WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

एमपी आंगनवाड़ी भर्ती 9500 Vacancies October 2024

आंगनवाड़ी भर्ती मध्य प्रदेश 2024-, एमपी आंगनवाड़ी भर्ती 9500 Vacancies, (All Queries Covered)

दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं आंगनवाड़ी वैकेंसी मध्यप्रदेश से संबंधित जिसमें मुख्य रुप से आज हम आपको बताने वाले हैं की आंगनवाड़ी में किस तरीके से वर्ष 2024 की भर्ती निकलनी है और आंगनवाड़ी भर्ती प्रक्रिया 2024 किस तरीके से होगी | आंगनबाड़ी भर्ती प्रक्रिया में कौन-कौन सी क्वालिफिकेशन आवश्यक होगी सभी प्रकार की बातों पर चर्चा करने वाले है|

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

महिला एवं बाल विकास विभाग ने नोटिस किया जारी –

महिला एवं बाल विकास विभाग कार्यालय के आंगनवाड़ी भर्ती मध्य प्रदेश 2024 के लिए नोटिस जारी हो गया है जिसके विषय में आज हम आपको पूरी जानकारी बताएंगे|

      महिला एवं बाल विकास विभाग ने अपने नोटिस में जारी किया है कि सुपरवाइजर कलर का आशा सहयोगिनी और आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सहायता के रूप में पोस्ट को जारी किया है जिसकी प्रक्रिया जल्द ही शुरू होने वाली है|

आंगनवाड़ी भर्ती 2024 के लिए आवश्यक दस्तावेज –

दोस्तो आंगनवाड़ी भर्ती प्रक्रिया 2024 में कक्षा पांचवी के विद्यार्थी कक्षा आठवीं और कक्षा 10वीं तथा 12वीं के विद्यार्थी साथ ही ग्रैजुएट्ड विद्यार्थी भी आंगनवाड़ी भर्ती प्रक्रिया के लिए चयनित किए जा सकते हैं | आंगनवाड़ी भर्ती प्रक्रिया 2024 बहुत ही सरल है इसके लिए आप अपने नजदीकी साइबर के पेपर आंगनवाड़ी भर्ती प्रक्रिया 2024 के लिए फॉर्म अप्लाई कर सकते हैं |

कैसे पता करें आंगनवाड़ी भर्ती 2024 की मुख्य अपडेट –

दोस्तों यदि आप आंगनवाड़ी भर्ती प्रक्रिया 2024 के विषय में महत्वपूर्ण जानकारी चाहते हैं और साथ ही आंगनवाड़ी भर्ती प्रक्रिया 2024 की अपडेट जानकारी को आप आईसीडीएस( icds ) की ऑफिशियल वेबसाइट पर देख सकते हैं | इस वेबसाइट पर आपको आंगनवाड़ी भर्ती 2024 मध्य प्रदेश की महत्वपूर्ण जानकारी मिल जाएगी |

आंगनवाड़ी भर्ती 2024 मध्य प्रदेश के लिए आवेदन कैसे करें –

दोस्तों आंगनवाड़ी भर्ती 2022 मध्यप्रदेश के लिए कक्षा आठवीं दसवीं 12वीं और ग्रेजुएटेड विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं | आवेदन करने के लिए आपको ICDS की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा यहां से आप आंगनवाड़ी भर्ती 2022 के लिए आवेदन कर सकते हैं |

आंगनवाड़ी भर्ती 2024 एमपी किस तरह की जाएगी –

दोस्तों आंगनवाड़ी भर्ती प्रक्रिया 2024 मध्यप्रदेश में कैटगिरी के अनुसार विद्यार्थियों को आवेदन करने के लिए आवश्यक पोस्टों को जारी किया जाएगा उसी के अनुसार प्रत्येक विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं | आंगनवाड़ी भर्ती प्रक्रिया में आर्थिक रूप से कमजोर व्यक्तियों के लिए अलग तरीके से पोस्ट रहेंगे साथ ही ओबीसी वर्ग के लिए पोस्टों को निर्धारित किया जाएगा साथ ही एससी और एसटी वालों के लिए पोस्टों को निर्धारित किया जाएगा उसी के अनुसार सभी वर्ग की क्वालिफिकेशन निर्धारित की जाएगी एससी और एसटी वर्ग के लिए कुछ हद तक छूट भी दी जा सकती है |

आंगनवाड़ी के पदों के लिए अनुमानित सैलरी –

१. दोस्तों सुपरवाइजर की बात करें तो जिसको पर्यवेक्षक भी बोला जाता है तो इस प्रकार की पोस्ट की 27000 तक होती है साथ ही समय अनुसार इस को बढ़ाया भी जा सकता है |

२. ओपीडी अथवा परियोजना अधिकारी आंगनवाड़ी जिसकी सैलरी 36500 तक होती है साथ ही समय अनुसार परियोजना अधिकारी की सैलरी बढ़ाई जा सकती है |

३. आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की सैलरी 16000 से लेकर 18000 तक होती है साथ ही समय अनुसार इसको बढ़ाया भी जा सकता है |

४. आंगनवाड़ी हेल्पर अर्थात सहायक कार्यकर्ता जिसकी सैलरी 10,000 से लेकर 12000 तक होती है |

आंगनवाड़ी भर्ती परीक्षा 2024 के लिए आवश्यक आयु सीमा –

दोस्तों आंगनवाड़ी भर्ती परीक्षा 2024 के लिए इच्छुक उम्मीदवार 18 से 40 वर्ष के सभी विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं | आंगनवाड़ी भर्ती परीक्षा 2024 के आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेजों को पूरा करना होगा |

आंगनवाड़ी भर्ती परीक्षा 2024 कैसे होगी?

आंगनवाड़ी भर्ती परीक्षा 2024 के लिए ऑनलाइन परीक्षा भर्ती को प्राथमिकता दी गई है इस प्रकार की सभी जानकारी के लिए आप ICDS की ऑफिशियल वेबसाइट पर देख सकते हैं इस वेबसाइट पर आपको सभी प्रकार की अपडेट जानकारी मिलती रहती है |

क्यों जरूरी है हर गांव में आंगनवाड़ी केंद्र –

दोस्तों गांव से लेकर शहर तक कोई ना कोई कुपोषण का शिकार है दोस्तों इसमें सबसे अधिक मात्रा में बच्चों की संख्या आती है बच्चे शुरुआत से ही कुपोषण का शिकार हो जाते हैं इसके बाद भी बढ़ती उम्र के साथ कभी भी हेल्थी शरीर नहीं बना पाते | दोस्तों कुपोषण की इस समस्या को दूर करने के लिए एकीकृत बाल विकास विभाग की तरफ से वर्ष 1975 से आंगनवाड़ी सुविधा को बच्चों की भूख और कुपोषण को दूर करने के लिए प्रयास शुरू किया गया और धीरे -धीरे 1980 के बाद आंगनवाड़ी सुचारू रूप से चलने लगी और वर्ष 2003 के बाद आंगनवाड़ी से संबंधित लगभग प्रत्येक गांव में आंगनवाड़ी केंद्र खुलने लगे और बच्चों को कुपोषण से दूर करने का प्रयास किया जाने लगा |

आंगनवाड़ी से हो रही गर्भवती महिलाओं की देखभाल –

दोस्तो आंगनवाड़ी केंद्र से गांव में गर्भवती महिला की देखभाल बड़ी आसानी से हो जाती है क्योंकि आंगनवाड़ी केंद्र में बच्चों के साथ-साथ उनकी मां के स्वास्थ्य को ध्यान में रखा जाता हैऔर बच्चों को कुपोषण से दूर करने के लिए गांव में यह प्रयत्न किया जाता है कि कुपोषण जैसी बीमारी को कैसे दूर भगाना है |

आंगनवाड़ी का अर्थ –

आंगनवाड़ी का अर्थ है – “आंगन आश्रय” अर्थात एक ऐसा स्थान जहां पर बच्चे खेल भी सकते हैं और पढ़ना भी सीख सकते हैं और अपनी शारीरिक एक्टिविटी को एक्टिव रख सकते हैं | आंगनवाड़ी में सबसे ज्यादा बच्चों के स्वास्थ्य और मां के स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दिया जाता है | आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बच्चों को पढ़ाते भी हैं जिससे आगे जाकर धीरे-धीरे उनकी स्किल्स डेवलपमेंट हो सके |

आंगनवाड़ी से हो रहा गांव का विकास –

दोस्तों आंगनवाड़ी केंद्र जब से प्रत्येक गांव में स्थापित हो गए तब से गांव में बच्चों की शिक्षा और स्वास्थ्य पर बहुत सुधार हुआ है क्योंकि आंगनवाड़ी केंद्र में सबसे अधिक बच्चों की स्वास्थ्य और शिक्षा पर बल दिया जाता है | गांव में जिन बच्चों की मां अनपढ़ हैं अथवा पढ़ी-लिखी नहीं है उनको आंगनवाड़ी केंद्र में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के द्वारा कुपोषण के बारे में और बच्चे की एक अच्छे स्वास्थ्य के लिए किन-किन नीतियों को अपनाना चाहिए सभी प्रकार की जानकारी दी जाती है |

आंगनवाड़ी केंद्र से बच्चों को मिल रहा भरपूर आहार –

आंगनवाड़ी केंद्र से बच्चों को भरपूर आहार मिलने से बच्चे खाना खाना भी सीख जाते हैं साथ ही आंगनवाड़ी केंद्र पर हमेशा बच्चों के लिए पौष्टिक आहार उपलब्ध कराया जाता है जो एक अच्छे स्वास्थ्य के लिए उपयुक्त होता है | आंगनवाड़ी केंद्र पर बच्चों को मिलने वाले आहार में मुख्य रूप से प्रोटीन युक्त जिसमें प्रोटीन के साथ-साथ विटामिन k ,विटामिन B ,विटामिन D और साथ ही कार्बोहाइड्रेट निर्मित पौष्टिक आहार वितरित किया जाता है | बच्चों को मिलने वाले भोजन के रूप में आहार में शरीर की आवश्यकता के हिसाब से आयोडीन, मैग्नीशियम ,आयरन ,मैग्नीज जैसे तत्वों के साथ आहार को निर्मित किया जाता है और बच्चों में वितरित किया जाता है |

आंगनवाड़ी केंद्र में बच्चों के लिए टीकाकरण की व्यवस्था –

दोस्तों गांव स्तर पर आंगनवाड़ी केंद्र में शिक्षा के साथ-साथ स्वास्थ्य पर मुख्य रूप से जोर दिया जाता है जिसमें मुख्य रुप से बच्चों को लगने वाले टीकाकरण की व्यवस्था आंगनवाड़ी में ही हो जाती है| टीकाकरण में पोलियो का टीका खसरा का टीका आदि सभी प्रकार की बीमारियों के टीकाकरण की व्यवस्था होती है |

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की महत्वपूर्ण भूमिका –

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता गांव के बच्चों के लिए बहुत ही सुविधाएं उपलब्ध कराते हैं साथ ही 6 वर्ष से कम आयु के बच्चों को शिक्षा भी उपलब्ध कराते हैं | 5 वर्ष से कम आयु के बच्चों के स्वास्थ्य की जांच की जिम्मेदारी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की होती है साथ ही गांव की किसी भी गर्भवती महिला के स्वास्थ्य की जानकारी और उसके स्वास्थ्य की देखरेख आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के द्वारा ही की जाती है |

आंगनवाड़ी से गांव के लोगों को मिल रहा लाभ –

दोस्तों आंगनवाड़ी केंद्रों के द्वारा गांव के लोगों को 5 वर्ष से कम आयु के बच्चों की अच्छी देख रहे व उनके स्वास्थ्य की कोई चिंता ही नहीं रहती क्योंकि आंगनवाड़ी केंद्र गांव की छोटे-छोटे बच्चों के स्वास्थ्य की जांच करते हैं और साथ ही गर्भवती महिला के स्वास्थ्य की जांच आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के द्वारा ही की जाती है जिसको आंगनवाड़ी केंद्र पर ही किया जा सकता है |

आंगनवाड़ी भर्ती 2024 के लिए आवेदन कब शुरू होंगे –

आंगनवाड़ी भर्ती परीक्षा 2024 के लिए अभी तक किसी भी प्रकार की तारीख को आंगनवाड़ी की ऑफिशियल वेबसाइट
ICDS पर नहीं बताया गया है | अनुमान है कि अप्रैल महीने के अंतिम सप्ताह तक आंगनवाड़ी की ऑफिशियल वेबसाइट पर आंगनवाड़ी भर्ती परीक्षा 2024 के लिए सभी प्रकार की जानकारी को अपडेट किया जाएगा और अप्रैल महीने की किसी भी तारीख को कोई भी अपडेट भी आ सकता है |

आंगनवाड़ी केंद्र पर मिल रहा गांव की महिलाओं को रोजगार –

आंगनवाड़ी केंद्र पर एक से अधिक आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की पोस्टिंग होती है जिसमें मुख्य रुप से आंगनवाड़ी सहायक कार्यकर्ता और आंगनवाड़ी सुपरवाइजर के रूप में नियुक्ति होती है | आंगनवाड़ी केंद्र पर ज्यादातर गांव की ही महिलाएं नियुक्त की जाते हैं जो आंगनवाड़ी केंद्र पर सुपरवाइजर अथवा आंगनवाड़ी केंद्र सहायक के रूप में काम कर सके तथा जिनकी योग्यता हो | आंगनवाड़ी सहायक कार्यकर्ता गांव के प्रत्येक घर- घर जाकर योजनाओं में किए जाने वाले काम को बखूबी निभाते हैं |

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर करते हैं सर्वे-

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता गांव में प्रत्येक के घर -घर जाकर महिलाओं को जागरूक करते हैं कि उनको बच्चों के पालन-पोषण को किस तरीके से करना चाहिए किस तरीके का आहार बच्चों को देना चाहिए | महिलाओं के शारीरिक संबंध के बारे में एक अनोखी जानकारी महिलाओं को आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के द्वारा दी जाती है ताकि कोई महिला कभी ऐसी गलती ना करें जिससे बच्चों के स्वास्थ्य पर इसका बुरा प्रभाव पड़े | आंगनवाड़ी कार्यकर्ता महिलाओं को सभी प्रकार से आवश्यक जानकारी को साझा करते हैं |

जन्म प्रमाण पत्र कैसे बनते हैं ?

दोस्तों जन्म प्रमाण पत्र बनवाने के लिए सबसे पहले आपको अपने गांव के आंगनवाड़ी केंद्र अथवा आप जहां पर रहते हैं जहां पर आप का निवास है वहां के आंगनवाड़ी केंद्र पर संपर्क कर सकते हैं | बच्चों के जन्म प्रमाण पत्र बनाने की जिम्मेदारी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की होती है | जन्म प्रमाण पत्र बनवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज की आवश्यकता होती है जिसमें मुख्य रुप से परिवार आईडी के साथ आधार कार्ड मोबाइल नंबर आदि जानकारी को आप आंगनवाड़ी केंद्र पर आंगनवाड़ी कार्यकर्ता को देखकर बनवा सकते हैं |

महिलाओं को फैमिली प्लानिंग की जानकारी देना –

दोस्तों आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के द्वारा घर घर जाकर महिलाओं को जिनके परिवार में अभी तक कोई बच्चे नहीं है तो फैमिली प्लानिंग के बारे में महिलाओं को जानकारी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के द्वारा ही दी जाती जिसमें मुख्य रुप से ऐसी महिलाएं जो कम पढ़े लिखे हैं उनके लिए यह जानकारी बहुत ही महत्वपूर्ण होती है | आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के द्वारा सबसे ज्यादा जानकारी महिलाओं को यह दी जाती है कि दो से अधिक बच्चों को पैदा करना वर्तमान समय में बिल्कुल भी उचित नहीं है | यदि महिलाएं शिक्षित होंगे तो ऐसी महिलाओं को जल्दी समझ में आ जाता है लेकिन जो महिलाएं शिक्षित नहीं होती उनको परिवार के बारे में सही जानकारी देना बहुत जरूरी होता है | ताकि जनसंख्या वृद्धि ना हो |

जागरूकता का संदेश –

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता का मुख्य उद्देश्य लोगों में जागरूकता फैलाना होता है चाहे वह परिवार प्लानिंग के के बारे में हो, चाहे स्वास्थ्य के लिए हो, गांव में अधिकतर बहुत सी महिलाएं ऐसी होती हैं जो कम पढ़ी लिखी होती हैं |आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के द्वारा सभी प्रकार से जागरूक किया जाता है जिसमें मुख्य रुप से परिवार के बारे में और बच्चों के स्वास्थ्य और उनके पालन पोषण से संबंधित जानकारी को साझा किया जाता है |

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता महिलाओं को जागरूक करते हैं कि आपको सप्ताह के किसी 1 दिन आंगनबाड़ी केंद्र आकर अपनी उपस्थिति दर्ज करा के स्वास्थ्य संबंधी जांच करा लेनी है इस प्रकार की प्रक्रिया है आंगनवाड़ी कार्यकर्ता को प्रत्येक महीने के किसी एक दिन आंगनवाड़ी विभाग को जानकारी एकत्रित करके भेजनी होती है | आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के एक बेहतर प्रयास से प्रत्येक परिवार में हरसंभव जागरूकता को घर – घर पहुंच आते हैं |

Website Home ( वेबसाइट की सभी पोस्ट ) – Click Here
———————————————————-
Telegram Channel Link – Click Here
Join telegram

Leave a Comment