WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

कक्षा 10वीं एवं 12वीं के पेपर वायरल करने वालों को होगी जेल : कलेक्टरों को निर्देश जारी

माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा कक्षा 10वीं एवं 12वीं की परीक्षाओं को लेकर तैयारियां पूर्ण कर दी गई है। विद्यार्थियों के लिए दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं। टाइम टेबल 5 महीने पहले ही माध्यमिक शिक्षा मंडल ने जारी किया था। 20 जनवरी को कक्षा दसवीं एवं 12वीं के एडमिट कार्ड भी जारी कर दिए जा चुके हैं।

फर्जी पेपर वायरल करने वालों पर कार्यवाही

अभी हाल ही में माध्यमिक शिक्षा मंडल के निर्देश पर दो आरोपियों को गिरफ्तार भी किया गया है । उन दोनों आरोपियों पर इल्जाम है कि उन्होंने माध्यमिक शिक्षा मंडल के नाम से हूबहू टेलीग्राम चैनल बनाया ताकि विद्यार्थियों को यह लगे कि यह माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल का ही टेलीग्राम चैनल है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

फिर उन्होंने टेलीग्राम चैनल के माध्यम से ₹499 में और ₹599 में कक्षा दसवीं एवं 12वीं के पेपर देने का लालच भी विद्यार्थियों को दिया और तो और विद्यार्थियों ने वार्षिक पेपर प्राप्त होने के लालच में ₹499 एवं ₹599 की पेमेंट भी कर दिए लेकिन विद्यार्थियों को वार्षिक पेपर के नाम पर सैंपल पेपर थमा दिया। विद्यार्थियों की शिकायत पर माध्यमिक शिक्षा मंडल ने एक्शन लिया और भोपाल पुलिस ने उन दोनों आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया।

पेपर वायरल करने वाले शिक्षकों पर होगी सख्त कार्यवाही

माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा पहले ही दिशा निर्देश जारी कर दिया गया था कि यदि इस बार किसी भी शिक्षक का पेपर लीक करने में नाम आता है तो उसको 10 साल की सजा सुनाई जाएगी। माध्यमिक शिक्षा मंडल के इसी निर्देश के बाद शिक्षकों का परीक्षा केंद्र में मोबाइल ले जाना भी प्रतिबंधित किया गया।

माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल ने मध्य प्रदेश के समस्त कलेक्टरों को जागरूकता अभियान चलाने के लिए भी कहा है, कि यदि कोई भी व्यक्ति, ग्रुप, चैनल या टेलीग्राम के माध्यम से वायरल पेपर करने की अपवाह फैलाता है या पेपर वायरल होने की भ्रामक जानकारी फैलाता है तो इस संबंध में उस पर कड़ा से खड़ा एक्शन लिया जाएगा। ‌

Join telegram

Leave a Comment