WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

हेयर ट्रांसप्लांट के नुकसान Disadvantage Of Hair Transplant

हेयर ट्रांसप्लांट के नुकसान?

दोस्तों गंजेपन को दूर करवाने के लिए बहुत से लोग पैसों को ध्यान में न रखते हुए हेयर ट्रांसप्लांट करवा लेते हैं जबकि हेयर ट्रांसप्लांट करवाने इतना आसान भी नहीं होता और ना ही इतना सरल होता है बहुत सी टेक्नोलॉजी विकसित होने के बाद हेयर ट्रांसप्लांट में दर्द तो नहीं होता लेकिन अगर उस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल नहीं किया गया तो दर्द भी इतना होता है कि आप सह नहीं सकते । दोस्तों हेयर ट्रांसप्लांट के जहां एक तरफ बहुत से लोग हैं वहीं दूसरी तरफ हेयर ट्रांसप्लांट करवा के बहुत से नुकसान का सामना करना पड़ सकता है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Disadvantages of Hair Transplant? ( Topic by Topic )

  • #1. हेयर ट्रांसप्लांट करवाने के बाद हो सकता है आपका पैसा पानी की तरह बहा जाए क्योंकि हेयर ट्रांसप्लांट करवाने के बाद कभी कभी सर्जरी सफल ना होने के कारण आप गंजेपन के शिकार भी हो जाते हैं और दूसरी बार आप की सर्जरी भी नहीं हो सकती क्योंकि आप कमजोर पड़ जाते हैं। और ज्यादातर बार-बार हेयर ट्रांसप्लांट करवाने के लिए कोई भी पैसा बर्बाद नहीं करता।
  • #2.दोस्तों हेयर ट्रांसप्लांट करवाने के बाद हो सकता है आप इंफेक्शन के शिकार हो जाएं क्योंकि यही एक बहुत ही कठिन प्रक्रिया है इसमें आप इंफेक्शन के शिकार हो सकते हैं आपको अन्य बीमारी भी हो सकती है।
  • #3. दोस्तों हेयर ट्रांसप्लांट करवाने के बाद खुजली की समस्या सबसे कॉमन समस्या है जो कहीं ना कहीं हर एक व्यक्ति जो ट्रांसप्लांट करवाता है स्वाभाविक रूप से होती है। इस खुजली को दूर करना इतना आसान नहीं है क्योंकि यह खुजली हेयर ट्रांसप्लांट करवाने के बाद ही उत्पन्न होती है।
  • #4. दोस्तों हेयर ट्रांसप्लांट करवाने के बाद प्राकृतिक रूप से वैसे बाल कभी नहीं होते जैसे जन्म के द्वारा हमारे बाल उगते हैं हेयर ट्रांसप्लांट करवाने के बाद बाल अकसर पतले और कमजोर उगते हैं। हेयर ट्रांसप्लांट करवाने के बाद मोटे बाल उगने के चांस पूरी तरीके से खत्म हो जाते हैं।
हेयर ट्रांसप्लांट के नुकसान Disadvantage Of Hair Transplant
  • #5. दोस्तों हेयर ट्रांसप्लांट करवाने के बाद आपको हो सकता है थोड़ा सा दर्द हो और यह दर्द लगभग लगभग लंबे समय तक बना रहता है। कभी-कभी हेयर ट्रांसप्लांट करवाने के दौरान जब सर्जरी होती है तब भी किसी किसी को बहुत बड़ी मात्रा में दर्द होता है जिसे असहनीय दर्द भी कहा जा सकता है क्योंकि इसकी सर्जरी सर में होती है तो यह जटिल प्रक्रिया होती है और ऐसे बहुत ही सावधानी के साथ किया जाता है।
  • #6. दोस्तों यदि आप डायबिटीज के शिकार हैं तो आपको हेयर ट्रांसप्लांट नहीं करवाना चाहिए हां लेकिन आप हेयर ट्रांसप्लांट करवाना ही चाहते हैं तो उसकी कुछ कंडीशन के आधार पर हेयर ट्रांसप्लांट करवा सकते हैं इसमें मुख्य रूप से यदि आप डायबिटीज की मेडिसन लेते हैं जिसमें मुख्य रुप से खाना खाने के बाद यदि आपकी शुगर 140 से 150 तक रहती है तो आप हेयर ट्रांसप्लांट करवा सकते हैं लेकिन यदि आपकी शुगर 180 तक पहुंच जाती है तो आपको हेयर ट्रांसप्लांट बिल्कुल भी नहीं करवाना चाहिए यदि आप ऐसी स्थिति में हेयर ट्रांसप्लांट करवाएंगे तो आप बहुत बड़ी समस्या से गुजर सकते हैं और आप को बहुत बड़ा नुकसान भी उठाना पड़ सकता है ।
  • #7. दोस्तों यदि आप ब्लड प्रेशर के शिकार हो तो भी आपको हेयर ट्रांसप्लांट नहीं करवाना चाहिए फिर भी यदि आप हेयर ट्रांसप्लांट करवाना चाहते हैं तो ब्लड प्रेशर की पूरी तरीके से जांच करवा कर ब्लड प्रेशर आपको ठीक करवा लेना चाहिए इसके बाद जब आपका ब्लड प्रेशर नार्मल हो जाता है तो आप हेयर ट्रांसप्लांट करवा सकते हैं लेकिन इसके लिए भी आपको डॉक्टर से अच्छी परामर्श और सलाह जरूर लेना चाहिए यदि डॉक्टर आपके लिए हेयर ट्रांसप्लांट की सलाह देता है तो आप हेयर ट्रांसप्लांट करवा सकते हैं। यदि ब्लड प्रेशर की मेडिसन खाने के बाद आपका ब्लड प्रेशर 180 से ऊपर ही रहता है तो आपको किसी भी प्रकार से हेयर ट्रांसप्लांट नहीं करवाना चाहिए यदि आप करवाते हैं तो आप निश्चित रूप से नुकसान के अधीन हो जाएंगे। जिसमें मुख्य रुप से हेयर ट्रांसप्लांट के दौरान आपको बहुत बड़ी मात्रा में बिल्डिंग हो सकती है और आप बहुत कमजोर भी हो सकते हैं।
  • #8. दोस्तो आप बात करते हैं हीमोफीलिया से ग्रसित लोगों के बारे में यदि कोई व्यक्ति हीमोफीलिया से ग्रसित है तो उसे हेयर ट्रांसप्लांट नहीं करवाना चाहिए क्योंकि हिमोफीलिया में किसी व्यक्ति को यदि चोट लग जाती है और वहां से रक्त निकलता है तो वह रक्त हमेशा निकलता ही रहता है जिससे रक्त का बहुत बड़ा नुकसान हो जाता है और वह एनीमिया का शिकार भी हो जाता है जिसे होते रक्त की कमी हो जाती है। दोस्तों हीमोफीलिया का उपचार करवाने के बाद जब आपका हिमोग्लोबिन 12 ग्राम से अधिक हो जाए तो आप हेयर ट्रांसप्लांट के बारे में थोड़ा बहुत सोच सकते हैं। हेयर ट्रांसप्लांट करवाने के पहले आपको विभिन्न प्रकार की बीमारियों की जांच करवा लेना चाहिए और डॉक्टर से सही परामर्श लेकर हेयर ट्रांसप्लांट के बारे में सोचना चाहिए । दोस्तों यदि आप एनीमिया के शिकार हैं और आपने हेयर ट्रांसप्लांट करवाया तो स्वाभाविक है आप बहुत बड़ी बीमारी के शिकार हो जाएंगे हेयर ट्रांसप्लांट के दौरान आपका रक्त भी बह सकता है जिसके बाद आप हमेशा के लिए बीमार हो जाएंगे और कोमा में भी जा सकते हैं।

क्या हेयर ट्रांसप्लांट सुरक्षित है?

दोस्तों हेयर ट्रांसप्लांट एक प्रकार से सर्जरी है इसके उपचार के परी के लिए थोड़ी जड़ होती है आसान बिल्कुल भी नहीं होती इसमें कैंडिडेट का शारीरिक रूप से और मानसिक रूप से मजबूत होना बहुत ही आवश्यक होता है ।यदि हेयर ट्रांसप्लांट करवाने वाला व्यक्ति किसी भी बीमारी का शिकार है तू हेयर ट्रांसप्लांट करवाने के बाद वह है किसी बड़ी बीमारी का शिकार भी हो सकता है। हेयर ट्रांसप्लांट करवाने के बाद आपके अंदर आत्मविश्वास पैदा हो जाएगा लेकिन प्राकृतिक रूप से आपको वैसे बाल प्राप्त नहीं होंगे जैसे बचपन में प्राप्त होते हैं।

दोस्तों हेयर ट्रांसप्लांट पूरी तरह से सुरक्षित है क्योंकि यह प्रक्रिया किसी अस्पताल में और पूरी तरह से सुरक्षित स्थान पर होती है इसकी सर्जरी में बहुत समय भी लग सकता है और बहुत कम समय भी लग सकता है हेयर ट्रांसप्लांट की प्रक्रिया में लगने वाला समय हेयर ट्रांसप्लांट के एरिया पर निर्भर करता है हेयर ट्रांसप्लांट का एरिया यदि अधिक होगा तो एनेस्थीसिया का प्रयोग किया जाता है एनेस्थीसिया का प्रयोग किस लिए किया जाता है क्योंकि मरीज को बहुत कम दर्द होगा अर्थात ना के बराबर दर्द होगा और हेयर ट्रांसप्लांट किया कर जगह ज्यादा है तो एनेस्थीसिया का प्रयोग करना अनिवार्य हो जाता है।

हेयर ट्रांसप्लांट का खर्चा कितना आ सकता है?

दोस्तों हेयर ट्रांसप्लांट में सर्जरी की प्रक्रिया को अपनाया जाता है जिसमें मुख्य रुप से डॉक्टर के अनुभव और गंजेपन की एरिया पर निर्भर करता है। गंजेपन का एरिया यदि ज्यादा होगा और यदि कैंडिडेट थोड़ा सा कमजोर होगा अर्थात जो दर्द नहीं सह सकता उसके लिए एनेस्थीसिया तकनीकी का भी प्रयोग किया जाता है इस तरीके से कुल मिलाकर 50000 से लेकर ₹80000 तक में गंजेपन को दूर करने के लिए हेयर ट्रांसप्लांट जैसी बीमारी का इलाज हो जाता है। दोस्तों भारत के बहुत से ऐसे हेयर ट्रांसप्लांट केंद्र हैं जहां पर गंजेपन जैसी बीमारियों को ठीक किया जाता है और इलाज किया जाता है उन केंद्रों पर 50000 से ₹100000 तक की फीस में भी गंजेपन का बेहतर से बेहतर इलाज होता है।

hair transplant कितने साल चलता है?

दोस्तों हेयर ट्रांसप्लांट एक बार करवाने के बाद यह जिंदगी भर के लिए नहीं होता क्योंकि बाल उगना एक प्राकृतिक प्रक्रिया है जिसमें मुख्य रुप से सर्जरी के दौरान हेयर ट्रांसप्लांट करवा दिया जाता है ऐसे में यह प्रक्रिया एक बार होने के बाद कई व्यक्तियों के लिए 10 साल तक का समय लग जाता है 10 साल के बाद अगली हेयर ट्रांसप्लांट करवानी होती है। वही दूसरी ओर कुछ ऐसे भी शख्स होते हैं जिनको शुरुआत के 5 साल बाद दूसरी बार सर्जरी करवाने की नौबत आ जाती है । दोस्तों यदि एक से अधिक बार हमें केवल बालों के लिए सर्जरी करवानी पड़े जिनमें बहुत ही समस्या आ जाते हैं तो आखिर ऐसी प्रक्रिया किसी को पसंद नहीं आएगी। दोस्तों यदि कोई व्यक्ति हेयर ट्रांसप्लांट करवाना चाहता है तो सर्वप्रथम उसे अपने शारीरिक स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देना चाहिए।

क्या हेयर ट्रांसप्लांट से कैंसर होता है?

दोस्तों हेयर ट्रांसप्लांट से कैंसर होता है या नहीं इसके बारे में किसी को अच्छी जानकारी नहीं होती है सिवाय डॉक्टर के क्योंकि हेयर ट्रांसप्लांट के बारे में केवल लोगों ने सुन रखा है कि हेयर ट्रांसप्लांट से कैंसर होता है। ज्यादातर लोगों को बाल काटने वाले अर्थात सैलून वाले और बहुत से ऐसे गांव के जो झोलाछाप डॉक्टर होते हैं उनके द्वारा सुन लेते हैं की हेयर ट्रांसप्लांट से कैंसर होता है। जबकि दोस्तों हेयर ट्रांसप्लांट से किसी भी प्रकार का कैंसर नहीं होता हो सकता है किसी बीमारी के द्वारा किसी ने हेयर ट्रांसप्लांट करवाया हो और उस बीमारी को ठीक नहीं करवाया है तब हेयर ट्रांसप्लांट के दौरान साइड इफेक्ट हो सकता है आपको कोई अन्य बीमारी हो सकती है आप कमजोर पड़ सकते हैं लेकिन किसी भी प्रकार से कैंसिल का कोई जिक्र नहीं है और ना ही हेयर ट्रांसप्लांट के दौरान कैंसर होता है।

हेयर ट्रांसप्लांट के नुकसान Disadvantage Of Hair Transplant

दोस्तों बहुत ही आसान सी बात है अगर हेयर ट्रांसप्लांट के दौरान कैंसर हो रहा होता तो भारत सरकार कभी भी हेयर ट्रांसप्लांट को सपोर्ट नहीं करती और अगर हेयर ट्रांसप्लांट के दौरान किसी भी व्यक्ति को कैंसर होता तो डब्ल्यूएचओ के द्वारा रिपोर्ट में जारी भी किया जाता और सावधानी भी वरती जाती । दोस्तों आप थोड़ा गहराई से अगर सोचेंगे तो जिस तरीके से तमाकू के द्वारा कैंसर होता है जिसके लिए सरकार बहुत से प्रयास करती है और बहुत से एडवर्टाइजमेंट में लोगों को जागरूक करने का प्रयास करती है कि तमाखू के द्वारा कैंसर होता है इसको आप सेवन मत करिए ठीक उसी प्रकार यदि हेयर ट्रांसप्लांट के दौरान किसी को भी कैंसर होता तो सरकार इसके लिए भी जागरूक करती कि आप हेयर ट्रांसप्लांट मत करवाइए इससे कैंसर होता है ।

क्या बाल फिर से उग सकते हैं?

दोस्तों प्राकृतिक रूप से जैसे बाल एक बार उगते हैं वैसे बाल दूसरी बार यदि किसी को गंजापन हो गया है और फिर वह हेयर ट्रांसप्लांट करवाता है तो ऐसे व्यक्ति को प्राकृतिक रूप से वैसे बाल कभी नहीं उगते जैसे जन्म के बाद उगते हैं। हेयर ट्रांसप्लांट के बाद बाल तो करते हैं लेकिन 5 से 10 साल बाद फिर से दूसरी बार हेयर ट्रांसप्लांट करवाना होता है और यह प्रक्रिया बार-बार होती रहती है और कभी-कभी जब कोई कमजोर व्यक्ति हेयर ट्रांसप्लांट करवाता है तो इसके लिए प्रक्रिया बहुत ही घातक सिद्ध होती है। हेयर ट्रांसप्लांट करवाने के बाद बाल तो उगते  हैं लेकिन प्राकृतिक रूप से तुलना में बहुत ही पतले होते हैं और कमजोर होते हैं ।

हेयर ट्रांसप्लांट कब करवाना चाहिए?

दोस्तों इंटरनेट पर कई लोग खोजते रहते हैं जो लोग गंजेपन से सरकार होते हैं जिनमें मुख्य रुप से कॉमन प्रश्न होता है कि हेयर ट्रांसप्लांट कब करवाना चाहिए। दोस्तों गंजेपन से ग्रसित लोगों की जो उम्र होती है उनमें मुख्य रूप से 25 साल से ऊपर होती है जिनमें लोग ज्यादातर जवान होते हैं और शारीरिक रूप से आकर्षक लगते है लेकिन केवल गंजेपन के शिकार होने के कारण उनका आकर्षण 50% बालों के कारण गिर जाता है जिस कारण से भी अपना आत्मविश्वास भी खो देते हैं और बहुत निराश भी हो जाते हैं कभी-कभी तो लोग इतने ज्यादा निराश हो जाते हैं बालों को लेकर बहुत ही चिंतित हो जाते हैं जिस कारण से वे अन्य बीमारियों के शिकार भी हो जाते हैं।

हेयर ट्रांसप्लांट के नुकसान Disadvantage Of Hair Transplant

When should a hair transplant be done?

दोस्तों यदि कोई व्यक्ति 25 से 30 साल के बीच गंजेपन का शिकार हो रहा है लगभग अभी शुरुआती दौर में उसके सर से बाल झड़ने शुरू हुए हैं और उसे डर है कहीं हमारे पूरे बाल झड़ना जाएं और ऐसे में यदि किसी का मन करें कि उसको हेयर ट्रांसप्लांट करवाना है तो सर्वप्रथम डॉक्टर से सलाह लेना चाहिए । डॉक्टर से बिना सलाह लिए कभी भी हेयर ट्रांसप्लांट नहीं करवाना चाहिए जहां तक मेरा मानना है 25 से 30 साल की उम्र वाले किसी भी व्यक्ति को कितने भी बाल झड़ हैं उसे हेयर ट्रांसप्लांट नहीं करवाना चाहिए। यह उम्र हेयर ट्रांसप्लांट की नहीं होती है हेयर ट्रांसप्लांट करवाने के लिए कम से कम 30 वर्ष से अधिक की उम्र होना अनिवार्य है।

Website Home ( वेबसाइट की सभी पोस्ट ) – Click Here
———————————————————-
Telegram Channel Link – Click Here
Join telegram

Leave a Comment