बागेश्वर धाम की राई, लोकगीत | चलो चलिए बागेश्वर धाम सखी री, 10+Songs Lyrics

बागेश्वर धाम की राई, बागेश्वर धाम के लोकगीत | चलो चलिए बागेश्वर धाम सखी री, ग्राम गढ़ा की नगरिया में,

नमस्कार दोस्तों –

आज हम बात करने वाले हैं मध्य प्रदेश के प्रसिद्ध तीर्थ स्थल बागेश्वर धाम के बारे में जहां पर प्रतिदिन हजारों की संख्या में लोग बाबा के दर्शन करने के लिए जाते हैं | बागेश्वर धाम जो कि छतरपुर जिले के ग्राम गढ़ा (गंज) के अंतर्गत आता है इसकी प्रसिद्धि सोशल मीडिया पर वायरल हुए कुछ गीतों के माध्यम से भी जानी जाती है | बागेश्वर धाम के पिछले दो-तीन वर्षों के अंतर्गत सैकड़ों की संख्या में बुंदेली गीत इंटरनेट पर प्रस्तुत हुए हैं जिनकी सराहना लोगों ने खूब की है |

  • ➜➜बागेश्वर धाम “ख्याल ” लोगों को बहुत पसंद आ रही है| बागेश्वर धाम की समस्त जानकारी को आज आपके साथ शेयर किया जाएगा |

Table of Contents

बागेश्वर धाम की राई, लोकगीत

आज की पोस्ट में आपको बताया जाएगा कि किस तरीके से लोग यहां पर बालाजी महाराज के गीत गाकर धूमधाम से दर्शन करते हैं? कैसे बालाजी महाराज के दर्शन करने के लिए लोग बेताब रहते हैं सभी के बारे में महत्वपूर्ण चर्चा की जाएगी | ऐसे कौन -कौन से कलाकार हैं जिनके द्वारा बागेश्वर धाम से संबंधित गीत यूट्यूब पर अथवा सोशल मीडिया पर प्रस्तुत किए गए हैं सभी के बारे में विस्तार से चर्चा की जाएगी |

⚫️ बागेश्वर धाम से जुड़ा पहला गीत – बागेश्वर धाम की राई, लोकगीत | चलो चलिए बागेश्वर धाम सखी री

बागेश्वर धाम से संबंधित वायरल हुआ पहला गीत जिसे आमतौर पर ख्याल कहा जाता है | यह गीत स्थानीय कलाकारों के द्वारा मंदिर पर गाया गया था जो बाद में धीरे-धीरे वायरल हो गया |

गाने के बोल – ” चलो चलिए बागेश्वर धाम सखी री ग्राम गढ़ा की नगरिया में “

चलो चलिए अरी हां री सखी,
चलो लगा लो परकंमा सो कट जै है,
सो कट जै है तमाम सखी री |
धाम गढ़ा की नगरिया में
चलो चलिए बागेश्वर धाम सखी री
धाम गढ़ा की नगरिया में,

अरी हां री सखी री बैठे, अंजलि लाला जहाँ |
अरी हां री सखी री बैठे, अंजलि लाला जहाँ |
इनकी महिमा है चारो धाम सखी री |
धाम गढ़ा की नगरिया में
चलो चलिए..

दोस्तों यह बुंदेली गीत स्थानीय लोगों के साथ- साथ कैसे पूरी दुनिया में धीरे-धीरे पसंद किया जाने लगा | वर्तमान में इसे लाखों लोग देख चुके हैं | प्रतिदिन इस गीत के देखे जाने की संख्या बढ़ती जाती है हालांकि वर्तमान में बागेश्वर धाम से जुड़े हुए कई कलाकारों ने अपने गीत प्रस्तुत किए हैं |

बागेश्वर धाम के पहले गीत से जुड़े हुए कुछ महत्वपूर्ण पहलू-

↪️ इस गीत को मधुर बनाने वाले और आवाज देने वाले खनिज देव चौहान है |

↪️ दोस्तों यह गीत वर्तमान में यूट्यूब के बागेश्वर धाम सरकार ऑफिशियल चैनल पर उपलब्ध है |

↪️ दोस्तों यह गीत यूट्यूब के एक से अधिक चैनलों पर भी उपलब्ध है जिसकी कई कॉपी लाखों की संख्या में देखी जा रही हैं |

↪️ दोस्तों यह गीत मन को बहुत ही आनंदित कर देने वाला है लोगों को इस कदर पसंद आता है कि बार-बार सुनने का मन करता है |

↪️ दोस्तों मधुर संगीत लोगों के मन को केंद्रित करता है ईश्वर के प्रति भक्ति भावना पैदा करता है |

↪️ संगीत से इंसान का मन झूम उठता है | बागेश्वर धाम आने वाले कई भक्तगण पैदल आते समय इसी गीत का उच्चारण करते चले आते हैं |

☑️बागेश्वर धाम में टोकन की व्यवस्था – Bageshwar Dham WikipediaClick Here
☑️बागेश्वर धाम का इतिहास History Of Bageshwar Dham Chhatarpur MPClick Here
☑️बागेश्वर धाम शायरी स्टेटस | Bageshwar Dham Status ShayariClick Here
☑️बागेश्वर धाम महाराज का पता : बागेश्वर धाम का मोबाइल नंबरClick Here
☑️बागेश्वर धाम महाराज का नाम : बागेश्वर धाम महाराज की शादीClick Here
☑️बागेश्वर धाम और खजुराहो प्रसिद्ध धार्मिक एवं पर्यटन स्थलClick Here

⚫️ बागेश्वर धाम का दूसरा गीत -” खबर मोरी लें रहियो बागेश्वर गढ़ा के हनुमान “-

दोस्तों यह गीत भी काफी प्रसिद्ध हुआ और लोगों ने इसे खूब पसंद किया वर्तमान में लगभग इस गीत को पसंद करने वाले लोग 70 लाख के आसपास है और इनकी संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है |

इस गीत को आवाज देने वाले ‘खनिज देव चौहान‘ हैं | इनके द्वारा बागेश्वर धाम से जुड़े हुए एक से अधिक गीत प्रस्तुत किए गए हैं जिनको लोग खूब पसंद कर रहे हैं |

खबर मोरी लए रईयो, बागेश्वर गढ़ा के हनुमान |
खबर मोरी लए रईयो, बागेश्वर गढ़ा के हनुमान |

अरे हां ऊंची महिमा ऊंची है आभा, संगै विराजें संयासी बाबा |
अरे हां ऊंची महिमा ऊंची है आभा, संगै विराजें
संयासी बाबा |
हमें दे दो कृपा को दान, बागेश्वर गढ़ा के हनुमान |
खबर मोरी लए रईयो बागेश्वर गढ़ा के हनुमान |

⚫️ बागेश्वर धाम के लमटेरा –

दोस्तों लमटेरा एक प्रकार से खयाल का ही दूसरा रूप है जिसे लय बद्ध तरीके से संगीत की धुन में गाया जाता है | बुंदेलखंड क्षेत्र में सबसे ज्यादा मात्रा में लमटेरा भगवान शिव के उपलक्ष में गाए जाते हैं | मध्य प्रदेश के प्रसिद्ध तीर्थ स्थल जटाशंकर धाम जाने वाले अक्सर कई लोग लमटेरा का इस्तेमाल करते हैं और मनोरंजन के साथ दर्शन करने जाते हैं |

  • 🔥खनिज देव चौहान -” दरस की तो बेरा भई रे “

दोस्तों प्रसिद्ध गायक और लेखक” खनिज देव चौहान” जी के द्वारा यह लमटेरा इंटरनेट पर अपलोड किया गया है जिसे लोग खूब पसंद कर रहे हैं | इनके गीत सुनकर लोग इन्हें कॉपी करके भी गीत गाने का प्रयास करते हैं | दोस्तों बुंदेलखंड बुंदेली भाषा से भरपूर क्षेत्र है जिस कारण से यहां पर बुंदेली में सुने जाने वाले लमटेरा को लोग बहुत पसंद करते हैं |

☑️Hotels Near Bageshwar Dham – बागेश्वर धाम के पास होटलClick Here
☑️Bageshwar Dham Ki Mahima – Chhatarpur Gadha Ganj MPClick Here
☑️खजुराहो से बागेश्वर धाम की दूरी – Bageshwar Dham MP ChhatarpurClick Here
☑️बागेश्वर धाम एमपी (म.प्र) – Bageshwar Dham MP ChhatarpurClick Here
☑️बागेश्वर धाम महाराज का घर माता पिता, भाईClick Here

⚫️ “चलो तो भैया चिंता ना करो रे…… बागेश्वर बालाजी सम्हार हैं सबके काम रे ……….”-

दोस्तों मध्य प्रदेश के क्षेत्रीय निवासी छोटे से गायक कालेश यादव के द्वारा इस गीत को प्रस्तुत किया गया है | इस गीत को भी लोग बहुत पसंद करते हैं | बागेश्वर धाम जब से विश्व विख्यात हुआ है तब से लोग इनकी महिमा का बखान करते जा रहे हैं |

✅कई आसपास के लोग अभी भी वर्तमान में एक भी बार बागेश्वर धाम के दर्शन करने के लिए नहीं पहुंच पाए हैं परंतु बागेश्वर धाम में विदेशों से भी लोग यात्रा कर चुके हैं |

✅दोस्तों कहा जाता है-“ दूर के ढोल सुहावने होते हैं” ठीक वैसा ही बागेश्वर धाम के साथ होता है आसपास के निवासियों के लिए बागेश्वर धाम कोई बहुत बड़ी चीज नहीं है परंतु हजारों किलोमीटर दूर से आने वाले व्यक्तियों के लिए यह तीर्थ स्थल बहुत मायने रखता है |

दोस्तों तीर्थ स्थल कोई भी हो परंतु जहां पर लोगों की समस्याएं सॉल्व हो जाती हैं उनको वही तीर्थ स्थल सबसे प्रिय होता है |

⚫️ कन्हैया कैसेट की धमाकेदार प्रस्तुति-

दोस्तों कन्हैया कैसेट बहुत ही पुराना यूट्यूब प्लेटफार्म है इस प्लेटफार्म पर लगभग हजारों की संख्या में गीत अपलोड हो चुके हैं| बुंदेलखंड के बड़े-बड़े दिग्गज कलाकार अपने गीत कन्हैया कैसेट के माध्यम से ही सोशल मीडिया पर अपलोड करते हैं |

कन्हैया कैसेट से जुड़े हुए लोग लगभग एक करोड़ पर भी ज्यादा है जिस कारण से कन्हैया कैसेट के ऑफिशियल चैनल पर बागेश्वर धाम का कोई भी गीत अपलोड होने के तुरंत बाद वायरल हो जाता है | कन्हैया कैसेट से जुड़े हुए तमाम कलाकार अपने द्वारा निर्मित किए गए गीत किसी प्लेटफार्म पर लोगों को सुनाने का प्रयास करते हैं |

⚫️ बागेश्वर धाम आल्हा-

दोस्तों मध्यप्रदेश की जानी-मानी कलाकार “संजो बघेल” के द्वारा कुछ महीने पहले जगद्गुरु आचार्य श्री रामभद्राचार्य जी के आगमन पर सुंदर आल्हा का गुणगान किया गया था जिसे लोगों ने खूब पसंद किया | आल्हा के क्षेत्र में “संजो बघेल” बुंदेलखंड के सभी कलाकारों में शिखर पर जानी जाती हैं | उनकी गायकी का अपना एक अलग अंदाज है जिसके कारण भी जानी जाती हैं |

  • 🛑प्रसिद्ध गायिका “संजो बघेल” के द्वारा बागेश्वर धाम की प्राचीन महिमा से लेकर वर्तमान प्रसिद्धि तक के सफर को गीत के माध्यम से लोगों के बीच रखा | गाय का संजो बघेल शुरुआत से ही अपने आल्हा अंदाज के लिए जाने जाती हैं |
  • 🛑उनके द्वारा गाए गए कई आल्हा लोगों को बहुत अच्छे लगते हैं | बुंदेलखंड क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले बहुत से पुराने महापुरुषों के बारे में कई आला उन्होंने लिखे हैं और लोगों को गीत के माध्यम से पेश किए हैं |
बागेश्वर धाम किस जिले में है? – Bageshwar Dham Wikipediaक्लिक करें
बागेश्वर धाम दरवार कब लगता है ? – Bageshwar Dham Darwarक्लिक करें
बागेश्वर धाम में दर्शन करने का समय क्या है? : दर्शन कितने बजे मिलता है?क्लिक करें
बागेश्वर धाम का सच क्या है? Truth of Bageshwar Dhamक्लिक करें
बागेश्वर धाम टोकन कैसे मिलेगा – Bageshwar Dham Online Tokenक्लिक करें

⚫️ पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी के सफर की कहानी आल्हा के देसी अंदाज में-

दोस्तों प्रसिद्ध गायिका “संजो बघेल “के द्वारा धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी के जीवन परिचय को गीत के माध्यम से प्रस्तुत किया है जिसे लोग खूब पसंद कर रहे है |

दोस्तो बागेश्वर धाम के धीरेंद्र तिवारी जी के जीवन की गाथा को बड़े ही सुंदर शब्दों के साथ गीत के माध्यम से “संजो बघेल ” ने लोगों के बीच रखा है | धीरेंद्र तिवारी जी का जीवन कैसा था और वर्तमान में कैसा चल रहा है उनके जीवन के कुछ महत्वपूर्ण संघर्ष के पल भी आल्हा के माध्यम से सुना दिए जाते हैं | यह आल्हा लोगों को बहुत पसंद आ रहा है वर्तमान में इसके लाखों की संख्या में व्यूज आए हैं |

⚫️ सन्यासी बाबा कौन है?

अक्सर लोगों का प्रश्न होता है कि कई बार बागेश्वर धाम में सन्यासी बाबा को प्राथमिकता दी जाती है और बागेश्वर धाम महाराज उनकी जय बोलने के लिए प्रेरित करते हैं | दोस्तों सन्यासी बाबा बागेश्वर धाम के प्रथम निर्मोही अखाड़ा से आने वाले ऐसे संत हुए जिन्होंने सबसे पहले दिव्य दरबार का आयोजन शुरू किया था |

  • सन्यासी बाबा को भगवान दास गर्ग के नाम से भी जाना जाता है जिनकी प्रेरणा से आज बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पंडित श्री धीरेंद्र कृष्ण जी महाराज दिव्य दरबार का आयोजन करते हैं |

⚫️ “मोरे बागेश्वर धाम” गीत के बोल-

दोस्तों बागेश्वर धाम से संबंधित अगर प्रमुख रूप से गीत उजागर करने का श्रेय किसी को दिया जाए तो वह “खनिज देव चौहान” जी हैं | क्योंकि इनके द्वारा ही सबसे ज्यादा मात्रा में और सबसे पहले धाम के गीत प्रस्तुत किए गए हैं | उनके गीत लोगों को बहुत पसंद आते हैं|

⚫️ बागेश्वर धाम के प्रसिद्ध गीत-

दोस्तों बुंदेलखंड क्षेत्र के प्रत्येक कलाकार ने हमेशा यही कोशिश की है कि हम कोई ना कोई गीत बागेश्वर धाम के नाम से लेकर लोगों के बीच रखें | दोस्तों लिखने वाले अक्सर गीत लिख ही देते हैं और यही हुआ बुंदेलखंड के लगभग 100 से अधिक बागेश्वर धाम के गीत इंटरनेट पर इर्द-गिर्द घूमते रहते हैं | आए दिन प्रतिदिन बागेश्वर धाम के गीत इंटरनेट पर हर एक कलाकार अपलोड कर रहा है |

✔️बुंदेलखंड क्षेत्र से प्रसिद्ध कलाकार जित्तू खरे “बादल” के द्वारा भी बागेश्वर धाम का गीत जनता के सामने प्रस्तुत किया गया था जिसकी सराहना लोगों में खूब देखने को मिली |

✔️प्रसिद्ध युवा गायक सागर के “अंकित पांडे” के द्वारा भी बागेश्वर धाम का गीत इंटरनेट पर अपलोड किया गया जो एक नई तर्ज पर आधारित है | दमोह क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले दो बाल कलाकार जिन्हें सचिन और संध्या राठौर के नाम से जाना जाता है इनके द्वारा भी बागेश्वर धाम का गीत प्रस्तुत किया गया |

✔️दोस्तों आज दिन प्रत्येक कलाकार बागेश्वर धाम की महिमा का बखान करने की कोशिश कर रहा है | दोस्तों ईश्वर में जिनकी आस्था होती है विश्वास होता है उनका हर काम सफल होता है यही प्रेरणा बागेश्वर धाम के धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी अपनी कथा के दौरान सबको देते हैं |

⚫️ बागेश्वर धाम सुंदरकांड-

दोस्तों भगवान श्री हनुमान जी को कई भक्त सुंदरकांड प्रस्तुत करते हैं जिसे समय-समय पर बागेश्वर धाम जाकर भी कई लोग करवाते हैं | इस प्रक्रिया में सुंदरकांड को बीच में कहीं रोकना नहीं होता है इसकी चौपाई हमेशा चलती रहती है जब तक सुंदरकांड खत्म नहीं हो जाता |

  • ➜➜बागेश्वर धाम में सुंदरकांड करवाने के लिए आप अपने द्वारा किसी सुंदरकांड कलाकार को साथ ले जाकर करवा सकते हैं | यदि आप बागेश्वर धाम की टीम से संपर्क करना चाहते हैं तो वहां से भी कर सकते हैं |

⚫️ बागेश्वर धाम की राई-

दोस्तों कुछ महीने पहले बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर धीरेंद्र कृष्णा तिवारी जी सागर जिले की बंडा क्षेत्र के अंतर्गत अपनी कथा का आयोजन करने के लिए गए थे | बंडा के क्षेत्रीय निवासियों ने धीरेंद्र तिवारी जी के स्वागत में भव्य राय के द्वारा बड़ा सा आयोजन किया था जिसमें मनोहर पवार और राकेश राजा की प्रस्तुति शानदार रही |

राई को ख्याल के माध्यम से सुनाते हुए बागेश्वर धाम का वंदन किया और लोगों को आनंदित किया |

” बागेश्वर में विराजे बालाजी सरकार बागेश्वर में” दोस्तों ख्याल का यही प्रमुख टाइटल था जो लोगों को बहुत आकर्षित कर रहा था| इसके सहयोग में प्रसिद्ध कलाकार कुछ दमोह के भी शामिल थे |

⚫️बागेश्वर धाम की महिमा : घर बैठे अर्जी कैसे लगाएं? टोकन कब मिलेगा?क्लिक करें
⚫️Bageshwar Dham के नाम पर Fraud धोखाधड़ी : बागेश्वर धाम गढ़ागंजक्लिक करें
⚫️Bageshwar Dham Contact No : Bageshwar Dham Toll free noक्लिक करें
⚫️बागेश्वर धाम कहाँ है? : Bageshwar Dham Kahan Hai? – जाने का रास्ताक्लिक करें
⚫️बागेश्वर धाम : कथा भजन – Bageshwar Dham Katha Bhajan Chhatarpurक्लिक करें
⚫️छतरपुर, पन्ना, दमोह एवं सागर से बागेश्वर धाम गढ़ा की दूरीक्लिक करें
⚫️छतरपुर से बागेश्वर धाम गढ़ा की दूरीक्लिक करें
⚫️बागेश्वर धाम मध्यप्रदेश प्रसिद्ध धार्मिक स्थल – Bageshwar Dham MPक्लिक करें

⚫️ बुंदेली कलाकार रामरति की बागेश्वर धाम की राई हुई वायरल-

दोस्तों बुंदेली कलाकार रामरति जी के द्वारा कन्हैया कैसेट यूट्यूब प्लेटफार्म पर बागेश्वर धाम की राई को प्रस्तुत किया गया था जो वर्तमान में लोगों को बहुत आनंदित कर रही है | रामरति जी का सहयोग देने के लिए आसाराम पाल प्रमुख कलाकार रहे | इनकी द्वारा प्रस्तुत की गई यह राई लगभग 4 महीने में हजारों लोगों को पसंद आई है | आगे भी इसकी प्रगति हमेशा जारी रहेगी |

⚫️ बागेश्वर धाम बना आस्था का केंद्र-

दोस्तों मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में स्थित बागेश्वर धाम हिंदू धर्म की आस्था का केंद्र बन चुका है जहां पर प्रतिदिन हजारों की संख्या में लोग बाबा के दर्शन करने के लिए आते हैं | दोस्तों बागेश्वर धाम के बारे में जो लोग एक बार जान जाते हैं वह बागेश्वर धाम के दर्शन करने के लिए उसी समय से बेताब हो उठते हैं |

बागेश्वर धाम में विराजी बालाजी महाराज की काफी पुरानी सिद्ध पीठ स्थापित है जिसे लगभग 1986 के समय स्थापित किया गया था | शुरुआत से यहां पर भूत प्रेत जैसी समस्याओं को ठीक किया जाता है | सर्वप्रथम यहां पर धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी के दादाजी ने मंदिर में दिव्य दरबार का आयोजन किया था |

⚫️ धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री कैसे पता लगा लेते हैं दूसरों के बारे में-

दोस्तों न्यूज़ मीडिया के द्वारा कई बार धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी से पूछा गया कि आपको दूसरों की समस्याएं कैसे पता चल जाती हैं इसके बारे में धीरेंद्र शास्त्री जी का हर बार यही जवाब रहा कि बालाजी महाराज की कृपा है | धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी का कहना है कि बालाजी महाराज का जो आदेश होता है वही हम लोगों को बताते हैं और बाद में यही सच निकलता है |

Join telegram

Leave a Comment