WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

2024 Board Exams कक्षा 10 में कैसे पास हूं

कक्षा 10 में कैसे पास हूं , Best Trick –

हैलो दोस्तों !

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

आज मैं आपसे यहां पर कक्षा 10वीं की विद्यार्थियों के भविष्य के बारे में महत्वपूर्ण चर्चा करने वाला हूं जिसमें मैं आज आपको बताऊंगा कक्षा दसवीं के विद्यार्थियों को पास होने के लिए क्या करना चाहिए | दोस्तों जैसा कि सभी को पता है 2022 के जून के समय से शिक्षा सत्र 2022- 23 प्रारंभ हुआ है जिसमें संभावना है कि कक्षा दसवीं के विद्यार्थियों को सभी विषयों में अथवा 6 विषयों में उत्तीर्ण अंक लाना बेहद जरूरी हो जाएगा | आज मैं आपको यहां पर कक्षा दसवीं के विद्यार्थियों को किन विषयों को किस तरीके से पढ़ना चाहिए सभी के बारे में महत्वपूर्ण चर्चा करने वाला हूं | कई विद्यार्थियों को गणित में बहुत ही डर लगता है जबकि गलत बिल्कुल सरल होती है आज गणित के बारे में भी महत्वपूर्ण चर्चा की जाएगी कि कैसे इसको आसानी से सीखा जाए |

कक्षा 10वीं के विद्यार्थियों को कुछ महत्वपूर्ण बातों पर ध्यान देना चाहिए इसके बाद ही वे कक्षा दसवीं की परीक्षा को पास कर सकते हैं |

पढ़ने का तरीकासिलेबस के अनुसार
Model paperतैयारी को बेहतर करने का सबसे शानदार तरीका
आवश्यक उत्तीर्ण प्रतिशत33%
प्रैक्टिकल अंक25
प्रीवियस ईयर के पेपरपेपर का तरीका जानने के लिए बेहद आसान तरीका
कक्षा 10वीं एमपी बोर्ड परीक्षामार्च 2023
कक्षा 10वीं एमपी बोर्ड रिजल्टमई 2023
परीक्षा कॉपी लिखने का सही तरीकामॉडल पेपर सॉल्व करके आप इसकी तैयारी को मजबूत कर सकते हैं 
exam conductmpboard
resultmpbse.nic.in
परीक्षा का परिणाम 2023600 अंक

▶️ सिलेबस के अनुसार तैयारी करें-

कक्षा दसवीं के विद्यार्थियों को सबसे महत्वपूर्ण होता है कि वे एमपी बोर्ड परीक्षा की तैयारी को बेहतर करने के लिए सिलेबस के अनुसार ही तैयारी करें | विद्यार्थियों के लिए सिलेबस एक अति महत्वपूर्ण इकाई है जिसके तहत विद्यार्थी 100% अंक भी हासिल कर सकता है | कई बार विद्यार्थियों को सिलेबस का ज्ञान नहीं होता है जिस कारण से वे पूरे वर्ष भर तैयारी तो करते हैं फिर भी वे अपने हिसाब से परीक्षा में अंक प्राप्त नहीं कर पाते | यदि कोई विद्यार्थी किसी परीक्षा में अच्छे अंको से पास होना चाहता है तो उसे सिलेबस का ज्ञान होना बहुत जरूरी है | सिलेबस के माध्यम से विद्यार्थी प्रत्येक चैप्टर से उतने ही प्रश्न पड़ता है जितना परीक्षा के लिए महत्वपूर्ण होता है | दोस्तों यह जानना बेहद जरूरी होता है कि विद्यार्थियों को परीक्षा के लिए क्या पढ़ना है और क्या छोड़ देना है |

दोस्तों सिलेबस में इतना कुछ पढ़ने के लिए होता है कि विद्यार्थी केवल सिलेबस को पढ़ता रहेगा तो वह कभी भी परीक्षा में टॉप नहीं कर सकता वह केवल नॉलेज प्राप्त कर सकता है | विद्यार्थी के लिए जरूरी है नॉलेज प्राप्त करने के साथ-साथ परीक्षा में अच्छे अंकों से उत्तीर्ण होना | परीक्षा में अच्छे अंकों से उत्तीर्ण होने के लिए सिलेबस के अनुसार पढ़ाई करना बहुत जरूरी होता है |

▶️ समय सारणी के अनुसार पढ़ें-

दोस्तों कक्षा 10वीं की परीक्षा के लिए कोई विशेष तैयारी नहीं करनी होती है परंतु समय अनुसार यदि आप रोज थोड़ा- थोड़ा पढ़ते तो एक दिन आप बहुत बड़ी तैयारी कर पाएंगे | दोस्तो यदि आप चाहते हैं कि हम कक्षा दसवीं की परीक्षा अच्छे अंको से उत्तीर्ण करें तो आपको प्रतिदिन समय सारणी के अनुसार प्रत्येक विषय को बराबर महत्व देना होगा | घर पर जहां पर आप पढ़ते हैं वहां दीवार पर अपनी समय सारणी को किसी पेज में लिख चिपका लें | ऐसा करने से आप प्रत्येक विषय को सही ढंग से और सही तरीके से पढ़ पाएंगे |

▶️ Strength और Weakness का ध्यान रखें-

कभी-कभी अच्छी तैयारी करने वाला विद्यार्थी परीक्षा के समय थोड़ी सी तबीयत खराब होने के कारण अपनी पूरी परीक्षा को बर्बाद कर लेता है और फिर कहीं ना कहीं हुआ है फेल भी हो जाता है| दोस्तों विद्यार्थी को पास होने के लिए किसी विशेष टिप्स की जरूरत नहीं है परंतु थोड़ी-थोड़ी प्रतिदिन पढ़कर अपने भविष्य का अच्छा निर्माण कर सकते हैं | अपने स्वास्थ्य का विशेष रुप से ध्यान रखकर ही तैयारी करें 1 दिन का स्वास्थ्य खराब होने से 4 दिन की पढ़ाई पर बहुत बुरा असर पड़ता है |

▶️ कौन से विषय को कैसे पढ़ें??

कक्षा 10वीं में पढ़ाई करना और कक्षा दसवीं को केवल उत्तीर्ण कर लेने से कुछ नहीं होता | जरूरी है कि कक्षा दसवीं में हम टॉप कैसे करें? दोस्तों टॉप करने वाले विद्यार्थी कोई रात दिन पढ़ाई नहीं करते परंतु उनके पढ़ने का तरीका पूरी तरीके से बना होता है | दोस्तों यदि आप बेहतर तैयारी करना चाहते हैं तो आपको सभी विषयों के बारे में पता होना चाहिए कि किसी दूसरे को किस तरीके से पढ़ना है |

☛ गणित विषय में कैसे पास हों?

कक्षा दसवीं के विद्यार्थी उम्र में थोड़ी कम और समझदार भी कम होते हैं जिस कारण से वे गणित विषय को उचित ढंग से नहीं पढ़ पाते | गणित जैसे विषय को पास करना बेहद आसान है क्योंकि इसमें केवल थोड़ी सी प्रैक्टिस चाहिए और ऐसी प्रैक्टिस चाहिए जो प्रतिदिन होती रहे | गणित विषय में सबसे जरूरी है विद्यार्थियों के लिए प्रैक्टिस करना यदि विद्यार्थी प्रतिदिन इस विषय को प्रैक्टिस करते रहे तो 1 दिन इस विषय से टॉप कर जाएंगे | यदि कोई विद्यार्थी गणित विषय में कमजोर है तो वह किसी अच्छे अध्यापक के पास पर्सनल कोचिंग भी ले सकता है इसके बाद वह निरंतर अभ्यास करता रहे तो परीक्षा के आने तक उस विषय को बेहद ढंग से तैयार कर पाएगा |

गणित विषय में सबसे जरूरी है विद्यार्थियों के लिए कांसेप्ट समझना यदि विद्यार्थी को गणित विषय का कांसेप्ट समझ में आ गया तो विद्यार्थी किसी भी सवाल को बड़ी आसानी के साथ हल कर सकता है | सभी विद्यार्थियों के लिए जरूरी है गणित विषय के कांसेप्ट के साथ इस विषय का बेहतरीन नोट्स बनाते जाएं तो आप परीक्षा के समय बेहतरीन रिवीजन कर पाएंगे | दोस्तों किसी अन्य विद्यार्थी के नोट्स कभी भी इतने अच्छे से समझ में नहीं आती जितने अच्छे से हमको हमारे ही हाथ के द्वारा बनाए गए नोट्स समझ में आ जाते हैं |

यदि कोई विद्यार्थी गणित में ज्यादा कमजोर है तो वह छोटे-छोटे कांसेप्ट समझ कर निरंतर अभ्यास करता रहे तो वह गणित विषय में अच्छी तैयारी कर पाएगा | कमजोर से कमजोर छात्र भी एक दिन एक टॉपर बन सकता है यदि वह छोटे-छोटे कांसेप्ट समझकर लगातार अध्ययन करते रहे तो |

गणित जैसे विषय में पास होना बेहद आसान होता है क्योंकि इसमें कई कांसेप्ट ऐसे होते हैं जो बहुत ही आसान होते हैं और भी परीक्षा में आ जाते हैं | वर्तमान समय में 20 नंबर से अधिक के विकल्प विद्यार्थी के लिए दिए जाते हैं जिनमें किसी भी प्रकार की कठिनाई नहीं होती है | 20 अंकों के विकल्प के बाद विद्यार्थी इतना पेपर दो कर सकता है कि वह उत्तीर्ण होने वाले अंकों को प्राप्त कर जाएगा |

☛ अंग्रेजी में पास होने का बेहद आसान तरीका-

दोस्तों अंग्रेजी एक ऐसा विषय है जो विद्यार्थी के लिए पढ़ाई शुरू करने के शुरुआत से ही कठिन लगने लगती है जबकि ऐसा बिल्कुल भी नहीं है | अंग्रेजी जैसा विषय भी उतना ही सरल है जितना गणित अथवा हिंदी विषय है | आप यदि अंग्रेजी को सही ढंग से पढ़ना जानते हैं तो अंग्रेजी जैसे विषय में भी उतने ही अंक प्राप्त कर सकते हैं जितने आप अन्य विषय में ला सकते हैं |

अंग्रेजी एक प्रकार की भाषा है जिसे सीखने में थोड़ा सा वक्त लगता है लेकिन यदि एक बार इस भाषा को सीख लिया तो आप अपनी पूरी जिंदगी भर खुद के ऊपर गर्व करेंगे कि आपको बहुत कुछ आता है | अंग्रेजी जैसे विषय में पास होने के लिए विद्यार्थी को केवल अंग्रेजी को समझ कर उसका लगातार रिवीजन करना बहुत आवश्यक होता है | अंग्रेजी के सभी से अन्य विषयों की तुलना में रिवीजन ना करने से बहुत ही जल्दी भूल जाता है |

अंग्रेजी की व्याकरण सीखना बहुत आवश्यक-

दोस्तों अंग्रेजी की व्याकरण सीखना विद्यार्थियों के लिए बहुत ही आवश्यक होता है क्योंकि अंग्रेजी की व्याकरण के आधार पर ही पूरी अंग्रेजी निर्भर करती है | यदि आप अंग्रेजी की व्याकरण को बेहतर ढंग से सीखते हैं तो आप अंग्रेजी में माहिर हो सकते हैं | यदि आप अंग्रेजी की व्याकरण सीख जाते हैं तो अंग्रेजी में निबंध लिखना और आर्टिकल लिखने में आपको कोई परेशानी नहीं जाएगी |

☛ संस्कृत को कैसे सीखे-

कक्षा दसवीं के विद्यार्थियों के लिए संस्कृत में 100% अंक लाना बहुत ही आसान होता है क्योंकि संस्कृत बहुत ही सरल विषय है | संस्कृत की व्याकरण को सीखना बहुत ही जरूरी होता है यदि आप संस्कृत की व्याकरण से जाते हैं तो आप किसी भी प्रश्न का अर्थ निकाल लेंगे | संस्कृत के शब्दों की पहचान करना और उनका विच्छेद करना विद्यार्थी को बहुत ही अच्छी तरीके से आना चाहिए | संस्कृत के शब्दों में एक से अधिक शब्द जुड़े रहते हैं जिस कारण से पढ़ने में बहुत ही कठिनाई जाती है | लंबी शब्दों को छोटे रूप में पढ़ने के लिए उन्हें विच्छेद करके पढ़ना चाहिए | संस्कृत के कई शब्द ऐसे होते हैं जिनका अर्थ हमको सीखना होता है |

संस्कृत में कारक सीखना बहुत ही आवश्यक होता है यदि आप संस्कृत की व्याकरण के कारक सीख जाते हैं तो आप संस्कृत को बेहद आसान तरीके से हल कर पाएंगे |

☛ हिंदी विषय में ध्यान दें-

  1. हिंदी विषय में विद्यार्थियों के लिए बहुत जरूरी होता है व्याकरण के तौर पर उसे समझना और याद रखना |
  2. हिंदी के व्याकरण संधि, समास ,रस ,छंद ,अलंकार इन सभी के कांसेप्ट समझना और इंकार से निकालना विद्यार्थी को जरूर आना चाहिए |
  3. विद्यार्थी को हिंदी के शब्दों की शुद्धता पर भी विशेष ध्यान देना चाहिए | कई बार हिंदी के गलत शब्द हमारे बहुत से अंक कम कर देते हैं |
  4. हिंदी साहित्य के इतिहास में विद्यार्थियों को हिंदी साहित्य के रचनाकार और उनकी रचनाओं पर विशेष ध्यान देना चाहिए क्योंकि कई बार हमें रचनाओं में समझ में नहीं आता कि कौन सा कवि कौन सी रचना को इंगित करता है |
  5. लेखक और उनकी रचनाओं पर विशेष ध्यान देना चाहिए |

☛ सामाजिक विज्ञान-

  1. सामाजिक विज्ञान में विद्यार्थियों को महत्वपूर्ण प्रश्नों पर ध्यान देना चाहिए कि प्रश्न विद्यार्थी से पूछना क्या चाहता है?
  2. सामाजिक विज्ञान एक ऐसा विषय है जिसे समझना तो बहुत आसान होता है परंतु कभी-कभी इसके कांसेप्ट हमारे दिमाग में ही नहीं चढ़ते इसीलिए सामाजिक विज्ञान को बड़ी बारीकी से समझना जरूरी है |
  3. सामाजिक विज्ञान में कई चैप्टर ऐसे होते हैं जो इतिहास से जुड़े हुए होते हैं उनमें विद्यार्थी को सबसे महत्वपूर्ण है कि वह घटनाएं होने वाली समय सारणी को जरूर ध्यान रखें | कौन सी घटना कब हुई है किस सन में हुई है इसकी जानकारी अच्छी तरीके से होना चाहिए क्योंकि यह हमेशा कंफ्यूज करता है |
  4. सामाजिक विज्ञान में विद्यार्थी के लिए बहुत लंबे प्रश्न याद करने के लिए होते हैं जिस कारण से विद्यार्थी को यह बहुत ही बोरिंग सब्जेक्ट है महसूस होता है | सामाजिक जैसे विषय को आसान करने के लिए और इंटरेस्टिंग बनाने के लिए हमें हमेशा इसी कहानी के तौर पर सीखना चाहिए |

☛ विज्ञान के कांसेप्ट-

  1. दोस्तो विज्ञान एक ऐसा विषय है जो हमारे दैनिक जीवन से संबंध रखता है हमारे दैनिक जीवन में होने वाली घटनाएं विज्ञान से संबंध रखती हैं | विज्ञान को सीखने के लिए सबसे आसान तरीका है कि इसे हम अपने दैनिक जीवन से रिलेट कर समझें |
  2. विज्ञान के महत्वपूर्ण चैप्टर जिसमें फिजिक्स के कांसेप्ट दिए जाते हैं उन कांसेप्ट को विद्यार्थी हमेशा याद नहीं रख पाता इस कारण से विद्यार्थी विज्ञान में कभी -कभी फेल हो जाता है | विज्ञान में अच्छे अंको से पास होना है तो विद्यार्थी के लिए बहुत जरूरी है कि फिजिक्स के कॉन्सेप्टों को बहुत ही अच्छी तरीके से समझें |
  3. भौतिकी के नियम और सूत्र विद्यार्थी को हमेशा याद रखना चाहिए |
  4. विज्ञान में हमें कई चैप्टर ऐसे मिलते हैं जो केमिस्ट्री से जुड़े होते हैं केमिस्ट्री में सबसे जरूरी है विद्यार्थी के लिए किसी भी परमाणु के तत्व को समझना और उसका परमाणु क्रमांक याद रखना | कार्बनिक रसायन जैसे चैप्टर को विद्यार्थी बड़ी आसानी के साथ सीख सकता है |
  5. विज्ञान में ही विद्यार्थी कुछ चैप्टर ऐसे मिलते हैं जो जीव विज्ञान से रिलेटेड होते हैं ऐसे चैप्टर को विद्यार्थी यदि लगातार प्रैक्टिस करता रहे तो बड़ी आसानी के साथ सीख सकता है | दोस्तों विज्ञान कठिन बिल्कुल भी नहीं होती है यदि उसे प्रतिदिन थोड़ा-थोड़ा करके सीखते रहे तो 1 दिन विद्यार्थी इस विषय में भी अच्छे अंको से उत्तीर्ण हो सकता है |

☛ कमजोर विद्यार्थी के लिए कोचिंग करना जरूरी है?

दोस्तों कई बार हम टॉप करने वाले ऐसे विद्यार्थी देखते हैं जो कभी कोचिंग नहीं पढ़ते परंतु वह परीक्षा में टॉप कर जाते हैं | ऐसे विद्यार्थियों का टॉप करने के पीछे सबसे बड़ा कारण होता है कि वह शुरुआत से ही मानसिक रूप से मजबूत हैं| यदि आप किसी भी विषय में कमजोरी महसूस करते हैं और आपको लगता है कि हमें उस विषय की कोचिंग कर लेना चाहिए तो आप कोचिंग कर सकते हैं और बेहतरीन तैयारी कर सकते हैं |

दोस्तों कोचिंग करने के लिए बेहतरीन समय सुबह का होता है और सबसे जरूरी है विद्यार्थी के लिए उस विषय की कोचिंग करना जिस विषय में वह कमजोर है | जिस विषय को वह घर पर अच्छे तरीके से पड़ सकता है उस विषय की उस विद्यार्थी को कभी कोचिंग नहीं करना चाहिए |

एमपी पटवारी भर्ती 2022Click Here
एमपी आंगनवाड़ी भर्ती 2022Click Here
एमपी वन विभाग भर्ती 2022 LatestClick Here
एमपी पोस्ट ऑफिस भर्ती 2022 Latest 4000 VacancyClick Here
एमपी बोर्ड Daily Update क्लिक करें
Mp Board की सभी खबरेंClick Here
मंडी भाव 2022 एमपी छत्तीसगढ़क्लिक करें
Join telegram

Leave a Comment