WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

28 फरवरी 2024 कक्षा 12 ब्यूटी पेपर वार्षिक परीक्षा 2024 एमपी बोर्ड

कक्षा 12वीं के विद्यार्थियों के लिए 2024 में आयोजित हो रही परीक्षाओं के लिए कई सारी सावधानियां को रखना बहुत ही जरूरी है क्योंकि अगर थोड़ी सी गलती हो गई तो निश्चित रूप से उनका भविष्य खराब हो जाएगा । विद्यार्थियों को 2024 में एमपी बोर्ड की परीक्षा में नकल प्रकरण जैसी समस्याओं से बिल्कुल दूर रहना है यदि कोई विद्यार्थी इससे संबंधित किसी समस्या में पड़ जाता है तो उसे समस्या से बाहर कैसे निकले आज की आर्टिकल में इन्हीं सभी बातों पर मुख्य रूप से चर्चा करेंगे ।

नकल प्रकरण दस्ता हुआ तैयार–

परीक्षा हॉल में विद्यार्थी के साथ कुछ भी हो सकता है अर्थात यदि कोई विद्यार्थी नकल करने जैसी हरकत करता है तो निश्चित रूप से उसका नकल प्रकरण का फॉर्म भर दिया जाएगा । सरकार के द्वारा और शिक्षा मंत्री के द्वारा निर्देश जारी कर दिए गए हैं कि किसी भी विद्यार्थी के साथ या फिर अन्य किसी के साथ कोई भी भेदभाव नहीं किया जाएगा जो भी नियम है उनका पालन सभी को करना होगा । सरकार की सुरक्षा की निगरानी में 2024 की एमपी बोर्ड की परीक्षा आयोजित की जाएगी जिसमें कोई भी लापरवाही नहीं होगी ।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

एक भी अक्षर हाथ में लिखा मिला तो नकल प्रकरण फॉर्म भरने का आदेश –

बीते चार-पांच सालों से नकल प्रकरण जैसे फॉर्म भरने का कोई भी अंजाम ज्यादा देखने को नहीं मिला लेकिन वर्तमान समय में 2024 की आयोजित हो रही परीक्षाओं के लिए सरकार के द्वारा सिद्ध आदेश जारी कर दिया गया है कि अगर हाथ में भी कुछ लिखा मिला तो निश्चित रूप से उसकी नकल प्रकरण का फॉर्म भर दिया जाएगा । सभी विद्यार्थियों को यदि इस प्रकार की समस्या से बाहर ही रहना है तो सरकार के द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करें और सफलतापूर्वक परीक्षा दें ।

इस बार 2023 के मुकाबले सबसे अधिक नकल प्रकरण फॉर्म भरने का आसार –

2023 के मुकाबले 2024 में बहुत ही ज्यादा संभावना है कि यदि इस प्रकार की वारदात हुई तो नकल प्रकरण जैसे फॉर्म भर दिए जाएंगे क्योंकि शिक्षा विभाग के द्वारा ऐसे आदेश जारी कर दिए गए हैं कि यदि कोई विद्यार्थी नकल प्रकरण को अंजाम देता है तो उसका फॉर्म भर दो । सभी विद्यार्थियों को इस बार बहुत ही सतर्क रहने की आवश्यकता है और सावधानी से पेपर देने की आवश्यकता है ।

क्योंकि सरकार की सुरक्षा की निगरानी में इस बार परीक्षा को आयोजित किया जा रहा है और आप सभी को पता है मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री के पदों को इस बार बदल दिया गया है और शिवराज सिंह चौहान की जगह अब डॉक्टर मोहन यादव जी मुख्यमंत्री का पद संभाल रहे हैं । नए मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव जी के द्वारा और उनके मंत्रिमंडल के द्वारा सख्त आदेश जारी कर दिए गए हैं कि पूरे प्रदेश में बहुत ही सफलतापूर्वक और सुरक्षा को ध्यान में रखकर परीक्षा आयोजित कराई जाए ।

परीक्षा हॉल में अपने आसपास चेक करके बैठें और कोई कागज पड़ा हो तो शिक्षक को बताएं–

यदि कोई विद्यार्थी परीक्षा हॉल में अपने आसपास देखकर नहीं बैठता तो यह उसकी बहुत बड़ी गलती होगी क्योंकि यदि उसके आसपास कोई कागज मिल जाता है जिसमें किसी भी प्रकार का एजुकेशनल कंटेंट हो तो निश्चित रूप से वह है बड़ी समस्या में पड़ सकता है।

सभी विद्यार्थियों को इस बार बहुत ही सतर्क रहने की जरूरत है और जिस भी जगह हुआ है परीक्षा देने के लिए जाता है अपने आसपास चेक करके ही बैठे हैं और देख कर बैठे ताकि कोई कागज ना किसी को मिल पाए । यदि विद्यार्थी के पास कोई कागज हो तो पहले ही शिक्षक को बता दें अन्यथा बाद में बहुत बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है और भविष्य भी खराब हो सकता है।

Join telegram

Leave a Comment