WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Etawah से दंदरौआ धाम की दूरी, डॉक्टर हनुमान क्यों प्रसिद्द है ?

उत्तर प्रदेश के इटावा से लगभग 75 किलोमीटर की दूरी पर यह दंदरौआ धाम मध्य प्रदेश के भिंड जिले के अंतर्गत आता है जहां पर लाखों श्रद्धालु भगवान हनुमान जी के दर्शन करने के लिए जाते हैं । भगवान हनुमान जी को यहां डॉक्टर हनुमान के नाम से भी बुलाया जाता है डॉक्टर कहने के पीछे कई पौराणिक कथाएं भी हैं और ऐसा भी कहा जाता है कि यहां पर हर समस्या का समाधान होता है इस वजह से इनको डॉक्टर हनुमान के नाम से भी जाना जाता है । आज के आर्टिकल में हम जानेंगे कि इटावा से दंदरौआ धाम कैसे पहुंच सकते हैं?

स्थानयह दंदरौआ धाम
स्थितिमध्य प्रदेश, भिंड जिला
दूरीइटावा, उत्तर प्रदेश से लगभग 75 किलोमीटर
मुख्य देवताभगवान हनुमान
श्रद्धालुओं की संख्यालाखों
महत्वपूर्णताश्रद्धालुओं के लिए महत्वपूर्ण
दर्शन की श्रेणीधार्मिक और तात्कालिक दर्शन

इटावा से दंदरौआ धाम जाने का रास्ता–

इटावा रेलवे स्टेशन के माध्यम से आप भिंड या फिर ग्वालियर के लिए ट्रेन पकड़ सकते हैं और अन्य यातायात वाहनों के माध्यम से भी आप दंदरौआ धाम पहुंच सकते हैं। इटावा से कोई बहुत बड़ी दूरी नहीं है मात्र 75 किलोमीटर के दायरे में यह धार्मिक तीर्थ स्थल पड़ता है जो डेढ़ घंटे का रास्ता है ।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

दंदरौआ धाम में भीड़ होने का कारण?

आज से कुछ साल पहले दंदरौआ धाम में बहुत ही कम मात्रा में लोगों का आना-जाना होता था और भगवान के दर्शन करने के लिए मात्र कुछ ही लोग आते थे लेकिन यहां पर लोगों को कुछ ऐसा चमत्कार देखने को मिला कि अब लाखों की संख्या में डॉक्टर हनुमान के दर्शन करने के लिए लोग आते हैं । हमारे देश में धर्म को लेकर जितनी चर्चाएं होती हैं इतना शायद किसी देश में नहीं होता होगा यहां पर सबसे ज्यादा चमत्कारी के धार्मिक तीर्थ स्थल आपको देखने को मिलेंगे और उन्हें में से यह भी एक चमत्कारी धार्मिक तीर्थ स्थल है जहां पर कई प्रकार के ऐसे रोग ठीक हो जाते हैं जिनके बारे में किसी को कोई उम्मीद नहीं होती । इसी प्रसिद्ध के कारण जहां पर वर्तमान समय में लाखों लोग दर्शन करने के लिए जाते हैं।

असहनीय फोड़ा फुंसी होंगे पल भर में ठीक–

कई बार ऐसे फोड़ा फुंसी लोगों को हो जाते हैं जिनका दर्द सहना बहुत ही कठिन होता है और कई बार तो इनकी दवाई करवाना भी बहुत मुश्किल हो जाता है डॉक्टर भी उनके लिए मना कर देते हैं। ऐसे में केवल एक ही सहारा रह जाता है और वह होता है भगवान का सहारा इसी के बीच मध्य प्रदेश के भिंड जिले का एक धार्मिक तीर्थ स्थल बहुत ही प्रचलित हुआ क्योंकि यहां पर किसी भी समस्या का समाधान बड़ी आसानी से मिल जाता है ।

रोगउपाय
फोड़ा फुंसीपांच परिक्रमा और भभूति के बाद आराम
अन्य रोगडॉक्टर बिना उपाय

इस तरह की फोड़ा फुंसी या फिर कोई अन्य ऐसा रोग जिसके लिए डॉक्टर ने माना ही कर दिया हो तो यहां पर मात्र पांच परिक्रमा लगाने के बाद और भभूति लेने के बाद लोगों को बड़ी आसानी से आराम मिल जाता है और उनका हर दर्द ठीक हो जाता है ।

दर्द हरण मंदिर की कहानी–

दंदरौआ धाम के हनुमान जी को दर्द हरण डॉक्टर हनुमान भी कहा जाता है क्योंकि यहां पर हर दर्द को भगवान हनुमान जी महाराज के द्वारा हर लिया जाता है । कहने का मतलब यह है कि यहां पर जो भी दर्द से पीड़ित व्यक्ति आता है भगवान उनकी सहायता जरूर करते हैं और उनके रोग को ठीक कर देते हैं ।

Join telegram

Leave a Comment