बागेश्वर धाम महाराज के सबसे सच्चे मित्र की कहानी

बागेश्वर धाम महाराज के सबसे सच्चे मित्र की कहानी, बहन की शादी में गुरुजी को दिए पैसे उधार

बागेश्वर महाराज जी के बचपन के सच्चे मित्र
बागेश्वर महाराज जी के मित्र का नामडॉक्टर शेख मुबारक
डॉक्टर शेख मुबारक जी का निवास स्थानग्राम चुरारन तहसील राजनगर
महाराज जी की बहन की शादी के लिए शेख मुबारक जी ने कितने रुपए उधार दिए थे₹20000
देशभारत
राज्यमध्य प्रदेश
जिलाछतरपुर
संभागसागर
तहसीलराजनगर

Table of Contents

⏹️ शेख मुबारक जी का निवास स्थान

बागेश्वर महाराज पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के बचपन के मित्र शेख मुबारक जी हैं। बागेश्वर महाराज और शेख मुबारक के बीच लगभग 12 वर्ष की मित्रता बनी रही और वह साथ में ही रहते थे और घूमते थे । बागेश्वर महाराज जी के मित्र का नाम डॉक्टर शेख मुबारक था महाराज जी से पहले शेख मुबारक जी  अपने खर्च पर अपने गांव में तीन कथाओं का आयोजन करवा चुके है। शेख मुबारक जी मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले की राजनगर तहसील के अंतर्गत चुरारन गांव के रहने वाले हैं। शेख मुबारक जी ने गांव वालों का सहयोग लेकर के इन तीन कथाओं का आयोजन करवाया था।

  • ⚫️ सन 2011, 2012 और 2013 में इन कथाओं का आयोजन हुआ था। शेख मुबारक जी के घर में वंशानुगत 60 साल से राम नाम कीर्तन करने की परंपरा है। शेख मुबारक जी के गांव में एक हनुमान जी का मंदिर बना हुआ है।

⏹️ बागेश्वर महाराज जी के मित्र शेख मुबारक जी चतुर और डॉक्टर भी हैं, बागेश्वर धाम महाराज के सबसे सच्चे मित्र की कहानी,

बागेश्वर धाम में जब कोई नहीं आता था तो शेख मुबारक जी बागेश्वर धाम आया करते थे। तब बागेश्वर धाम में लाइट की कोई व्यवस्था नहीं थी तब भी शेख मुबारक जी बागेश्वर धाम में सुंदरकांड का पाठ करने आते थे। शेख मुबारक जी ने महाराज जी के प्रत्येक जीवन के पहलू को जिया है।

⏹️ बागेश्वर महाराज जी और शेख मुबारक जी रात रात भर  पहाड़ में बालू पर लेटे रहते थे

बागेश्वर महाराज और शेख मुबारक जी गढ़ा में स्थित पहाड़ में बालू में दिनभर लेटे हुए रहते थे। पहले यहां पर रोकने की कोई व्यवस्था नहीं हुआ करती थी। महाराज जी इसी बालू में पहाड़ पर लेटे रहते थे और उनके मित्र भी साथ में लेटे रहते थे सांप बिच्छू का भी डर नहीं रहता था पहले यहां पर लाइट भी नहीं हुआ करती थी तो मोबाइल की लाइट  से काम चला चला कर के सुंदरकांड का पाठ और रात रात भर यही टक्कर यानि रोटी बनाते थे दोनो लोग प्रसाद के टक्कर पाते थे।

  • ⚫️शेख मुबारक जी  बागेश्वर महाराज के लिए चाय बनाते थे। शेख मुबारक जी बागेश्वर धाम मोटरसाइकिल से आते थे तो कई बार दूध खत्म हो जाता था तो यह मोटरसाइकिल लेकर के गंज जाते और गंज से दूध ले कर के आते थे ।
  • ⚫️फिर इसके बाद बागेश्वर महाराज के लिए चाय बनाते थे। महाराज जी को शेख मुबारक जी से बहुत बड़ी सीख मिली। बागेश्वर धाम में जो लगातार तीन वर्षों से गरीब एवं निर्धन कन्याओं का विवाह सम्मेलन महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर संपन्न करवाया जा रहा है।
  • ⚫️इन सभी विवाहों का खर्च बागेश्वर धाम की दानपेटी से बागेश्वर धाम के भक्तों द्वारा करवाया जा रहा है उसकी शुरुआत का संकल्प महाराज जी के निजी जीवन से शुरू हुआ।
Bageshwar Dham New Token List 2022 Check Name बागेश्वर धाम टोकन लिस्टक्लिक करें
बागेश्वर धाम गढ़ा शादी में कितना दहेज मिलता है BageshwarDhamक्लिक करें
बागेश्वर धाम शादी के लिए रजिस्ट्रेशन – Online Registrationक्लिक करें
बागेश्वर धाम के पास रेलवे स्टेशन All About Bageshwar Dhamक्लिक करें
धनवान बनने के 10 उपाय बागेश्वर धाम महाराज के वचन – Bageshwar Dhamक्लिक करें

⏹️ बागेश्वर महाराज और शेख मुबारक जी की सच्ची मित्रता

बागेश्वर महाराज जी की बहन जी थी उनकी विवाह में रुपए उधार नहीं मिल रहे थे। महाराज जी ने खूब मशक्कत की लेकिन विवाह के लिए रुपए की व्यवस्था नहीं बनी ।  ”  बन जाते हैं लाखों रिश्ते जब पैसा पास होता है टूट जाता रिश्ता गरीबी में जो सबसे खास होता है  ” बहन जी के विवाह में धनी की बहुत दिक्कत थी महाराज जी , माता जी और पिता जी एक साथ बैठ कर के चर्चा करते थे कि बहन जी का विवाह कैसे होगा जो रिश्तेदार मिले थे वह भी बहुत प्यारे थे लेकिन उन्होंने कुछ मांगा नहीं।

  • ✔️⚫️लेकिन उस जमाने में 2 – 3 लाख के खर्च की व्यवस्था नहीं हो पा रही थी। 100000 भी घर पर नहीं थे कैसे महाराज जी विवाह करवे। कैसे उपहार में दहेज देवें। यही महाराज जी के मन में विचार चल रहा था।
  • ✔️⚫️उधारी के लिए जो हमारे गांव के परिचित के लोग थे। उनसे खूब मांगा लेकिन उन्हें किसी ने उधारी नहीं दी। उधारी भी आजकल बड़े आदमियों को मिलती है जो चुका सके भला दीन हीन को उधारी भी नहीं दी जाती।
  • ✔️⚫️उधारी भी नहीं मिली उसी वक्त महाराज जी के प्रिय मित्र शेख मुबारक जी से घनिष्ट मित्रता थी तो महाराज जी के पास एक नोकिया मोबाइल था महाराज जी पहले सुंदरकांड, कथा और दादा जी की सेवा किया करते थे। महाराज जी ने शेख मुबारक जी को फोन लगाया ।

⏹️ बागेश्वर महाराज जी को उनके मित्र शेख मुबारक जी ने दिए ₹20000 उधार बहन की शादी में

शेख मुबारक जी ने महाराज जी से कहा कि आप बमीठा आ करके हमसे मिलिए। महाराज जी ने वहीं से ऑटो पकड़ी बमीठा तक पहुंचे। शेख मुबारक जी महाराज जी को अपनी मोटरसाइकिल पर बैठा कर के बमीठा के आगे पेट्रोल पंप है वहां पेट्रोल पंप पर इन्होंने महाराज जी को चाय पर पिलवाई। लगभग शाम हो चुकी थी महाराज जी ने पूरा वाक्या बता दिया की बहन जी की शादी है और धन की व्यवस्था नहीं हो पा रही है। शादी को 10 दिन रह गए हैं शादी करना है कोई उधार नहीं दे रहा है ।

  • 🔲 अगर आप हमारी मदद कर दो तो जैसे ही हम भागवत आदि कुछ करेंगे। आपके रुपए चुका देंगे। शेख मुबारक जी ने बिना विचारे महाराज जी का हाथ पकड़ा और महाराज जी की आंखें डबडबाई हुई तो थी
  • 🔲 महाराज जी ने बताया कि ऐसी ऐसी बात है तो शेख मुबारक जी ने कहा कि आप चिंता मत करो। हम कल व्यवस्था कर देंगे और दूसरे दिन शेख मुबारक जी ने बिना विचार किए महाराज जी को ₹20000 लाकर के दिए ।

⏹️ बागेश्वर महाराज जी के मित्र शेख मुबारक जी जब भी उनके घर जाते तो मिठाई का डब्बा जरुर ले जाते

बात यहीं नहीं रुकी उपहार की टेबल से ले करके, बेड से ले करके, अलमारी से ले करके उन्होंने लोगों को जोड़ करके पूरा दहेज का सामान ला करके हमारे घर पर रख दिया और अपने हाथों से पूरे विवाह कार्यक्रम में पंगत से लेकर के विदाई तक करवाई ।

☑️Hotels Near Bageshwar Dham – बागेश्वर धाम के पास होटलClick Here
☑️Bageshwar Dham Ki Mahima – Chhatarpur Gadha Ganj MPClick Here
☑️खजुराहो से बागेश्वर धाम की दूरी – Bageshwar Dham MP ChhatarpurClick Here
☑️बागेश्वर धाम एमपी (म.प्र) – Bageshwar Dham MP ChhatarpurClick Here
☑️बागेश्वर धाम महाराज का घर माता पिता, भाईClick Here

⏹️ महाराज जी 2 वर्ष के बाद अपने मित्र के रुपए चुका पाए

महाराज जी वह रुपया 2 साल के बाद चुका पाए। 2 साल तक महाराज जी का कोई काम नहीं लगा भागवत और कथा कही हुई नहीं। 2 साल बाद जब महाराज जी गुजरात में एक कार्यक्रम लगा उस कार्यक्रम से महाराज जी को दक्षिणा मिली तो महाराज जी जैसे ही रेलवे स्टेशन से  बमीठा आए शेख मुबारक जी को फोन लगाकर के बमीठा बुलाया उनके रुपए वापस कर दिए और बाद में महाराज जी घर आए। लेकिन बात यह है कि उस जमाने में जब महाराज जी को कोई नहीं पूछता था कोई जानता भी नहीं था। उस समय उन्होंने 20000 रुपए दिए आज के समय में वह 20000 रुपए 20 करोड़  से भी ज्यादा है।

⏹️ बागेश्वर महाराज जी ने लिया था दृढ़ संकल्प यदि हम पर भविष्य में बालाजी सरकार की कृपा हुई तो हम गरीब बेटियों और बहनों का विवाह निशुल्क करवाएंगे

महाराज जी ने उसी दिन दृढ़ संकल्प कर लिया था कि कभी यदि हम पर बालाजी की कृपा करेंगे। कभी यदि गुरु जी की हम पर कृपा होगी तो हमारे जीवन काल में जो भी धन आएगा उससे अब किसी भाई को हमारे जैसा रोना ना पड़े। उन गरीब बेटियों का और बहनों का हम विवाह करवाएंगे। इसीलिए 1 मार्च 2022 को एक नहीं 108 बेटियों का विवाह संपन्न करवाया गया था ।बालाजी की कृपा से 2019 में 17 बेटियों का विवाह संपन्न करवाए गए थे।  2021 में भी 21 बेटियों के विवाह संपन्न करवाएं गए थे।  2020 में भी विवाह करवाए गए थे ।

बागेश्वर धाम महाराज के सबसे सच्चे मित्र की कहानी, FAQ’s

⏹️ शेख मुबारक जी किस जिले से तालुक रखते है?
उत्तर- छतरपुर जिले से।

⏹️ सन 2022 में बागेश्वर धाम में कितनी निर्धन एवं गरीब कन्याओं का विवाह संपन्न करवाया गया था?
उत्तर- 108 गरीब एवं निर्धन कन्याओं का विवाह।

⏹️ कितने वर्षों से लगातार बागेश्वर धाम में निर्धन एवं गरीब कन्याओं का विवाह संपन्न करवाया जा रहा है?
उत्तर- 3 वर्षों से लगातार।

⏹️ शेख मुबारक जी ने महाराज जी को कितने रुपए उधार दिए थे?
उत्तर- ₹20000

☑️बागेश्वर धाम में टोकन की व्यवस्था – Bageshwar Dham WikipediaClick Here
☑️बागेश्वर धाम का इतिहास History Of Bageshwar Dham Chhatarpur MPClick Here
☑️बागेश्वर धाम शायरी स्टेटस | Bageshwar Dham Status ShayariClick Here
☑️बागेश्वर धाम महाराज का पता : बागेश्वर धाम का मोबाइल नंबरClick Here
☑️बागेश्वर धाम महाराज का नाम : बागेश्वर धाम महाराज की शादीClick Here
☑️बागेश्वर धाम और खजुराहो प्रसिद्ध धार्मिक एवं पर्यटन स्थलClick Here
Join telegram

Leave a Comment