WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

एमपी किसान कर्ज माफी योजना से बाहर होंगे 5 लाख किसान, कहीं आपका नाम तो नहीं सीएम मोहन यादव ने जारी की लिस्ट

किसान कर्ज माफी योजना में कुछ लोगों को बाहर किया गया है अर्थात इस योजना का लाभ मध्यप्रदेश के कई किसानों को नहीं दिया जाएगा इसकी कोई ठोस वजह हो सकती है या फिर सरकार का कोई नया नियम हो सकता है। संभावना यह है कि लगभग 5 लाख किसान ऐसे हैं जिनको इस योजना का लाभ मिल पाना बहुत मुश्किल है और हो सकता है कि नया नियम लागू हो तो कोई भी किसान ना रहे सब का कर्ज माफ कर दिया जाए । आज के आर्टिकल में हम जानेंगे कि कौन से किस है जिनको इस योजना का लाभ नहीं मिल पाएगा और किस कारण से उनको किसान कर्ज माफी योजना से बाहर किया गया है।

किन किसानों को नहीं मिलेगा कर्ज माफी योजना का लाभ?

मध्य प्रदेश के ऐसे किसान जो किसान कर्ज माफी योजना का लाभ लेने के लिए तैयार हैं और पूरी तरीके से डिफाल्टर हो चुके हैं उनके लिए बहुत ही सुनहरा अवसर है । मोहन यादव सरकार के द्वारा अभी यह तय नहीं किया गया है कि किन किसानों को कर्ज माफी योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा लेकिन यह पूरी संभावना है कि अगर कर्ज माफी योजना का लाभ दिया गया तो लगभग मध्य प्रदेश के सभी किसानों को इस योजना का लाभ दिया जाएगा। अगर इस योजना से संबंधित कोई नया नियम लागू होता है और उसमें कोई शर्तें लागू कर दी जाती हैं जो किसान उसे योजना के लिए पात्र ना हो पाएंगे तो ऐसा हो सकता है कि उनका लाभ न मिले ।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

एमपी के कितने किसानों का होगा कर्ज माफ–

मध्य प्रदेश में लगभग 11 लाख किसानों के कर्ज माफी होने की घोषणा की गई है और आगे चलकर यह नहीं कहा जा सकता कि कितने किसानों का कर्ज माफ होगा क्योंकि मध्य प्रदेश में किसान 11 लाख से ज्यादा ऐसे हैं जो कर्ज माफी योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो ऐसे में यह सवाल है कि क्या उनका लाभ नहीं मिलेगा खाने का तात्पर्य यह है कि सभी को लाभ मिलेगा चाहे किस कोई भी हो लेकिन उसके लिए समय पर आवेदन करना अनिवार्य है ।

फसल ऋण माफी योजना का आवेदन कैसे करें?

फसल ऋण माफी योजना का आवेदन करने के लिए आपको शर्तों के आधार पर सभी डॉक्यूमेंट तैयार कर लेना है और इसका आवेदन आप अपनी ग्राम पंचायत के रोजगार सहायक के द्वारा कर सकते हैं । अगर आप अपनी ग्राम पंचायत में इसका आवेदन नहीं कर पाते हैं या फिर आपको इससे संबंधित कोई भी समस्या होती है तो आप ग्राहक सेवा केंद्र पर जाकर भी इस योजना का आवेदन करवा सकते हैं।

और भी पढ़ें –

किसानों के कर्ज में डूबने के कारण–

मध्य प्रदेश में ज्यादातर किसान बहुत बड़े पैमाने पर खेती नहीं करते लेकिन लगभग उनके पास इतनी खेती होती है कि उनको सरकार के द्वारा थोड़ी बहुत कर्ज लेना पड़ता है और कर्ज के रूप में खाद बीज अथवा अन्य चीज लेनी पड़ती हैं जिसका भुगतान वह किसी कारणवश नहीं कर पाए जैसे अकाल, सूखा अथवा किसी प्राकृतिक आपदा के कारण खेती का उत्पादन प्राप्त न होने के कारण। उत्पादन नहीं हुआ और किसानों का कर्ज भी नहीं चुका तो इस तरीके से उनको ब्याज भी लगता है और उनका कर्ज बढ़ भी जाता है आदि ऐसे कई कारण होते हैं जिससे किसान कर्ज में डूब जाता है।

Join telegram

Leave a Comment