WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

घर बैठे अर्जी लगाना संभव है क्या 2024 बागेश्वर धाम सरकार

घर बैठे अर्जी लगाना संभव है क्या बागेश्वर धाम सरकार, Bageshwar Dham Arji (All Queries Covered)

नमस्कार दोस्तों !

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

स्वागत है आज की पोस्ट में जिसमें हम बात करने वाले हैं बागेश्वर धाम सरकार से पर्चा बनवाने के लिए अर्जी किस प्रकार लगा सकते हैं ? आज की पोस्ट में बागेश्वर धाम सरकार से संबंधित विस्तार से चर्चा की जाएगी ,जिसमें हम आपको बताएंगे अर्जी की प्रक्रिया क्या होती है? घर बैठे अर्जी लगाने की क्या विधि होती है? अर्जी लगाने के बाद बागेश्वर धाम आश्रम पर कितनी बार जाना होता है? यदि किसी की अवधि पूरी होती है तब क्या होता है? यदि किसी भक्तों के द्वारा बांधी गई अर्जी पूरी नहीं हुई तो क्या करें इसके बारे में भी विस्तार से चर्चा करेंगे ।

बागेश्वर धाम सरकार के द्वारा श्री बालाजी महाराज के चरणो में अपनी अर्जी बांधने के लिए क्या-क्या नियम बताए गए हैं? यदि कोई भक्त बालाजी महाराज की कृपा पाना चाहता है तो वह कितने दिन लहसुन ,प्याज का सेवन छोड़ सकता है इसके बारे में भी बात करेंगे । दोस्तों यदि कोई लहसुन प्याज नहीं छोड़ना चाहता है तो कोई और तरीका है या फिर नहीं इसके बारे में भी आज विस्तार से बताया जाएगा ।

☯ अर्जी की प्रक्रिया

श्री बालाजी महाराज के चरणो में अपनी अर्जी लगाने के लिए बागेश्वर धाम सरकार के द्वारा घर पर अर्जी बांधने के लिए निम्न प्रक्रिया बताई गई है —

  • ✔️सबसे पहले नारियल को अपने हाथों में लेना है और बालाजी महाराज का ध्यान करना है । यह प्रक्रिया आपको अपने घर पर पूजा मंदिर के अथवा तुलसी घर के सामने करना है ।
  • ✔️इसके बाद लाल कपड़ा बिछाना है और बागेश्वर बालाजी महाराज का ध्यान करना है ।
  • ✔️प्रक्रिया को आगे बढ़ाते हुए अपने हाथ में सिंदूर लेना है और नारियल में लगा लेना है सिंदूर लगाने के बाद नारियल को लाल कपड़े में बांध देना है ।
  • ✔️इतनी प्रक्रिया करने के बाद कपड़े के साथ नारियल को हाथ में लेकर बागेश्वर धाम महाराज के द्वारा दिए गए मंत्र ॐ बागेश्वराय नमः का जाप करना है ।
  • ✔️दोस्तों मंत्र जाप करने के साथ-साथ आपकी क्या मनोकामना है आपकी क्या इच्छा है वह सभी बोलकर नारियल को मंदिर में रख देना है।

श्री सद्गुरु सन्यासी बाबा को याद करके बोलो ना है कि हे सतगुरु सन्यासी बाबा हमारी अर्जी को स्वीकार करो। हे बालाजी महाराज हमारी अर्जी को स्वीकार करो ।

Arji Lagane Ka Tarika Bageshwar Dham Sarkar

  • ⏩इतनी प्रक्रिया करने के बाद आपको प्रतिदिन अपने पूजा स्थल पर पूजा करना है और बागेश्वर बालाजी महाराज का ध्यान करना है श्री सद्गुरु सन्यासी बाबा का भी ध्यान करना है ।
  • ⏩अर्जी बांधना के बाद 4 दिन तक ब्रम्हचर्य का पालन करना है जितने भी नियम होते हैं सभी को निभाना है ।
  • ⏩प्रतिदिन हनुमान चालीसा का कम से कम 2 बार पाठ करना है।
  • ⏩अर्जी बांधने के बाद यदि आपको एहसास होता है कि आपकी अर्जी को स्वीकार किया गया है तो आपको वही नारियल लेकर बागेश्वर धाम आश्रम पर जाकर बांध देना है।
  • ⏩प्रतिदिन सीता राम की माला का जाप करना है ।
  • ⏩अर्जी बांधने के पश्चात आपको लहसुन प्याज पूरी तरीके से बंद कर देना है ।

☯ अर्जी पूरी हो जाए तो बागेश्वर धाम जाना आवश्यक

दोस्तों यदि कोई भक्त बालाजी महाराज के चरणो में अर्जी बांधता है और समय अनुसार उसकी अर्जी पूरी हो जाती है तो उसे बागेश्वर धाम जाना आवश्यक हो जाता है । बागेश्वर धाम पर जाकर परिक्रमा करना है और बालाजी महाराज के दर्शन करना है ।

दोस्तों आप की अर्जी पूरी हो जाने के बाद यह मायने नहीं रखता कि आपका पर्चा बना है या नहीं लेकिन आपको कम से कम 21 बार बागेश्वर धाम आना है और बालाजी महाराज के दर्शन करना है। स्वयं बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पंडित श्री धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी ने बताया है कि लाखों लोगों का पर्चा नहीं बनाया जा सकता । इसीलिए अर्जी पूरी हो जाने के बाद आप समय से धाम पर आइए और दर्शन कीजिए तो आपकी मनोकामना अवश्य पूरी होगी ।

☯ जब अर्जी पूरी ना हो तो क्या करें

दोस्तों कई बार लोग एक बार अर्जी बांधने के पश्चात कई दिन तक इंतजार करते हैं कि हमारी अर्जी कब स्वीकार होगी । परंतु कभी-कभी महीना तक अर्जी स्वीकार नहीं होती ।

दोस्तों इसके लिए बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पंडित श्री धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी ने बताया है कि यदि आपकी अर्जी स्वीकार नहीं होती है तो आपको केवल एक प्रयास नहीं करना है एक से अधिक बार प्रयास करना है । अर्थात आप कम से कम चार– पांच बार प्रयास कर सकते हैं और इससे अधिक बार भी प्रयास कर सकते हैं लेकिन ऐसा कभी नहीं होगा कि आपकी अर्जी स्वीकार नहीं होगी कभी ना कभी आपकी अर्जी जरूर स्वीकार हो जाएगी ।

☯ बिना टोकन के अर्जी कैसे लगाएं

दोस्तों टोकन प्राप्त करना दिव्य दरबार के लिए आवश्यक होता है और दिव्य दरबार में ही पर्चा बनाया जाता है । दोस्तों यदि बालाजी महाराज के चरणो में आपकी अर्जी स्वीकार हो जाती है तो पर्चा बने या ना बने आपकी मनोकामना जरूर पूरी होगी ।

दोस्तों टोकन के लिए आपको इंतजार नहीं करना है आपको अर्जी बांधने के लिए जो प्रक्रिया बताई गई है उसी को आप आकर धाम पर कर सकते हैं यदि आप ज्यादा दूरी पर है स्थित हैं तो आप अपने घर पर भी इस प्रक्रिया को कर सकते हैं । अर्जी बांध देने के बाद बागेश्वर धाम पर आना आवश्यक है आप चाहे कितने दिन बाद क्यों ना आए यह मायने नहीं रखता परंतु आपको आना जरूर है ।

⚫️बागेश्वर धाम की महिमा : घर बैठे अर्जी कैसे लगाएं? टोकन कब मिलेगा?क्लिक करें
⚫️Bageshwar Dham के नाम पर Fraud धोखाधड़ी : बागेश्वर धाम गढ़ागंजक्लिक करें
⚫️Bageshwar Dham Contact No : Bageshwar Dham Toll free noक्लिक करें
⚫️बागेश्वर धाम कहाँ है? : Bageshwar Dham Kahan Hai? – जाने का रास्ताक्लिक करें
⚫️बागेश्वर धाम : कथा भजन – Bageshwar Dham Katha Bhajan Chhatarpurक्लिक करें
⚫️छतरपुर, पन्ना, दमोह एवं सागर से बागेश्वर धाम गढ़ा की दूरीक्लिक करें

☯ बागेश्वर धाम पर कितनी बार जाना होता है

दोस्तों बागेश्वर धाम सरकार के द्वारा बताया गया है कि बागेश्वर धाम पर आप जितनी बार आ सकते हैं उतनी बार आएं इसकी कोई सीमा नहीं है। किसी भी मनोकामना की पूर्ति के लिए अथवा अपनी अर्जी के लिए आपको कम से कम 21 पेशी बागेश्वर धाम की करनी होगी । पेशी करने के लिए आपको आवश्यक नहीं है कि आप महीने में प्रत्येक मंगलवार को गाएं यदि आप महीने में एक बार भी आते हैं तब भी सही है ।

बागेश्वर धाम सरकार ने तो यह भी बताया है कि यदि आप ज्यादा दूर से हैं तो साल भर में एक बार भी आ सकते हैं इसकी कोई दिक्कत नहीं है कि आप कितनी बार आते हैं परंतु आपको आना आवश्यक है ।

☯ अर्जी के बाद करें पेशी

दोस्तों अपनी अर्जी बालाजी महाराज के चरणो में स्वीकार करवाने के लिए आपको धाम पर आना बहुत जरूरी है । यदि आप बालाजी महाराज के दर्शन करते हैं और लगातार आते रहते हैं तो आप की अर्जी की जल्द ही स्वीकार होने की संभावना होती है।

यदि आप की अर्जी बालाजी महाराज के चरणो में स्वीकार हो जाती है इसके बाद भी आपको बागेश्वर धाम पर आकर पेशी करना है । दोस्तों यहां पर पेशी का अर्थ होता है महीने के मंगलवार अथवा शनिवार को आकर धाम पर दर्शन करना ।

☯ अर्जी में कितने नारियल बांधें

दोस्तों अर्जी बांधने के लिए केवल एक ही नारियल काफी होता है। दोस्तों नारियल आपको पूरी तरीके से पका हुआ और थोड़ा वजनदार लेना है ,आपका नारियल खराब नहीं होना चाहिए । अर्जी बांधने के लिए नारियल का प्रयोग किस लिए किया जाता है क्योंकि नारियल किसी भी देवता को प्रसन्न करने के लिए फल साबित होता है ।

☯ लहसुन– प्याज कितने दिन छोड़ना आवश्यक

दोस्तों लहसुन प्याज को लेकर काफी लोगों को समस्या हो जाती है कि आखिर कितने दिन तक हमें लहसुन प्याज और छोड़ना पड़ेगा । दोस्तों बागेश्वर धाम सरकार के द्वारा बताया जाता है कि यदि किसी भी चीज को प्राप्त करना है तो कहीं ना कहीं हमें उस चीज के बदले कुछ ना कुछ त्याग करना होता है । दोस्तों शायद कहीं ना कहीं लहसुन ,प्याज का त्याग करना अथवा छोड़ देना बागेश्वर धाम का नियम है ।

  • 🔥लहसुन ,प्याज के बारे में अलग-अलग कथाओं में विभिन्न प्रकार की बातें बताई जाती हैं परंतु इस प्रकार की बातें कहीं ना कहीं स्पष्ट नहीं होती हैं। लेकिन दोस्तों हमें अपनी अर्जी को बालाजी श्री हनुमान जी के चरणों में रखना है इसीलिए हमें गुरु के द्वारा बताए गए नियम का पालन तो करना ही होगा ।
  • 🔥दोस्तों कहीं ना कहीं लहसुन, प्याज को छोड़ देना बहुत ही उपयुक्त होता है क्योंकि इसमें कहीं ना कहीं बहुत ज्यादा गंध आती है जिस कारण से देवता प्रसन्न नहीं होते हैं ।

दोस्तों बागेश्वर धाम सरकार के द्वारा बताया गया है कि लहसुन, प्याज उस दिन से छोड़ देना है जिस दिन से आप अर्जी बांध देते हैं । दोस्तो आप की अर्जी जब तक स्वीकार नहीं हो जाती और आपकी मनोकामना पूरी नहीं हो जाती तब तक आप को लहसुन प्याज पूरी तरीके से त्याग देना है । आपकी मनोकामना पूरी हो जाने के बाद भी यदि आप लहसुन प्याज नहीं लेना चाहते हैं तो इसका सेवन लंबे समय तक भी छोड़ सकते हैं ।

☯ माला कितनी बार जपना है

दोस्तों बागेश्वर धाम सरकार के अनुसार आपको अपने घर पर प्रतिदिन कम से कम दो बार जाप करना है इसकी प्रक्रिया आप सुबह शाम कर सकते हैं । माला जपते समय आपको श्री सद्गुरु सन्यासी बाबा का स्मरण करना है और श्री बालाजी हनुमान जी महाराज को ध्यान करना है। माला का जाप करते समय हमेशा यही स्मरण करना है कि है सन्यासी बाबा हमारी अर्जी स्वीकार करो । माला जाप करने के लिए आपको सीताराम– सीताराम कहे के कम से कम 2 बार प्रतिदिन माला का जाप करना है ।

☯ क्यों लगाते हैं लोग अर्जी

दोस्तों बागेश्वर धाम के बारे में कौन नहीं जानता यहां पर इसकी पहचान का सबसे मुख्य कारण है दिव्य दरबार । दिव्य दरबार में होने वाली प्रक्रिया प्रतिदिन सोशल मीडिया पर ट्रेंड करती है । बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पंडित श्री धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी के द्वारा दरबार में जो पर्चा बनाया जाता है उसके बारे में लोग देखकर हैरान रह जाते हैं । दोस्तों जो पर्चा बनाया जाता है उसमें लोगों की समस्याएं पहले से ही लिख दी जाती हैं किसी के बिना पूछे ही बागेश्वर धाम महाराज जान लेते हैं ।

बागेश्वर धाम की यही विशेषता लोगों को खूब पसंद आती है और इसके विख्यात होने का भी सबसे बड़ा कारण यही है । दोस्तों मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले का यह एक ऐसा तीर्थ स्थल बन गया है जहां पर सबसे अधिक मात्रा में दर्शक जाते हैं।

☯ बागेश्वर धाम के धार्मिक अनुष्ठान

दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं वर्तमान समय में बागेश्वर धाम पर लाखों की संख्या में लोग दर्शन करने के लिए आते हैं जिसमें से लगभग लगभग सभी लोगों का एक ही उद्देश्य होता है कि बागेश्वर धाम महाराज के द्वारा पर्चा बन जाए । बागेश्वर धाम पर अपनी अर्जी को लेकर प्रतिदिन हजारों लोग आते हैं और अर्जी बांधते हैं ।

  • 🛑दोस्तों बागेश्वर धाम पर प्रतिवर्ष मार्च के महीने में कई धार्मिक अनुष्ठान किए जाते हैं जिसमें से सबसे प्रमुख होता है नि:शुल्क गरीब कन्याओं का विवाह । गरीब कन्याओं के विवाह के समय बागेश्वर धाम सरकार की तरफ से कई दिव्य जगतगुरु अथवा महात्मा धाम पर आते हैं। बागेश्वर धाम पर दिव्य कथा का भी आयोजन होता है जिसे सुनने के लिए सैकड़ों लोग एकत्रित होते हैं।
  • 🛑बागेश्वर धाम पर जब भी धार्मिक अनुष्ठान होता है तो ज्यादा से ज्यादा दिव्य दरबार लगाने का प्रयास किया जाता है हालांकि बहुत कम मात्रा में दिव्य दरबार का आयोजन हो पाता है ।
  • 🛑बहुत कम मात्रा में दिव्य दरबार का आयोजन होने के पीछे सबसे बड़ा कारण है बागेश्वर धाम महाराज के लिए समय का अभाव। बागेश्वर धाम महाराज को समय कम इसीलिए हो जाता है क्योंकि बागेश्वर धाम आश्रम की सभी व्यवस्थाओं को उन्हीं के द्वारा संचालित किया जाता है ।

☯ बागेश्वर धाम के भक्तों की मनोकामना

दोस्तों बागेश्वर धाम पर सैकड़ों लोगों की मनोकामनाएं पूरी होती हैं बागेश्वर धाम लाखों लोगों की भक्ति के आकर्षण का केंद्र बन चुका है। बागेश्वर धाम आश्रम पर लगातार पेशी करने से अर्जी को जरूर स्वीकार किया जाता है ।

बागेश्वर धाम पर भक्तों की मनोकामनाएं अलग-अलग होती हैं जिनमें से सबसे ज्यादा व्यक्ति किसी न किसी रोग से पीड़ित होते हैं । बागेश्वर धाम एक ऐसा आश्रम है जहां पर प्रत्येक समस्या का हल मिल जाता है । कहा जाता है कि बालाजी श्री हनुमान जी के लिए किसी भी समस्या का हाल खोज पाना बहुत बड़ी बात नहीं है। श्री हनुमान जी के लिए कोई भी समस्या ऐसी नहीं है जो उनके द्वारा दूर न की जा सके । बागेश्वर धाम के भक्तों पर आने वाली हर समस्या को श्री बालाजी हनुमान महाराज चुटकियों में दूर कर देते हैं । जिस तरह से श्री हनुमान जी को संकट मोचन कहा जाता है उसी तरीके से अपने भक्तों के संकट को हर लेते हैं।

Join telegram

Leave a Comment