WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

दंदरौआ धाम किस दिन जाएं? इस दिन जानें पर होती है चमत्कार की वर्षा

दंदरौआ धाम जाने के लिए तो आप किसी भी धन जा सकते हैं मगर सबसे ज्यादा जाने वाले व्यक्ति मंगलवार और शनिवार को होते हैं क्योंकि मंगलवार और शनिवार के दिन बालाजी श्री हनुमान जी महाराज का शुभ दिन होता है इस दिन सबसे ज्यादा भीड़ होती है । दंदरौआ धाम में विराजमान डॉक्टर हनुमान के दर्शन करने के लिए देख सकता है में लोग लगभग 2 से 3 लाख दर्शन करने के लिए आते हैं क्योंकि यहां पर बागेश्वर धाम जैसा चमत्कार देखने को मिलता है । आज के आर्टिकल में मैं आपको बताऊंगा कि दंदरौआ धाम के लिए कौन सा दिन बेहतर रहेगा जब आप दर्शन कर सकते हैं ।

दंदरौआ धाम जाने के लिए मंगलवार ,शनिवार का दिन सबसे बेहतर और सबसे खास –

दंदरौआ धाम जाने के लिए मंगलवार इसीलिए सही होता है क्योंकि इस दिन हनुमान जी महाराज के बारे में कहा जाता है किसी की भी अर्जी स्वीकार हो जाती है और प्रार्थना को जल्दी स्वीकार कर लिया जाता है। मंगलवार के अलावा शनिवार के दिन भी पूजा करना उचित होता है एक सप्ताह में केवल यही दोनों दिन है जब डॉक्टर हनुमान जी के दर्शन करने के लिए लोग सबसे ज्यादा आते हैं ।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

इसके अलावा सप्ताह के किसी भी दिन भी अब दर्शन कर सकते हैं ऐसी कोई मानता नहीं है कि अगर आप मंगलवार और शनिवार के अलावा अन्य किसी दिन दर्शन करते हैं तो आपकी अर्जी स्वीकार नहीं की जाएगी। भगवान के दरबार में आप किसी भी दिन जा सकते हैं और दर्शन कर सकते हैं ।

भभूति मिलने का समय–

वैसे तो भभूति आपको किसी भी दिन मिल सकती है लेकिन भभूति मिलने का सही समय मंगलवार के दिन होता है क्योंकि इस दिन धाम पर लाखों की संख्या में लोग डॉक्टर हनुमान के दर्शन करने के लिए आते हैं और इसी वजह से यहां के पंडित के द्वारा अथवा पुजारी के द्वारा भभुति प्रदान की जाती है । इस धाम पर आने वाले श्रद्धालु को डॉक्टर हनुमान के पांच परिक्रमा करने होते हैं इसके बाद भभूती लेनी होती है तो उनका सारा कष्ट दूर हो जाता है।

डॉक्टर हनुमान के दर्शन करने की प्रक्रिया –

दंदरौआ धाम में विराजमान डॉक्टर हनुमान के दर्शन करने के लिए आपको सबसे पहले स्वछता पूर्वक नहा धोकर तैयार होना है और इसके बाद आपको प्रसाद लेकर मंदिर की ओर आगे बढ़ जाना है । मंदिर पर जाने के बाद सबसे पहले आपको डॉक्टर हनुमान जी महाराज के दर्शन करने से पहले पांच परिक्रमा करना है इसके बाद आपको उनके दर्शन करने होते हैं तो आप उनके दर्शन करेंगे और इसके बाद प्रसाद चढ़ाएंगे । प्रसाद चढ़ाने के बाद आप आशीर्वाद के रूप में यहां के द्वारा मिलने वाली भभुती को ले लेंगे ।

दंदरौआ धाम जाने का सही समय –

दंदरौआ धाम जाने के लिए भक्तों का तो प्रतिदिन आना जाना लगा ही रहता है लेकिन एक समय ऐसा आता है जब यहां पर भव्य मेले का आयोजन किया जाता है और लाखों की संख्या में लोग एकत्रित होते हैं और इसी समय यहां पर भागवत कथा का भी आयोजन किया जाता है। मेले के समय पर जब भागवत कथा का आयोजन होता है तब बड़े-बड़े कथावाचक यहां पर एकत्रित होते हैं । दंदरौआ धाम में मेले का आयोजन महाशिवरात्रि के अवसर पर किया जाता है जब मौसम भी सही रहता है और जहां पर लोग दर्शन करने के लिए भी आते हैं ।

Join telegram

Leave a Comment