खान सर पटना वाइफ फोटो Khan Sir Patna Biography

खान सर Wife पटना –

दोस्तों खान सर के बारे में थोड़ा बहुत तो आप लोग जानते ही होंगे बाकी हम आपको बताएं दे रहे हैं कि कैसे खान सर अक्सर विवादित रहते हैं ?और चर्चा में बने रहते हैं | दोस्तों अगर कोई विद्यार्थी ऑनलाइन तैयारी करता है अथवा पढ़ाई करता है तब उसने खान सर का कोई ना कोई वीडियो जरूर देखा होगा | दोस्तों जरूरी नहीं है कि खान सर का वीडियो एक पढ़ाई करने वाला विद्यार्थी ही देखें उनका वीडियो इतना रोचक और मजेदार होता है कि यहां तक बॉलीवुड सेलिब्रिटी भी उनके वीडियो को ट्विटर पर शेयर करके उनके पढ़ाने के तरीके की तारीफ करते हैं |

               दोस्तों खान सर हर वक्त सोशल मीडिया पर सुर्खियों में रहते हैं | खान सर जो कि पटना से संबंध रखते हैं इनका पेसा एक शिक्षक का है यूट्यूब की दुनिया में बहुत कम समय में इनके करोड़ों फोलोवर  हो गए हैं | खान सर के फेमस होने के पीछे उनके पढ़ाने का देसी अंदाज है जो सब को भा जाता है | खान सर की एक वीडियो जो भी एक बार देख लेता है अगली वीडियो को वह ना देखने की गलती भूलकर भी नहीं करता | खान सर अक्सर अपने वीडियो में पढ़ाते वक्त हंसी ,मजाक, चुटकुला और बिहारी भाषा की कई रोचक शब्दों के द्वारा आसान भाषा में किसी भी विषय को समझाने का प्रयास करते हैं | दोस्तों आज हम खान सर से जुड़े सभी तथ्यों पर चर्चा करेंगे और जानेंगे कि खान सर का जीवन किस प्रकार गुजरा और वह कैसे इतने फेमस हुए | दोस्तों अगर आप सोशल मीडिया से बिलॉन्ग करते हैं तो आप खान सर को जरूर जानते होंगे या फिर खान सर का कहीं ना कहीं नाम सुना होगा आज खान सर से जुड़े बहुत ही रोचक साथियों को जानेंगे |

खान सर का जन्म –

दोस्तों खान सर एक मध्यमवर्गीय परिवार से ताल्लुक रखते हैं वर्तमान समय में  पटना, बिहार में निवासरत है | खान सर का जन्म उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक मध्यमवर्गीय परिवार में  हुआ है |  इनका जन्म दिसंबर 1993 में हुआ है |

खान सर का बचपन –

खान सर के पिताजी अलग-अलग जगह पर काम करते रहते थे खान सर के परिवार वाले लोग एक ही जगह पर आसपास सभी लोग एक साथ रहते थे | खान सर बचपन में बहुत शरारती थे उनकी मां उनसे हमेशा परेशान रहती थी क्योंकि उनकी शिकायतें घर पर बहुत ज्यादा आया करती थी | खान सर का परिवार उस समय आर्थिक समस्याओं से जूझ रहा था| उस समय इनका बचपन गिल्ली डंडे आदि खेलों के साथ बीता | आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण जैसे ही खान सर धीरे -धीरे बड़े हुए और शुरू से ही उनका फौज में जाने का सपना बन गया | जिसके लिए उन्होंने खूब मेहनत करी और आगे बढ़ते रहे |

खान सर के पिता –

खान सर के पिताजी फौज (Army Officer )में थे  हालांकि, कुछ समय बाद इनके पिताजी को फौज से रिटायर्ड कर दिया गया | खान सर के पिताजी का नाम – अभी तक ज्ञात नहीं हुआ है |

खान सर की माताजी – इनकी माताजी ग्रहणी हैं |

बड़े भाई – इनके बड़े भाई आर्मी में कमांडो हैं |

खान सर की पत्नी –

खान सर की लॉकडाउन से पहले सगाई हो चुकी थी उनको अपनी  शादी कोरोनावायरस के कारण रोकनी पड़ी | वर्तमान में उनकी मंगेतर डॉक्टर हैं बीएचयू BHU( बनारस हिंदू विश्वविद्यालय ) में | 

खान सर का पूरा नाम –

दोस्तों सोशल मीडिया पर खान सर के नाम को लेकर कई बार खान सर सुर्खियों में रहे हैं उनके नाम को लेकर कई न्यूज़ चैनलों पर उनसे बहस भी की गई लेकिन अभी तक इनके रियल नाम कि किसी भी तरीके से पुष्टि नहीं हुई है | दोस्तों कई लोग इनका नाम – फैजल खान बताते हैं लेकिन किसी भी तरीके से इनके नाम की पुष्टि नहीं हुई है | खान सर ने अभी तक अपना पूरा नाम किसी के साथ स्पष्ट रूप से शेयर नहीं किया है, उनका कहना है कि अगर आपको कुछ सीखना है तो मेरी कहानी से देखिए मेरी मेहनत से देखिए मेरे नाम में भला क्या रखा है ? कई बार सोशल मीडिया पर न्यूज़ चैनलों के द्वारा उनके नाम को लेकर बहस होने पर भी खान सर ने अपना नाम स्पष्ट नहीं किया है उनका कहना है कि विद्यार्थी मुझे प्यार से खान सर ही बुलाते हैं और मुझे यही स्वीकार है|

उपनाम – खान सर

खान सर इतने क्यों प्रसिद्ध है ?

खान सर के प्रसिद्ध होने के लिए उनकी बड़ी वजह उनके पढ़ाने का देसी अंदाज है | खान सर ऑफलाइन पढ़ाते हो या फिर ऑनलाइन पढ़ाते वक्त बीच-बीच में भोजपुरी भाषा के रोचक शब्दों का इस्तेमाल कर माहौल को रोचक बना देते हैं | ऑनलाइन पढ़ाई करने वाला विद्यार्थी कभी भी वीडियो को अनदेखा नहीं करता | खान सर के द्वारा बोला जाने वाला ” ई -ससुरा ” शब्द बहुत प्रसिद्ध है यह शब्द के कारण उनका वीडियो बहुत रोचक हो जाता है | उनके वीडियो सोशल मीडिया से संबंध रखने वाला प्रत्येक व्यक्ति देखता है |

उम्र – 29 years old

ग्रेजुएशन – खान सर ने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से B.sc.(physics oner’s) , और M.sc. किया है |

खान सर के आय का साधन –

खान सर ने शुरुआत में ऑफलाइन कोचिंग खोलने का निर्णय लिया जिसमें शुरुआत में बहुत कम बच्चे आया करते थे | इसके बाद खान सर का पढ़ाना बच्चों को अच्छा लगने लगा और उनकी कोचिंग में विद्यार्थियों की संख्या बढ़ने लगी और बाद में विद्यार्थियों की संख्या दो हजार से भी ऊपर होने लगी | शुरुआत में उन्होंने एक दो कमरे में विद्यार्थियों को पढ़ाने की व्यवस्था की थी परंतु जब दो हजार से ऊपर बच्चे उनकी क्लास लेने लगे तब उन्होंने बड़े से हॉल की व्यवस्था की | खान सर की कोचिंग में विद्यार्थियों की संख्या इतनी ज्यादा बढ़ गई कि विद्यार्थियों को बैठने तक की जगह नहीं मिली तो विद्यार्थी खड़े-खड़े क्लास को लेने लगे लेकिन खान सर का एक भी लेक्चर किसी विद्यार्थी ने नहीं छोड़ा | कई विद्यार्थी जमीन में बैठ जाते थे और कई विद्यार्थी सीढ़ियों पर बैठकर अगर खान सर दिखाई नहीं दे रहे तो केवल उनको सुना करते थे | जब खान सर की कोचिंग में विद्यार्थी नहीं बन रही थी तब खान सर ने ऑनलाइन पढ़ाने का निर्णय लिया और खान सर ने Khan GS Reasearch Centre के नाम से अपना एक Youtube Channel  खोल लिया ताकि जो विद्यार्थी नहीं पढ़ पा रहे वह ऑनलाइन कोचिंग की माध्यम से शिक्षा प्राप्त कर सकें |

              धीरे -धीरे 2020 का समय था तब लॉकडाउन जैसी समस्या का पूरे देश को सामना करना पड़ा जिसमें पूरा देश बुरी तरीके से परेशान हो गया था | लॉकडाउन लगने के कारण खान सर की कोचिंग मे लॉक डाउन  के कारण विद्यार्थी कोचिंग में नहीं आ पा रही थे तब खान सर ने अपने पुराने यूट्यूब चैनल पर ऑनलाइन पढ़ाने के बारे में सोचा | खान सर की शुरुआत से यही सोच रही है कि उनके द्वारा गरीब से गरीब बच्चा शिक्षा को प्राप्त कर सके | खान सर ने अपनी कोचिंग की फीस अन्य सभी कोचिंगो से बहुत कम रखी ताकि कोई भी विद्यार्थी आर्थिक समस्याओं की वजह से अशिक्षित ना रह जाए | खान सर का यही अंदाज कुछ लोगों को अच्छा नहीं लगा और खान सर की तरक्की के पीछे कुछ लोगों की जलन बहुत ज्यादा बढ़ गई और उन्होंने खान सर को गिराने के बारे में सोचा | खान सर को गिराने के बारे में कई प्रकार की साजिश है उनके ना चाहने वालों ने की  लेकिन खान सर ने हर समस्या का सामना डटकर किया और आगे बढ़ते रहे |

            खान सर ऑफलाइन कोचिंग के साथ-साथ जितना पैसा यूट्यूब चैनल के द्वारा कमाते हैं सारा पैसा अनाथ आश्रम ,गौशाला और विद्यार्थियों की शिक्षा के ऊपर अच्छी बेहतरीन व्यवस्था करने में खर्च कर देते हैं | खान सर यूट्यूब के द्वारा एक 1-5 लाख रुपए प्रति महीना कमाते हैं |

खान सर के केरियर की कहानी –

खान सर शुरुआत में छोटी कक्षाओं में एक औसतन विद्यार्थी रहे हैं | इन्होंने कक्षा 8वीं तक पढ़ाई पर कोई ध्यान नहीं दिया और एक औसतन विद्यार्थी जितना इनके अंक आया करते थे| इसके बाद जब खान पर पढ़ाई पर ध्यान नहीं देते थे तब इनकी मां ने इनको बहुत डांटा था उनकी मां की डांट का असर उनके कैरियर पर भारी पड़ गया | उनकी मां की डांट का असर कुछ इस प्रकार हुआ कि वह 9th क्लास से बहुत मेहनत और लगन से पढ़ाई करने लगे साथ ही उम्र आगे बढ़ रही थी तो धीरे-धीरे समझदार भी होने लगे |

खान सर की प्रारंभिक शिक्षा गोरखपुर में पूरी हुई इसके बाद जब वे 9th क्लास में थे तो अलीगढ़ मुस्लिम स्कूल से Entrance Exam की तैयारी की | बाद में इन्होंने कक्षा 10th में Polytechnic की तैयारी की बाद में जब वे 12th मे थे तो उन्होंने AIEEE की तैयारी की जब केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड में इनका AIEEE का Exam था तो वे सोते ही रह गए | दोस्तों शायद जो होता है अच्छे के लिए ही होता है जरा सोचो अगर इनकी परीक्षा निकल जाती तो वे किसी  IIT Institute में नौकरी कर रहे होते और इतने बेहतरीन शिक्षक के द्वारा हम उनके ज्ञान लेने से वंचित रह जाते | दोस्तों किस्मत अक्सर जो करवाना चाहती है वह किसी न किसी तरीके से हो ही जाता है जैसा खान सर के साथ हुआ | बाद में वो धीरे -धीरे जब पढ़ाने निकले तो विद्यार्थियों के एक चहेते शिक्षक बन गए |

खान सर का ननिहाल –

खान सर छोटे में गोरखपुर में रहा करते थे और वे बिहार में आते -जाते थे | खान सर को बिहार से बहुत लगाव है क्योंकि बिहार में चंद्रगुप्त मौर्य और आर्यभट्ट जैसे महान गणितज्ञ ने बिहार को एक उत्कृष्ट राज्य बनाने में अपना पूरा जीवन लगा दिया | खान सर  ने आर्यभट्ट और महान शासक चंद्रगुप्त मौर्य के जीवन की गाथाओं के बारे में बहुत अच्छे से जाना इस कारण खान सर को बिहार से बहुत लगाव हो गया | और उन्होंने बिहार के साथ-साथ पूरे देश में शिक्षा को बहुत सस्ते रूप में देने का निर्णय लिया |

खान सर का अनाथालय –

दोस्तों खान सर ने जब ऑफलाइन कोचिंग के माध्यम से पढ़ाना शुरू किया तब इनको पर्याप्त मात्रा में इनकम प्राप्त होने लगी इसके बाद साथ ही जब इनकी कोचिंग में विद्यार्थी ज्यादा होने लगे तब इन्होंने यूट्यूब के माध्यम से ऑनलाइन पढ़ाने का निर्णय लिया और यूट्यूब के द्वारा भी अच्छी इनकम प्राप्त होने लगी | ऑफलाइन पढ़ाने और ऑनलाइन पढ़ाने के बाद इनको जो इनकम प्राप्त होती है वे अपनी सारी इनकम को अनाथालय में खर्च कर देते हैं | उनका सपना है कि गरीब से गरीब बच्चा बेहतर से बेहतर शिक्षा को प्राप्त कर सके |  खान सर समाज सेवा में भी अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं और लोगों का दिल जीतने का प्रयास करते हैं |

Khan Sir Wife Pics

              खान सर के अनाथालय चलाने पर कुछ लोगों ने उनका विरोध करना शुरू कर दिया तब खान सर ने उनको जवाब दिया कि यदि हम अनाथालय चलाकर किसी अनाथ बच्चे को बेहतर शिक्षा देकर कोई अनाथ बच्चा अगर नौकरी पाता है अथवा एक अच्छे जीवन को जीता है तो इसमें हम क्या गलत करते हैं ? खान सर ने उनका विरोध करने वालों का डटकर सामना किया और  विरोध करने वालों को जवाब देने से पीछे नहीं हटे |

खान सर पढ़ाई के दौरान बच्चों को बहुत मोटिवेट भी करते हैं ताकि बच्चे अपने लक्ष्य से ओझल ना हो पाए | खान सर हर संभव प्रयास करते हैं ताकि विद्यार्थी का अच्छा कैरियर बन सके  और भी बेहतर शिक्षा प्राप्त कर सकें |

          खान सर की कोचिंग पर जब हमला हुआ हां तो खान सर ने उस समय यह दावा भी किया था कि अगर हमें बम से मार भी दिया जाता है और किसी विद्यार्थी का सिलेबस पूरा नहीं होता तो संस्था द्वारा उनकी फीस लौटा दी जाएगी | खान सर के जीवन में बहुत समस्याएं आई लेकिन उन्होंने हर समस्या का साहस के साथ सामना किया और आगे बढ़ते रहें जीवन में बहुत मेहनत की और बेहतर से बेहतर शिक्षा देने का प्रयास करते हैं इसी कारण वे यूट्यूब की दुनिया के माध्यम से सबके प्रिय और चहेते शिक्षक बन गए हैं |

खान सर का कहना है कि-

” बेहतर से बेहतर होने का प्रयास करें ,मिल जाए नदी तो समंदर की तलाश करें| टूट जाते हैं शीशे पत्थर की चोट से ,पत्थर टूट जाएं ऐसे ही से तलाश करें ||

खान सर विद्यार्थियों को समझाते हुए कहते हैं कि-” शिक्षा वह शेरनी का दूध है जिसने जितना पिया है उसने उतना ही दहाड़ा है |”

Website Home ( वेबसाइट की सभी पोस्ट ) – Click Here
———————————————————-
Telegram Channel Link – Click Here

क्या खान सर जेल गए ?

दोस्तों खान सर अपनी स्नातक की पढ़ाई करते हुए 3 बार जेल भी जा चुके हैं जब वह कॉलेज में थे तो स्टूडेंट यूनियन के सदस्य थे और विद्यार्थियों के हित में कई बार लड़ते हुए तो उनको पुलिस का सामना भी करना पड़ा और दो -तीन बार जेल भी जा चुके हैं | उनकी जेल जाने के पीछे किसी भी प्रकार का कोई गलत मुकदमा अथवा अपराध नहीं है विद्यार्थियों के हित में जितनी बार भी उनको समस्याओं का सामना करना पड़ा उन्होंने डटकर सामना किया |

खान सर का लक्ष्य –

दोस्तों जब खान सर बड़े हुए और उन्होंने जाना कि हमारा मगद राजनीतिक कुरूतियो के कारण पूरी तरह से बिछड़ गया है पुराना मगध पूरी तरीके से टूट चुका है और इसकी दुर्दशा हो चुकी है | बिहार में शिक्षा का स्तर बहुत कमजोर है तब उन्होंने सोचा कि अगर बिहार को पुराना मगध बनाना है तब यहां पर सबसे पहले शिक्षा को बेहतर रूप से बनाना होगा | उन्होंने अपना लक्ष्य बनाया कि वह बिहार तो क्या पूरे देश में सस्ती से सस्ती शिक्षा देंगे और गरीब से गरीब बच्चा शिक्षा को प्राप्त कर सकेगा | बिहार में गरीबी और मजदूरी को जब उन्होंने गौर से देखा तब उनको एहसास होगा कि यहां पर सबसे बड़ी कमी शिक्षा की ही है जिसके कई नतीजे निकल कर सामने आ रहे हैं |

खान सर का सपना –

दोस्तों खान पर शुरू से ही सेना में भर्ती होना चाहते थे क्योंकि उनके पिता भी आर्मी में अधिकारी थे तो, कहीं ना कहीं उनका रुझान भी उसी तरफ था वे देश की सेवा करना चाहते थे | दोस्तों खान सर का अगर आपने वीडियो देखा है आप उनके वीडियो में सुनती होंगे कि जब वह वीडियो को शुरू करते हैं तब जय हिंद जरूर बोलते हैं और जब वीडियो को खत्म करते हैं तब भी वे जय हिंद बोलते हैं देश के प्रति इतना लगाव और देश भक्ति खान सर की वीडियो में देखने को मिलती है |

           दोस्तों जब उन्होंने NDA की परीक्षा दी तब भी अच्छे अंको से पास भी हो गए थे लेकिन दुर्भाग्य से इनका सिलेक्शन / चयन नहीं हो सका |  इनका  सिलेक्शन न होने का कारण इनके हाथों में बनने वाला कोण था सेना में हाथों के बनने वाले कोण पर महत्वपूर्ण रूप से ध्यान दिया जाता है | एनडीए में सिलेक्शन ना होने के बाद वे पूरी तरह से टूट चुके थे क्योंकि आर्मी में जाने का उनका सपना टूट चुका था | आर्मी में जाने के लिए उनके पास कोई उम्मीद नहीं थी इसलिए वे पूरी तरह से दुखी हो गए थे | खान सर उस समय काफी हैरान थे उनका मानना था कि किस्मत भी इंसान को ऐसी ठोकर देती है कि इंसान का जीना भी मुश्किल हो जाता है | सेना में जाने का उनका सपना टूटने के बाद खान सर का पढ़ाई से भी थोड़ा ध्यान हट चुका था |

        इसके बाद उनकी मां ने उनको हौसला दिया ठीक उसी प्रकार जब वो 8वीं तक कम पढ़ते थे तो उनकी मां ने उनको डांटा था तब वह 9th क्लास से बहुत समझदार तरीके से पढ़ने लगे थे और मेहनत करने लगे थे | मां के समझाने के बाद खान सर काफी मोटिवेट हुए और इसके बाद उन्होंने सोचा कि अब जनता की सेवा करनी है | अपने माता-पिता के समझाने पर उन्होंने अपनी आगे की पढ़ाई भी जारी रखी |

         खान सर जब पटना गए थे तो उनको वहां पर जातिवाद देखने को मिला था | शुरुआत में जब वे वहां पर कोचिंग पढ़ाने के लिए किराए से रूम तलाश रहे थे तब कहीं पर कोई उनसे उनकी जाति पूछने लगा खान सर को यह सब बातें अच्छी न लगी | जब भी रूम को तलाशने के लिए किसी हिंदू के घर जाते तब वह वहां सुनते हैं कि वह किसी मुस्लिम को रूम नहीं देते और जब भी किसी मुस्लिम के यहां रूम तलाशने के लिए जाते तब वहां भी सुनते हैं कि वह किसी हिंदू को रूम नहीं देते है खान सर को यह बातें कहीं ना कहीं बहुत तेजी से खटकने लगी | इसके बाद जब भी कहीं पर बिना धर्म और जाति की परेशानी शेर रूम ले लेते हैं तब इसके बाद वे पटना में कोचिंग पढ़ाने लगे | शुरुआत में उन्होंने 2 कमरे में पढ़ाना शुरू किया जब बच्चे ना बने तब उन्होंने गोल्ड स्टोरेज में अपनी कोचिंग को शिफ्ट कर दिया |

खान सर पटना वाइफ Khan Sir Patna Wife Pics 2022 Biography

            खान सर का सपना था कि वह पटना को पहले जैसा मगध बना देना चाहते हैं उनका मानना है कि वह कभी भी किसी धर्म का अपमान नहीं करते बल्कि सब धर्मों का सम्मान करते हैं | जब खान सर ने हिंदुओं के त्यौहार को बड़ी धूम-धाम से मनाया और सोशल मीडिया पर जब इनकी फोटो वायरल हुई तब उनको उनसे विरोध करने बालों की तरफ से धमकियां मिली कि आप हिंदुओं के त्यौहार को क्यों मना रहे हैं आप हिंदुओं के त्यौहार को नहीं मना सकते |

          दोस्तों खान सर ने एक शिक्षक होने के बाद कभी खुद को हिंदू या मुस्लिम की नजर से नहीं देखा | वो खुद को हिंदू या मुसलमान से पहले एक हिंदुस्तानी मानते हैं | उनका कहना है कि दुनिया किस नजर से देखती है? क्या समझती है? इसमें मेरी क्या गलती है? उनका मानना है कि हम सब हिंदुस्तानी हैं हम ईद में भी मिलेंगे और होली में भी मिलेंगे , उसी हर्षोल्लास के साथ में मिलेंगे | कुछ सामाजिक लोगों को यह पसंद नहीं आया और खान सर को धमकियां मिलने लगी | कई धमकियां मैं तो खान सर को मरवाने तक की धमकी मिली ,परंतु कहा जाता है ना जो इंसान ठोकरो के बाद बड़ा होता है वह बहुत मजबूत हो जाता है | ऐसी ही कुछ खान सर की कहानी है वो बहुत मेहनती हैं अपने जीवन में उन्होंने हर चुनौती का साहस के साथ सामना किया |

Khan Sir Coaching Patna Wale Khan Sir

           जब उनकी कोचिंग में बसंत त्यौहार पर सरस्वती पूजन होता था तो बच्चों के साथ खान सर हिंदू कपड़े पहनकर बड़े हर्षोल्लास के साथ त्यौहार को रीति-रिवाज के अनुसार मनाते थे | हिंदू त्योहारों को मनाने के बाद उनके विरोधियों ने उनको धमकी दी कि हम आपको सरस्वती पूजन नहीं मनाने देंगे | खान सर ने भी अपने विरोधियों को जवाब दिया कि हम सरस्वती पूजन मना कर रहेंगे चाहे आप हमारी जान ले लीजिए हम वो जरूर करेंगे जो हमारे विद्यार्थियों को अच्छा लगता है | सरस्वती पूजन से पहले भी उनको धमकी मिलती थी कि अगर आप पूजन करेंगे तो हम ‘बम ‘फोड़ देंगे फिर भी खान सर ने बिना डरे भव्य तरीके से सरस्वती पूजन किया जिसमें पुलिस प्रशासन की मदद भी ली थी | खान सर को तरह-तरह की धमकियां आती थी कि हम आपको किसी ना किसी तरीके से यहां से भगा कर रहेंगे | खान सर ने उनकी धमकियों को इग्नोर कर दिया फिर अचानक वही हुआ जो उन को धमकी में मिला था | कुछ बदमाश लोग आकस्मिक तरीके से उनकी कोचिंग में घुसे मारपीट की और परेशान किया इसके बाद कोचिंग में अफरा-तफरी मच गई | उनकी कोचिंग में कम से कम बच्चे आने लगे क्योंकि इस हादसे के बाद विद्यार्थियों में दहशत का माहौल था | खान सर  विद्यार्थियों के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं उनका कहना था कि हम अपनी आखिरी सांस तक बच्चों के लिए हमेशा करते रहेंगे | उनकी चाहे है कि वह आखिरी सांस तक स्टेज पर पढ़ाते रहें बच्चों के साथ उनका इतना प्रेम बढ़ गया कि वह पूरी तरीके से बच्चों के करियर को बनाने में अपना जीवन व्यतीत करना चाहते हैं |

खान सर ने मनाया रक्षाबंधन –

दोस्तों खान सर का पेशा एक शिक्षक का है और शिक्षक की कोई जाति या धर्म नहीं होता | दोस्तों खान सर का धर्म मुस्लिम बताया जा रहा है लेकिन खान सर अपनी कोचिंग में किसी भी प्रकार से खुद को धर्म के तराजू में नहीं तौलते है |  उनकी कोचिंग में सभी जाति धर्म संप्रदाय के विद्यार्थी पढ़ने आते हैं और समय के साथ हर त्यौहार को बड़ी धूमधाम से विद्यार्थियों के साथ मनाते हैं | दोस्तों खान सर ने जब अपनी कोचिंग के विद्यार्थियों के साथ रक्षाबंधन के त्यौहार को मनाया तब उनका विरोध करने वाले कुछ लोगों ने खान सर पर निशाना साधा | उनके विरोध करने वालों ने खान सर को चेतावनी दी कि आप रक्षाबंधन को नहीं मना सकते तब खान सर ने उनको जवाब दिया कि हम विद्यार्थियों के साथ हर त्यौहार को बड़ी धूमधाम के साथ मनाएंगे चाहे हमारे प्राण ही क्यों ना चले जाएं | खान सर ने अपने जीवन में आने वाली हर समस्या को बड़े साहस के साथ हराने का प्रयास किया और वो सफल भी रहे |

खान सर ने ठुकराया 107 करोड़ का ऑफर –

खान सर ने Zee हिंदुस्तान टीवी न्यूज़ चैनल पर बताया था कि उनको 107 करोड़ रुपए का ऑफर मिला था जिसमें उनको किसी दूसरी जगह सर पढ़ाने के लिए जाना था | लेकिन खान सर ने इस ऑफर को ठुकरा दिया खान सर का सपना था कि वो गरीब से गरीब बच्चा को बेहतर से बेहतर शिक्षा देने का प्रयास करेंगे उनका यही सपना इस ऑफर को ठुकराने के लिए कारगर साबित हुआ | उन्होंने बताया कि वह अपनी कोचिंग में 150 – ₹200 की फीस रखकर पढ़ाते हैं | ताकि कम फीस में गरीब से गरीब बच्चा बेहतर से बेहतर शिक्षा को प्राप्त कर सके खान सर को 18% जीएसटी, 30% इनकम टैक्स और 20% अन्य टैक्स लगने के बाद भी दे विद्यार्थियों को अच्छी शिक्षा देने की कोशिश करते हैं |

             इतनी कम फीस में पढ़ाने का उनका उद्देश्य है कि प्रत्येक बच्चा पढ़े कोई भी बच्चा अनपढ़ ना रह जाए | उनका मानना है कि देश में कोई” अब्दुल कलाम “बने या ना बने लेकिन कोई ‘अजमल कसाब’ ना बने | खान सर शिक्षा के माध्यम से देश बदलने की सोच रखते हैं उनका मानना है कि शिक्षा के बिना देश कभी नहीं बदल सकता है|

खान सर की लाइब्रेरी –

खान सर ने कोचिंग के साथ -साथ पटना की सबसे बड़ी लाइब्रेरी की स्थापना की ताकि विद्यार्थियों को पढ़ने में बेहतर से बेहतर व्यवस्था उपलब्ध हो सके | खान सर विद्यार्थियों को बेहतर बनाने के लिए शिक्षा से संबंधित हर संभव प्रयास करते हैं और विद्यार्थियों को मोटिवेट करते रहते हैं |

खान सर की कोचिंग पर हमला –

11 मई 2019 को सुबह 9:45 पर खान सर की कोचिंग पर कुछ बदमाशों ने अपने चेहरे बांधकर हमला कर दिया | बदमाशों ने डंडों के द्वारा शिक्षकों और बच्चों को पीटा और परेशान किया | खान सर को कई बार बदमाशों ने चेतावनी दी कि वो खान सर को पटना से किसी भी तरीके से भगा देंगे | लेकिन खान सर कभी डरे नहीं साहस के साथ बदमाशों से डटकर सामना किया |

            खान सर का मानना है कि हमारा जीवन दूसरों के लिए समर्पित होना चाहिए यही हमारे जीवन का लक्ष्य है | 20 मार्च 2022 तक इनका इंस्टिट्यूट सुचारू रूप से चल रहा था इसके बाद लॉकडाउन काल शुरू हो गया तब इन्होंने अपने पुराने यूट्यूब चैनल  Khan GS Reasearch Centre पर वीडियो अपलोड करना शुरू कर दिया ताकि विद्यार्थियों की पढ़ाई बर्बाद ना जाए | खान सर की वीडियो को सेलिब्रिटी अनुपम खेर तक अपने ट्विटर पर शेयर कर चुके हैं |

            खान सर का कहना है – ” तड़पते हुए पत्थरों पर कभी काई नहीं जमती ठहरा हुआ पानी अक्सर खराब हो जाता है | उनका कहना है कि  इंसान को हमेशा ज्ञान की प्राप्ति करते रहना चाहिए |

अमित सिंह कौन हैं?

कुछ लोगों का मानना है कि खान सर का नाम अमित सिंह है लेकिन खान सर ने सोशल मीडिया पर अमित सिंह हो या फैजल खान किसी भी नाम का स्पष्ट रूप से जिक्र नहीं किया है | खान सर के बैंक के डॉक्यूमेंट में अमित सिंह नाम बताया जा रहा है पर अभी तक स्पष्ट नहीं हुआ है |

खान सर का धर्म –

दोस्तों कई शोधों से पता चलता है कि खान सर मुस्लिम धर्म से ताल्लुक रखते हैं परंतु सोशल मीडिया पर भी मुस्लिम धर्म का जिक्र नहीं किया गया है | कई अफवाह में खान सर का धर्म क्या है इस विषय में कई बार न्यूज़ चैनलों के माध्यम से बहस भी हो चुकी है लेकिन खान सर का कहना है कि कि हम हर धर्म से पहले हिंदुस्तानी हैं | उनका कहना है कि इंसान का धर्म उसकी परवरिश पर निर्भर करता है इंसान की जैसी परवरिश होगी उसका धर्म भी वही होगा | खान सर को कई बार उनके धर्म को लेकर सोशल मीडिया पर उनसे बहस भी की गई तब खान सर ने बताया कि किसी शिक्षक को धर्म के तराजू में नहीं तौलना चाहिए |

            खान सर के विद्यार्थियों ने कई बार उनसे पूछा कि आपका नाम क्या है तब खान करने विद्यार्थियों को कभी जालिम खान तो कभी जहीरूद्दीन बताया | कभी-कभी उनके नाम को अमित सिंह बताया जा रहा है तो उन्होंने कहा कि लोग उनको अमित सिंह कह कर बुलाते हैं लेकिन खान सर के नाम की जब पुष्टि नहीं हुई तब विद्यार्थी उनको” खान सर “Title कहकर बुलाने लगे | खान सर विद्यार्थियों को बहुत ही शानदार तरीके से शिक्षित करने का प्रयास करते हैं और धीरे-धीरे खान सर की कोचिंग में आने वाले विद्यार्थियों के साथ- साथ यूट्यूब की दुनिया में पढ़ने वाले और उनके वीडियो देखने वाले सबके लोकप्रिय बन गए |

खान सर के बचपन का नाम –

दोस्तों खान सर के नाम को लेकर वे सोशल मीडिया पर काफी चर्चा में रहते हैं |  खान का  क्या नाम है? अभी तक स्पष्ट रूप से पता नहीं चला है | कुछ लोग बोलते हैं कि बचपन में उनकी मां उनको” विष्णु “कहकर बुलाती थी लेकिन उनका रियल नाम क्या है? यह विवादित विषय बना हुआ है|

खान सर के देशभक्ति शब्द –

” यह आंखें हो जाएं अंधी उसी दिन जो भारत के अलावा सपना देखे किसी का “

दोस्तों आपने अगर खान सर का वीडियो देखा है तब खान सर शुरुआत में “जय हिंद” बोलते हैं और वीडियो के अंत में भी “जय हिंद” बोलते हैं जब किसी देश की मुद्दों पर कोई बात होती है तब वह वीडियो के माध्यम से बहुत ही आसान भाषा में हर समस्या का समाधान बताते हैं | दोस्तों खान सर चाहे किसी नेता के बारे में किसी मुद्दे को समझाएं तब भी वे बेझिझक आसान भाषा में सब कुछ स्पष्ट रूप से समझाने का प्रयास करते हैं | खान सर गलत को गलत और सही को सही बताने में कभी पीछे नहीं हटते है|

Website Home ( वेबसाइट की सभी पोस्ट ) – Click Here
———————————————————-
Telegram Channel Link – Click Here
Join telegram

Leave a Comment