WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

कक्षा 12 जीव विज्ञान पेपर लीक MP Board Exams 2024

कक्षा 12वीं Biology का पेपर हुआ लीक –

दोस्तों इन दिनों सोशल मीडिया पर लगातार कभी कक्षा दसवीं तो कभी कक्षा 12वीं का कोई ना कोई पेपर लीक हो रहा है | दोस्तों पेपर लीक होने के बाद भी सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी है किसी भी प्रकार की परीक्षा से संबंधित कोई जांच नहीं हो रही ना ही कोई प्रतिक्रिया जताई जा रही है | दोस्तों फिर से एक बार कक्षा 12th , 2022 बायोलॉजी का पेपर लीक हो गया है | दोस्तों आज हम इसी टॉपिक पर बात करने वाले हैं कि कैसे इन दिनों इतनी ज्यादा पेपर लीक हो रहे हैं |

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

सरकार भी पेपर लीक होने पर शिक्षा विभाग पर कोई बात नहीं कर रही ना ही कोई मुद्दा गरम हो रहा है |  कौन-कौन से सोशल मीडिया के प्लेटफार्म है जहां से पेपर लीक हो रहे हैं इन सभी बातों पर चर्चा करेंगे |  पेपर लीक होने की वजह से विद्यार्थियों का क्या नुकसान है विद्यार्थियों की क्या राय है, आगे सभी विषयों पर चर्चा करेंगे | दोस्तों वर्तमान समय में बोर्ड परीक्षा का मजाक सा बन गया है | वर्तमान समय में कितने ज्यादा पेपर लीक हो रहे हैं कि शिक्षा विभाग तो क्या हर एक व्यक्ति को पता लग गया है कि पेपर लीक हो गया है |  शिक्षा विभाग के द्वारा किसी भी प्रकार की परीक्षा से संबंधित ना ही कोई जांच हो रही है ना ही इस पर कोई कार्यवाही हो रही है  |

कैसे Biology का पेपर लीक हुआ –

दोस्तों पेपर लीक होने में सोशल मीडिया कहीं ना कहीं सबसे आगे है |  सोशल मीडिया पर कुछ ना कुछ  मात्र कुछ ही पलों में वायरल हो जाता है | दोस्तों नकल माफिया इतने एक्सपर्ट होते हैं कि उनका पकड़ पाना बहुत ही मुश्किल होता है | नकल माफिया पेपर लीक कराने में सोशल मीडिया का सहारा लेते हैं और पेपर को परीक्षा से कुछ दिन पहले लिख कर देते हैं |  ठगों का दवा होता है कि वह परीक्षा से पहले विद्यार्थियों को पेपर उपलब्ध करा देंगे  और वह ऐसी साजिश रचते हैं  कि विद्यार्थियों से पैसे भी वसूलते हैं  | 

कभी-कभी तो  पेपर को सोशल मीडिया के माध्यम से परीक्षा से पहले बेच कर  बच्चों के द्वारा  मनचाहे पैसेब ऐठते हैं | दोस्तों नकल माफिया सोशल मीडिया पर ग्रुप बनाकर बच्चों को एकत्रित कर पेपर को परीक्षा से पहले उपलब्ध कराने का दावा करते हैं | दोस्तों इस प्रकार बायोलॉजी का पेपर लीक होने से शिक्षा विभाग कोई जांच नहीं कर रहा है | इतना सब होने के बावजूद भी सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी है | 10th पेपर लीक होने से कहीं ना कहीं विद्यार्थियों के भविष्य का खिलवाड़ किया जा रहा है |

टेलीग्राम से हुआ पेपर लीक-

दोस्तों पेपर लीक होने में टेलीग्राम एप्लीकेशन की अहम भूमिका है | टेलीग्राम एक ऐसी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है जहां पर 80% से ज्यादा लोग पढ़ाई के लिए इस एप्लीकेशन का इस्तेमाल करते हैं | टेलीग्राम पर जब से ऑनलाइन पढ़ाई का प्रचलन आया है तब से टेलीग्राम पर बहुत ज्यादा मात्रा में विद्यार्थी जुड़ गए हैं | टेलीग्राम पर अधिक मात्रा में विद्यार्थी होने से नकल माफिया इसका फायदा उठाते हैं पेपर को परीक्षा से पहले टेलीग्राम पर वायरल करने की कोशिश करते हैं |

टेलीग्राम पर पर्सनल ग्रुप के माध्यम से बच्चों कोजोड़ा जाता हैउसी ग्रुप में पेपर उपलब्ध कराने का दावा करते हैं परीक्षा से पहले | दोस्तों सोशल मीडिया के द्वारा हर वक्त कोई ना कोई चीज कुछ ही पलों में वायरल होती रहती है |  टेलीग्राम पर नकल माफिया चैटिंग के माध्यम से बच्चों को फंसा लेते हैं और दावा करते हैं कि आपको परीक्षा से पहले पेपर उपलब्ध करा दिया जाएगा | नकल माफियाओं की बातों में आकर विद्यार्थी फस जाते हैं और कहीं ना कहीं उनका शिकार हो जाते हैं |

व्हाट्सएप पर पेपर कैसे लीक हुआ ?

दोस्तों व्हाट्सएप भी एक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स जहां पर लोग ग्रुप के माध्यम से खबर को बहुत जल्दी से फैला देते हैं | दोस्तों सुनने में आया है कि व्हाट्सएप के द्वारा कई लोगों को ग्रुप में बायोलॉजी के रियल पेपर को परीक्षा से पहले उपलब्ध कराने का दावा किया जा रहा है | दोस्तों परीक्षा से पहले ही विद्यार्थियों को ठगने का प्रयत्न किया जा रहा है | दोस्तों व्हाट्सएप पर पेपर लीक होने की खबर अभी तक सब को लग गई होगी फिर भी हमारा एजुकेशन सिस्टम इतना कमजोर है कि पेपर लीक होने से संबंधित किसी भी प्रकार का कोई मुद्दा नहीं उठ रहा | पेपर लीक होने से संबंधित ना ही सरकार कोई कार्यवाही कर रही है ना ही जानने का प्रयास कर रही है कि पेपर कैसे लीक हो रहे हैं |

विद्यार्थी नकल माफियाओं से कैसे जुड़े ?

दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं आज से करीब 6 महीने पहले भी अर्धवार्षिक पेपर भी लीक हो गए थे | जब अर्धवार्षिक पेपर लीक  हुए थे तब उस समय भी सरकार ने किसी भी प्रकार का एक्शन नहीं लिया ना ही शिक्षा विभाग के द्वारा जानने का प्रयास किया गया कि पेपर किस तरीके से लीक हो रहे हैं | दोस्तों पेपर लीक होने से विद्यार्थियों का भविष्य तो अंधकार में जा ही रहा है साथ में यदि इस तरीके से परीक्षा से पहले ही पैसे देकर पेपर को खरीदा जा सकता हैतब विद्यार्थी पढ़ने का प्रयास ही क्यों करेंगे |

कक्षा 9 हिंदी व्याकरण एमपी बोर्ड वार्षिक पेपर 2022 MP Board Hindi 9th Class

विद्यार्थियों के मन में यह प्रश्न उठता है कि पूरे साल पढ़ाई करने के बावजूद पेपर लीक होने  से हमारी परीक्षा देने का कोई मतलब ही नहीं है | दोस्तों जब अर्धवार्षिक पेपर लीक हुए थे तब बच्चों को फ्री में परीक्षा से पहले पेपर देकर नकल माफियाओं ने बच्चों का भरोसा जीत लिया | जब बच्चे नकल माफियाओं से सोशल मीडिया के द्वारा जुड़ गए तब इस बार बोर्ड परीक्षा में उन्होंने स्कूली बच्चों से पैसे कितने का प्लान बनाया और उन्होंने दावा किया कि वह परीक्षा से पहले पेपर को उपलब्ध करा देंगे |

Telegram पर बच्चे कैसे फंसे ?

दोस्तो टेलीग्राम एक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जहां पर आप एक दूसरे से चैटिंग कर सकते हैं ग्रुप के माध्यम से लाखों लोगों को ग्रुप में जोड़ा जा सकता है और एक ही खबर को मात्र कुछ ही पलों में ग्रुप में डाल कर फैलाया जा सकता है | दोस्तों ठगों ने चैटिंग के माध्यम से बच्चों को अपने झांसी में फंसा लिया | नकल माफियाओं ने चैटिंग में बच्चों से दावा किया कि वह परीक्षा से पहले पेपर को उपलब्ध करा देंगे और पेपर को उपलब्ध कराने पर स्कूली बच्चों से कुछ राशि भी वसूलने का प्रयास किया जा रहा है |

सोशल मीडिया पर ग्रुप कैसे बनाया ?

दोस्तों नकल माफियाओं ने सोशल मीडिया पर दो प्रकार से ग्रुप बनाएं जिसमें एक ग्रुप में उन बच्चों को जोड़कर प्राथमिकता दी जो बच्चे पेपर को परीक्षा से पहले हासिल करना चाहते हैं | दोस्तों इस प्रकार के ग्रुप में बच्चों के द्वारा पैसे लिए जा रहे है | वहीं दूसरी तरफ एक ग्रुप इस प्रकार का बनाया है जिसमें बहुत अधिक संख्या में बच्चों को ग्रुप में जोड़ रखा है और चैटिंग के माध्यम से बच्चों को झांसी में फंसाया जा रहा है कि उनको परीक्षा से पहले पेपर उपलब्ध करा दिया जाएगा |

सोशल मीडिया पर ग्रुप के माध्यम से किसी भी खबर को बड़ी आसानी के साथ वायरल किया जा सकता है | सोशल मीडिया की मदद से नकल माफियाओं ने टेलीग्राम अथवा व्हाट्सएप पर खबर फैला दी कि, आपको परीक्षा से पहले पेपर उपलब्ध करा दिया जाएगा जिसके लिए आपको कुछ राशि देनी होगी | दोस्तों सोशल मीडिया के टेलीग्राम अथवा व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से जब बच्चों को ग्रुप में जोड़ लिया तब वहां पर खबर फैला दी कि आपको परीक्षा से पहले पेपर उपलब्ध होगा अगर आप पैसे देते हैं तब | दोस्तो टेलीग्राम पर पेपर उपलब्ध कराने का दावा किया गया है |

परीक्षा को लेकर पूछे जा रहे हैं सवाल ?

दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं वर्तमान समय में कक्षा 12th का बायोलॉजी का पेपर वायरल हो गया है | दोस्तों पेपर लीक होने से संबंधित यह सवाल सामने आ रहा है कि बोर्ड परीक्षा से संबंधित इतनी ज्यादा सुरक्षा होने के बावजूद पेपर बाहर कैसे आया | दोस्तों परीक्षा को लेकर अगर शिक्षा विभाग इस तरीके से लापरवाही करता रहा तो बच्चों के भविष्य का क्या होगा |जो बच्चे पूरे वर्ष परीक्षा की तैयारी करते हैं और परीक्षा के दौरान पेपर लीक हो जाने से उनकी परिणाम पर दुष्प्रभाव पड़ता है उसका जिम्मेदार कौन होगा ?

कक्षा 11 जीव विज्ञान और केमिस्ट्री पेपर एमपी बोर्ड 2022 वार्षिक

दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं आज से लगभग 6 महीने पहले अर्धवार्षिक में बहुत से पेपर लीक हो गए थे | अर्धवार्षिक पेपर लीक होने पर शिक्षा विभाग के द्वारा कोई भी ठोस कदम नहीं उठाया गया | दोस्तों जब सरकार के द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया तब नकल माफियाओं को इसका मौका मिल गया और उन्होंने इसी का फायदा उठाया और फिर बोर्ड परीक्षा में परीक्षा से पहले पेपर को लीक कर दिया | नकल माफिया दावा करते हैं कि विद्यार्थियों को परीक्षा से पहले पेपर को उपलब्ध करा दिया जाएगा जिसके लिए विद्यार्थियों को पैसे देने होंगे |

शिक्षा विभाग की कार्यप्रणाली पर उठे सवाल ?

दोस्तों कक्षा 10th और 12th के पेपर लीक होने से शिक्षा विभाग की कार्यप्रणाली पर बहुत से सवाल खड़े हो रहे हैं | विद्यार्थियों का कहना है हमारे यहां का शिक्षा का जो सिस्टम है वह पूरी तरीके से बेकार है | इतने सारे पेपर लीक होने के बावजूद भी शिक्षा विभाग कोई कड़ी कार्यवाही नहीं कर रहा है | हमारे यहां का एजुकेशन सिस्टम इतना घटिया है की इस तरीके की पेपर लीक होने वाली हरकत होने के बावजूद भी पेपर लीक कराने के पीछे जिन लोगों का हाथ है उन पर कोई कार्यवाही नहीं हो रही |

टेलीग्राम चैनल पर सरकार की नजर –

दोस्तों टेलीग्राम चैनल के माध्यम से पेपर को लीक होने का दावा किया गया है | टेलीग्राम चैनल पर सरकार ने कड़ी नजर रखी है | सरकार का कहना है कि टेलीग्राम पर यदि कोई भी व्यक्ति किसी भी प्रकार की शिक्षा से संबंधित कोई भी गलत पोस्ट डालता है तब उस पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाएगी |

टेलीग्राम से 4 लड़कों ने किए पेपर लीक –

दोस्तों सरकार ने दावा किया है कि टेलीग्राम पर 4 लड़कों ने पेपर को लीक किया है | सरकार का दावा है डीएनए पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाएगी | सरकार का कहना है कि सोशल मीडिया पर किसी ने भी शिक्षा से संबंधित कोई गलत पोस्ट ( जैसे कि विद्यार्थियों को किसी भी तरीके से भटकाया जाए और पेपर लीक होने से संबंधित अथवा परीक्षा से पहले किसी भी प्रकार से पेपर को उपलब्ध कराने से संबंधित आदि पोस्ट को यदि गलत तरीके से डाला जाता है तो उस पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाएगी) हो तो उस पोस्ट पर निगरानी रखी जाएगी और जांच की जाएगी यदि पोस्ट गलत रही तब पोस्ट डालने वालों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाएगी और जांच की जाएगी |

कक्षा 9th संस्कृत विषय की तैयारी कैसे करें? एमपी बोर्ड वार्षिक पेपर 2022-23

पेपर लीक होने से विद्यार्थियों का हुआ नुकसान ?

दोस्तों कक्षा 12th बायोलॉजी का पेपर लीक हो गया है | दोस्तों पेपर लीक होने से विद्यार्थियों का बहुत बड़ा नुकसान हुआ है उनका कहना है कि हमारी तैयारी पूरी तरीके से बर्बाद हो गई | विद्यार्थियों का मानना है कि यदि परीक्षा से पहले मात्र कुछ पैसे देकर पेपर को खरीदा जा सकता है तो पूरी साल मेहनत करने की क्या जरूरत है | दोस्तों यदि इस तरीके से पेपर लीक होते रहे तो बच्चों का भविष्य पूरी तरीके से अंधकार में चला जाएगा | पेपर लीक होने के कारण बच्चों में पढ़ाई के प्रति रुचि चली जाएगी | पढ़ाई करने के बावजूद बच्चे यही सोचेंगे कि पढ़ाई करने की क्या आवश्यकता है जब परीक्षा से पहले कुछ पैसे देकर पेपर को खरीद कर और पढ़ कर परीक्षा को पास कर सकते हैं |

Website Home ( वेबसाइट की सभी पोस्ट ) – Click Here
———————————————————-
Telegram Channel Link – Click Here
Join telegram

Leave a Comment