है कई प्रश्नों को अथवा में दिया जाता है और वस्तुनिष्ठ प्रश्न बहुत ही साधारण होते हैं ।
  4. ब्लूप्रिंट में दिए गए वस्तुनिष्ठ प्रश्नों को ही समझ कर परीक्षा से पहले तैयार कर लेना चाहिए क्योंकि इस प्रकार के प्रश्न बहुत ही आसन होते हैं और फ्री के नंबर होते हैं।
  5. सभी विद्यार्थियों के लिए स्कूल के दौरान जो भी रणनीति बताई जाती है जो भी पढ़ाया जाता है उसका रिवीजन परीक्षा से पहले जरूर करें क्योंकि रिवीजन किसी भी परीक्षा के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है ।

विज्ञान का पुराना पेपर विद्यार्थी को कितना सहयोग करता है?

किसी भी विद्यार्थी के लिए पुराना पेपर उतना ही सहयोग करता है जितना परीक्षा के दौरान कोई शिक्षक परीक्षा के लिए तैयार करता है। पुराने पेपर में विद्यार्थी यह समझ पाता है कि पेपर का पैटर्न कैसा रहता है और किस तरीके से परीक्षा में हमसे पूछा जाएगा । पैटर्न को समझने के बाद ही परीक्षा की तैयारी करना आसान होता है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

विज्ञान के प्रश्न हल कैसे करें ?

परीक्षा में विज्ञान के प्रश्न हल करना इतना मुश्किल नहीं होता है जितना अन्य प्रश्नों को अन्य विषय के अंतर्गत हल किया जाता है क्योंकि विज्ञान के प्रश्न बहुत ही छोटे होते हैं और इसका पेपर भी अन्य विषयों की अपेक्षा छोटा आता है । विज्ञान के पेपर से तात्पर्य यह है कि अन्य पेपर के प्रश्नों की संख्या की अपेक्षा इसके प्रश्नों की संख्या कम होती है ।

वायरल पेपर होने से विद्यार्थियों का बड़ा नुकसान –

यह तो निश्चित है की ओरिजिनल पेपर बड़ी मुश्किल से ही वायरल हो सकता है और जिस तरीके से सोशल मीडिया पर दावा किया जाता है कि पेपर वायरल हो जाता है उसे तरीके से बहुत ही गलत है। विज्ञान का पेपर भी आने वाली तारीख 22 फरवरी 2024 को वायरल हो सकता है लेकिन हमारी वेबसाइट वायरल होने की पुष्टि नहीं करती । जब पेपर वायरल होने जैसी खबरें फैलती हैं तब विद्यार्थी का पढ़ाई में बिल्कुल मन नहीं लगता और विद्यार्थी का भविष्य भी खतरे में आ जाता है ।

Join telegram

Leave a Comment