WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

बरेली में स्थित मनोना धाम कैसे जाएँ , Full Address History 100% सटीक जानकारी

उत्तर प्रदेश के बरेली में स्थित खाटू श्याम का एक भव्य मंदिर है जहां पर लाखों लोग दर्शन करने के लिए आते हैं । मनोना धाम के रहस्य के बारे में आज तक कोई पता नहीं लग पाया लेकिन यहां पर आने वाले सभी श्रद्धालु चमत्कार देखकर आश्चर्यचकित रह जाते हैं क्योंकि यहां पर ऐसी बीमारियों को भी ठीक किया जाता है जिनके बारे में कोई उम्मीद नहीं होती। कई बार डॉक्टर ही सीधे लोगों को मना कर देते हैं लेकिन यहां पर आने के बाद खाटू श्याम का आशीर्वाद जब उनको मिलता है तो तुरंत ही ठीक हो जाते हैं । आज के आर्टिकल में बात करेंगे की मनोना धाम का रहस्य क्या है और यहां पर आने के बाद लोगों को क्या लाभ होता है।

पताManona Dham , Manona, उत्तर प्रदेश 262201, Nainital Road, Bareilly, उत्तर प्रदेश – 243001
स्थानBareilly, उत्तर प्रदेश
रेलवे स्थल से दूरीलगभग 8 किलोमीटर
रेलवे स्थलBareilly Junction

मनोना धाम का रहस्य जानकार हो जाएंगे हैरान ?

मनोना धाम के रहस्य के बारे में जानना बहुत ही मुश्किल है क्योंकि यहां पर जाने के बाद कुछ भी पता नहीं चलता यहां पर आने वाले लोग अक्सर खाटू श्याम के बारे में और उनकी कहानी के बारे में जानने का प्रयास करते हैं। मनोना धाम पर आने के बाद मानसिक रोग से पीड़ित हर व्यक्ति ठीक हो सकता है अगर वह पूरी श्रद्धा से और विश्वास से अगर धाम पर आता है और बाबा श्याम से प्रार्थना करता है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

मनोना धाम एक धार्मिक तीर्थ स्थल –

उत्तर प्रदेश एक ऐसा राज्य है जहां पर भगवान श्री कृष्णा और भगवान राम की कई कहानी जुड़ी हुई है जिसमें से भगवान श्री कृष्ण के लिए उत्तर प्रदेश का मथुरा जिला और भगवान राम के लिए फैजाबाद शहर है। मनोना धाम में भगवान श्री कृष्णा वह कहानी जुड़ी हुई है जब उन्होंने महाभारत काल के समय घटोत्कच के पुत्र बर्बरीक का सिर अपने सुदर्शन के द्वारा काट दिया था तो वही सिर मनोना धाम में स्थित है। बाबा श्याम ने बरबरी की कुर्बानी के बाद यह आशीर्वाद दिया था कि जो भी भक्त इस धाम पर आएगा उसका हर अधूरा काम पूरा हो जाएगा।

मंदिर खुलने का दिनसमय
सोमवार से रविवार5:00 am से 10:00 pm
विशेष अवसर और त्योहारों में समय बदल सकता है।
सबसे निकट एयरपोर्टपंतनगर एयरपोर्ट
दूरी80 किलोमीटर
स्थानखाटू श्याम मंदिर के करीब

मनोना धाम के इतिहास की जानकारी–

मनोना धाम के इतिहास के बारे में न जाने कई कहानी जुड़ी हुई कहानी महाभारत काल से जुड़ी हुई है जब युद्ध अपनी चरम सीमा पर था और घटोत्कच के पुत्र बर्बरीक ने पांडवों से कहा कि मेरा एक बाण ही इस युद्ध को समाप्त कर कर सकता है । भगवान श्री कृष्णा ने कहां की तुम्हारी कुर्बानी इस युद्ध के लिए बहुत जरूरी नहीं है क्योंकि इस दुनिया में केवल तीन ही सबसे बड़े महारथी हैं दूसरा अर्जुन और तीसरे तुम। इसके बाद भगवान श्री कृष्ण ने बर्बरीक की कुर्बानी ले ली और इस धाम का नाम मनोना धाम पड़ गया ।

मनोना धाम में रुकने की व्यवस्था–

मनोना धाम वर्तमान समय में काफी चर्चित और विख्यात हो चुका है जहां पर हर सप्ताह लोग बिना किसी त्योहार की ओर बना किसी आयोजन के दर्शन करने के लिए जाते रहते हैं वैसे तो यहां पर समय-समय पर धार्मिक कथाएं भी होती रहती हैं और बड़े-बड़े कथाकार भी आते हैं। मनोना धाम पर दर्शन करने के लिए आने वाले लोगों के लिए ठहरने की पर्याप्त व्यवस्था है जिसमें व्यवस्था के अनुसार पैसे भी लगते हैं जहां पर₹200 से लेकर₹2000 तक का एक रूम मिलता है जो की 24 घंटे के लिए व्यवस्था प्रदान करता है।

Join telegram

Leave a Comment