मप्र पंचायत चुनाव होंगे फरवरी में – एमपी ताजा खबर 15 जनवरी

हाल ही में मध्यप्रदेश में चुनावों को लेकर कई तरह के सवाल लोगों के मन मे आ रहे हैं, लोगो के मन में अलग अलग तरह से कई सारे सवाल उनके मन मे आ रहे है की मप्र में चुनाव प्रक्रिया किस तरीक़े से होगी, इन सभी सवालों के जबाब देने के लिए में आपको इस पोस्ट के माध्यम से बताने वाला हूं।आपको चुनाव के संबंध में बता दूं कि अभी मध्यप्रदेश सरकार ने सभी प्रकार से चुनाव प्रकिया पर पाबंदी लगा दी है, आप सभी इस बात को भली भांति जानते हैं कि ऐसा क्यों किया गया है तो में बता देता हूँ कि देश औऱ राज्य में कोविड के मामले दिनों दिन बढ़ते जा रहे है जिसके चलते यह निर्णय लिया गया था कि अभी चुनाव प्रकिया पूरी तरह से बंद कर दी जाये, अब लोगों के मन मे बहुत सारे विचार आ रहे हैं जैसे कि जब चुनाव करवाने नहीं थे तो इतनी सारी प्रक्रिया क्यो की, तो में बता दूँ की उस समय कोविड के मामलों की संख्या में कोई खास वृद्धि नही हुई थीं परन्तु अब स्तिथि गंभीर हो गई हैं उसी कारण से यह निर्णय लिया गया है।

एमपी बोर्ड ब्रेकिंग न्यूज़ – सभी स्कूल 31 जनवरी 2022 तक बंद – पेपर भी रद्द?

क्या चुनाव पुरानी प्रक्रिया पर ही होंगे या नहीं

आप सभी का एक सवाल यह भी है कि क्या चुनाव इसी तरह से कराए जाएंगे ,
इसके लिए सरकार के द्वारा कोई खास बात तो नहीं की गई हैं अभी तक जितने भी प्रत्याशी जो चुनाव में खड़े हुये थे उनके चिन्ह से लेकर पोस्टर इन सभी मे बहुत सारा पैसा खर्च हो गया हैं तो सरकार को पुरानी प्रक्रिया पर ही चुनाव कराने चाहिए परन्तु चुनाव आयोग ने सभी प्रत्याशी के फण्ड को वापिस लौटने की बात कहीं है औऱ साथ ही सरकार ने इसके लिए अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया हैं कि चुनाव जो पिछले कुछ दिनों पहले होने थे उसी आधार पर करवाएगी। अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है इसका निर्णय सरकार औऱ चुनाव आयोग ही करेगा कि चुनाव उसी आधार पर करवानें हैं या फिर कुछ चीजों को बदल कर।
अभी हो सकता है कि चुनाव की प्रक्रिया में बदलाव किए जायेंगे क्योंकि सरकार के द्वारा सभी के पैसे वापिस करने की बात कहीं गई है।

परिसीमन

परिसीमन के बारे में बता दूँ की परिसीमन क्या है आपको पता होगा कि कई जगहों पर एक से अधिक गांवो को मिलाकर एक पंचायत बना दी जाती हैं ऐसा इसलिए किया जाता है क्योंकि एक गाँव में इतनी जनसंख्या नही होतीं है । अर्थात बोट की संख्या कम होती ही जो सरकार के द्वारा तय की जाती हैं।
इसके लिए सरकार ने पुनः परिसीमन प्रक्रिया प्रारंभ कर दी हैं जिलो के कलेक्टर,सचिव इन सभी से बोटर संबंधित जानकारी देने के निर्देश जारी कर दिए हैं यह जानकारी 15 फरवरी तक देने के निर्देश दिए हैं इसके आधार पर इस बार चुनाव से पहले परिसीमन किया जा सकता हैं जो सरकार ने पिछले नहीं की थी।

संभावित चुनाव तारीख़

इन दिनों सरकार के द्वारा अभी तक यह निर्णय नहीं लिया गया है कि चुनाव कितने दिनों तक कराये जा सकते हैं | कोविड की बिगड़ती स्तिथि के कारण अभी ये कहना मुश्किल है कि कितने समय में चुनाव होंगे जितनी जल्दी कोरोना पर काबू हो जाता है वैसे ही फिर से चुनाव आयोग, जल्द ही अपने सभी कार्यों को पुनः प्रारंभ कर देगी और चुनाव जल्दी करवा दिए जाएंगे। आशा है आपको यहाँ सम्पूर्ण प्रक्रिया समझ मे आ गईं होगी, आपके मन मे जो भी प्रश्न हैं उनको आप कंमेंट बॉक्स में लिखकर हमें पोस्ट करें, हम आपके प्रश्नों के उत्तर देने का हर संभव प्रयास करेंगे।

Website Home

मप्र बोर्ड 31 जनवरी तक सभी स्कूल बंद – पेपर भी रद्द? – पढ़ें आदेश

Join telegram

Leave a Comment