WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

2024 PDF Download परीक्षा अध्ययन कक्षा 9 एमपी बोर्ड

परीक्षा अध्ययन का महत्व कक्षा 9वीं, परीक्षा अध्ययन कक्षा 9 एमपी बोर्ड 2022-23 With Solution & PDF, Pariksha Adhyayan Class 9 MP Board 2022-23 With Solutions (All Queries Covered)

नमस्कार दोस्तों !

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

आज हम परीक्षा अध्ययन से होने वाले समस्त फायदे बताने वाले हैं किस तरीके से विद्यार्थी परीक्षा अध्ययन को पढ़कर अपनी तैयारी को मजबूत बना सकते हैं ? परीक्षा अध्ययन से होने वाले लाभ और परीक्षा अध्ययन से होने वाले नुकसान के बारे में भी चर्चा करेंगे हालांकि नुकसान नाम मात्र के लिए होता है पढ़ाई कभी भी बेकार नहीं होती हमेशा उससे लाभ ही होता है | परीक्षा अध्ययन क्या है ?कैसे इस किताब को परीक्षा के लिए तैयार किया गया है सभी के बारे में महत्वपूर्ण चर्चा की जाएगी |

🌗 कक्षा 9वीं के विद्यार्थियों को परीक्षा संबंधी ध्यान देने योग्य बातें-

  • ▶️ जितना जल्दी हो सके 9वीं के विद्यार्थियों को यह जान लेने की जरूरत है कि वह अब बड़ी क्लास में पहुंच गए हैं अर्थात उनको यह समझने की जरूरत है कि बड़ी क्लास में बड़ी मेहनत की आवश्यकता है |
  • ▶️ विद्यार्थियों को शुरुआत से ही किसी गाइड की आवश्यकता महसूस नहीं होना चाहिए उनको हमेशा सिलेबस पर ध्यान देना चाहिए |
  • ▶️ विद्यार्थियों को शुरुआत से ही अधिक मेहनत करने की कोशिश करना चाहिए क्योंकि जैसे – जैसे बड़ी क्लास में प्रवेश होगा आपकी मेहनत की आवश्यकता उतनी ही ज्यादा होगी |
  • ▶️ पूरे वर्ष में होने वाली तीनों परीक्षाओं को बराबर महत्व देना चाहिए कई बार विद्यार्थी 9th और 11वीं की कक्षा को ज्यादा महत्व नहीं देते इसका नुकसान उनको आगे जाकर भुगतना पड़ता है |
  • ▶️ परीक्षा त्रैमासिक हो या फिर अर्धवार्षिक दोनों के लिए अच्छी रणनीति बनाकर ही तैयारी करना चाहिए यदि आप इन दोनों परीक्षाओं को अच्छी रणनीति से तैयारी करके देते हैं तो आपकी वार्षिक परीक्षा की तैयारी भी एक अच्छी राजनीति से हो जाती है |

🌗 जरूरत पड़े तो कमजोर विषय की कोचिंग पढ़ें-

दोस्तों आप middle class से उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में प्रवेश कर चुके हैं इसके लिए आपको यदि जरूरत पड़े तो कमजोर विषय की कोचिंग जरूर कर लेना चाहिए |

यदि आप कमजोर विषय (जिस विषय में आप कमजोर हैं)की कोचिंग नहीं करते हैं तो अगले 4 साल तक आप उस विषय में हमेशा कमजोर रहेंगे और उसका कहीं ना कहीं नुकसान उठाते रहेंगे |

आपकी सबसे पहली प्राथमिकता होना चाहिए कि आप सभी विषयों को बराबर महत्व दें और सभी में एवरेज अंक प्राप्त करने की कोशिश करें |

  • 🛑 अध्यापक द्वारा दिए गए होमवर्क को कल पर बिल्कुल भी ना टालें क्योंकि कल पर टालने से कोई भी काम नहीं होता अच्छा विद्यार्थी बनने के साथ-साथ आपको अच्छा अनुशासन भी सीखना होगा |
  • 🛑 प्रत्येक विषय को बेसिक से बढ़ने की कोशिश करें क्योंकि आप जब बेसिक से पढ़ते हैं तो खुद को इंप्रूव करते हैं और बहुत सी चीजें सीखते हैं |
  • 🛑 शुरुआत से ही अपना एक लक्ष्य बनाकर चलें जैसे आपको कक्षा 9वीं में कितने प्रतिशत अंक हासिल करना है इसके लिए शुरूआत से ही अच्छी रणनीति बनाकर बेहतर पढ़ाई करने की कोशिश करें |

यदि आप शुरुआत से ही ऐसा करते हैं तो आने वाली हर क्लास के लिए आप ऐसा करने के लिए इच्छुक रहेंगे आपकी जिज्ञासा हमेशा अधिक अंक पाने की रहेगी |

🌗 9वीं क्लास में परीक्षा अध्ययन का महत्व?

  • ✔️ विद्यार्थी परीक्षा अध्ययन की सहायता से अच्छी परसेंटेज बना लेते हैं क्योंकि परीक्षा अध्ययन में महत्वपूर्ण सेट पेपर दिए जाते हैं जो महत्वपूर्ण प्रश्नों के द्वारा संग्रहित रहते हैं |
  • ✔️ परीक्षा अध्ययन में ब्लू प्रिंट दिया जाता है जिसकी सहायता से तैयारी करने में आसानी होती है क्योंकि ब्लूप्रिंट की सहायता से अनावश्यक अध्याय छोड़ दिए जाते हैं |
  • ✔️ जो अध्याय अध्यापक के द्वारा नहीं पढ़ाए जाते उनको समझने के लिए परीक्षा अध्ययन का अहम योगदान रहता है |
  • ✔️ परीक्षा अध्ययन में प्रत्येक अध्याय का सॉल्यूशन दिया जाता है जहां पर भी विद्यार्थी को किसी प्रश्न में दिक्कत जाती है उसका हल बड़ी आसानी के साथ देख सकता है |
  • ✔️ परीक्षा अध्ययन के तैयारी करने में विद्यार्थी का समय बचा जाता है क्योंकि एक बार सिलेबस खत्म करने के बाद केवल दोहराने का समय परीक्षा अध्ययन से बहुत अच्छा हो जाता है |

🌗 परीक्षा अध्ययन को कैसे सीखें?

परीक्षा अध्ययन को आप खुद से नहीं सीख सकते क्योंकि आप शुरुआत में इसे कठिन महसूस करेंगे ऐसा इसलिए होता है क्योंकि आप पहली बार बड़ी क्लास में प्रवेश लेते हैं |

आपकी पहली आवश्यकता है कि आप अपने अध्यापक की सहायता से इस पुस्तक को समझने की कोशिश करें | कभी भी परीक्षा अध्ययन को रटने की कोशिश ना करें जितना हो सके इसे परीक्षा का सहयोग मानकर अध्ययन करें | आपको ज्यादातर कोशिश यही करना है कि आपको इसकी सहायता ना लेना पड़े |

🌗 परीक्षा अध्ययन को पढ़ने का क्या है सही तरीका?

परीक्षा अध्ययन के पढ़ने का सही तरीका क्या है? यदि इसके बारे में किसी विद्यार्थी को जानकारी नहीं है तो पक्का वह अपना समय नष्ट करेगा क्योंकि सिलेबस खत्म करने से पहले परीक्षा अध्ययन को पढ़ना पूरी तरीके से बेकार होता है |

🌗 ब्लूप्रिंट से करें अध्ययन-

दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं परीक्षा अध्ययन में ब्लू प्रिंट जारी कर दिया गया है इसी की सहायता से आप प्रश्नों का अध्ययन कर सकते हैं |

  • ☛☛ब्लूप्रिंट विद्यार्थियों की परीक्षा की तैयारी में बहुत मदद करता है क्योंकि परीक्षा की तैयारी में लगने वाला समय ब्लूप्रिंट के माध्यम से ही बच जाता है |
  • ☛☛यदि ब्लूप्रिंट नहीं होता तो कई विद्यार्थियों का समय बेकार में बर्बाद होता | ब्लू प्रिंट का परीक्षा की तैयारी में बहुत ही योगदान होता है |

🌗 अगर ब्लूप्रिंट नहीं समझा तो हो सकता है बहुत बड़ा नुकसान-

दोस्तों प्रतिवर्ष जैसे ही ब्लूप्रिंट को अपडेट कर दिया जाता है उसी के अनुसार विद्यार्थी अपनी तैयारी में लग जाते हैं| ब्लूप्रिंट से होता कुछ नहीं है परंतु विद्यार्थियों का समय बदल जाता है क्योंकि अनावश्यक सिलेबस छोड़ देने में मदद होती है | ब्लूप्रिंट से पता चल जाता है कि कौन से अध्याय से कितना आना है उसी तरीके से फिर आगे जाकर तैयारी की जाती है | जो विद्यार्थी ब्लूप्रिंट पर ध्यान नहीं देते उनका समय बर्बाद हो जाता है क्योंकि वह अनावश्यक चीजों को भी सीखने में अपना कीमती समय बर्बाद कर देते हैं |

🌗 कक्षा 9वीं की परीक्षा अध्ययन मार्केट में कब आएगी?

दोस्तों कक्षा नौवीं की प्रत्येक विषय की परीक्षा अध्ययन अक्टूबर महीने के अंतिम सप्ताह तक मार्केट में उपलब्ध हो जाती है | अक्टूबर से वार्षिक परीक्षा तक का समय विद्यार्थियों के लिए बहुत होता है परीक्षा अध्ययन के सहयोग से भी अच्छी तैयारी कर सकते हैं | परीक्षा अध्ययन मार्केट में किसी भी विषय की सॉल्यूशन सहित उपलब्ध हो जाती है वह भी बहुत कम मूल्य पर |

🌗 परीक्षा अध्ययन में दिए जाएंगे सर्वाधिक विकल्प-

परीक्षा अध्ययन की प्रत्येक इकाई से लगभग 35 अंकों तक के वैकल्पिक प्रश्न दिए जाते हैं जो परीक्षा की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण होते हैं | एक साथ सब का सॉल्यूशन भी दिया जाता है जिसकी मदद से परीक्षा की बेहतर तैयारी की जा सकती है|

  • ➜➜परीक्षा अध्ययन से परीक्षा में 2-4 विकल्प ऐसे आते हैं जो कभी भी नहीं मिलेंगे वह विकल्प हमेशा एनसीईआरटी आधारित पुस्तक के कहीं ना कहीं बीच से ही आते हैं |
  • ➜➜इसका सीधा तात्पर्य है कि 100% पेपर एनसीईआरटी पुस्तक से ही आता है बाकी परीक्षा अध्ययन से लगभग 80% पेपर आ ही जाता है |

🌗 ध्यान एकाग्र होकर पढ़ें?

दोस्तों जैसे ही हम किशोरावस्था में प्रवेश करते हैं वैसे ही हमारा मन हर एक चंचल होने लगता है | हमारा मन सबसे ज्यादा जिज्ञासु इसी अवस्था में होता है जब हम 9वीं क्लास में प्रवेश करते हैं | दोस्तों परीक्षा की बेहतर तैयारी के लिए ध्यान एकाग्र करके पढ़ाई करना अति आवश्यक होता है | पढ़ाई करना और ध्यान मग्न होकर पढ़ाई करना इन दोनों में बहुत फर्क होता है |

🌗 ध्यान एकाग्र कैसे कर सकते हैं इसके बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातों पर ध्यान

▶️ ध्यान मग्न होकर पढ़ने के लिए आपको एक निश्चित समय निर्धारित करना होगा वह समय आपके केवल पढ़ने का होना चाहिए ना की किसी और काम के लिए |

▶️ यदि आप कोई भी विषय याद करना चाहते हैं तो उसके लिए आप सुबह का समय सिलेक्ट कर सकते हैं क्योंकि सुबह के समय हमारा मन शांत रहता है | हमारे मन में किसी भी प्रकार का दुष्प्रभाव नहीं रहता इसीलिए चीजें है सुबह जल्दी याद हो जाती हैं |

▶️ जब भी पढ़ाई करें उसके लिए पढ़ाई के प्रति फोकस करना बहुत जरूरी होता है क्योंकि कई बार हम पढ़ाई तो करते हैं परंतु हमारा फोकस पढ़ाई पर नहीं रहता जिस कारण से हमें कोई भी चीज याद नहीं रहती |

▶️ पढ़ाई करने के लिए आपका दिमाग हमेशा स्वस्थ और फुर्तीला रहे इसके लिए समय-समय पर व्यायाम के साथ साथ खेलना भी जरूरी है | खेलने कूदने से हमारे शरीर की एक्टिविटी बनी रहती है|

▶️ पढ़ाई करने का एक सुनिश्चित स्थान होना चाहिए जहां पर आप की कॉपी किताबों के अलावा कोई और चीज नहीं होना चाहिए | यदि यह सब व्यवस्था है तो आप का मन पढ़ाई में ऑटोमेटिक लगेगा|

🌗 विज्ञान की तैयारी करने से पहले ध्यान दें यह बातें-

दोस्तों कक्षा 9वीं के विद्यार्थियों के लिए विज्ञान विषय एक ऐसा विषय है जिसमें भौतिकी, रसायन और बायोलॉजी के साथ-साथ पर्यावरण को भी पढ़ना होता है | विज्ञान की तैयारी करते समय विद्यार्थियों को सबसे जरूरत वाली बात यह होती है कि उनको बेसिक से पढ़ना चाहिए जल्दबाजी में कोई भी अध्याय कभी ना पढ़ें| जल्दबाजी से अध्याय पढ़ने से विद्यार्थी को अध्याय याद नहीं रहता |

हर संभव प्रयास करना है जब भी आप किसी विषय को पढ़ें अथवा अपने अध्यापक के द्वारा बढ़े तो कुछ विषय का नोट्स जरूर बनाते जाएं | आपके खुद के द्वारा बनाए गए नोट्स किसी भी गाइड से बेहतर होते हैं क्योंकि जो आप लिखते हैं वह आपके लिए सर्वोत्तम होता है | आपके खुद के द्वारा लिखी गई चीजें जल्दी याद हो जाती है |

🌗 लिखकर सीखने का प्रयास करें?

दोस्तों कई चीजें ऐसी होती हैं जिनको याद करना बहुत ही कठिन होता है परंतु ऐसा बिल्कुल भी नहीं होता है कि कठिन चीजें हमें याद नहीं होती | यदि कथन चीजें हमें याद नहीं होती तो स्वामी विवेकानंद हजारों किताबों को कभी याद नहीं रख पाते |

किसी भी पुस्तक को लंबे समय तक याद रखने के लिए उसे पूरे कंसंट्रेट तरीके से पढ़कर समय-समय पर रिवीजन करना अति आवश्यक होता है |

आप जिन चीजों को सीखने में कठिनाई महसूस करते हैं उनको लिख लिखकर सीखने का प्रयास करेंगे तो आप जरूर सीख पाएंगे| लिखकर सीखने के बाद हमारे शब्दों के गलत होने की संभावना पूरी तरीके से घट जाती है |

🌗 अगर परीक्षा के लिए कम समय है तो टेंशन बिल्कुल ना लें-

कई बार विद्यार्थियों के पास परीक्षा की अच्छी तैयारी के लिए ज्यादा समय नहीं बचता इसके लिए विद्यार्थियों को परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है | क्योंकि एक अच्छी रणनीति बहुत कम समय में परीक्षा की खास तैयारी करवा देती है |

  • ✅ अच्छी तैयारी करने का सबसे पहला तरीका है आप अपना ज्यादा से ज्यादा समय बचाएं और ज्यादा से ज्यादा समय पढ़ाई में खर्च करें |
  • ✅ जैसे ही विद्यार्थी बड़ी क्लास में पहुंचते हैं तो उनकी सबसे बड़ी मुश्किल यही हो जाती है कि इतना सारा कुछ कैसे याद होगा | दोस्तों ना तो बड़ी कक्षा से घबराना है और ना ही बड़े सिलेबस से आप को सबसे ज्यादा जरूरी है मेहनत | यदि सच्चे मन से रोज मेहनत की जाती है तो विद्यार्थी कठिन से कठिन सिलेबस समय पर खत्म कर देता है |
  • ✅ वर्तमान में परीक्षा की सटीक तैयारी के लिए केशव पब्लिकेशन से परीक्षा अध्ययन को प्रोवाइड कराया जाता है जिसकी सहायता भी विद्यार्थी ले सकते हैं |
  • ✅ आपको 12 घंटे पढ़ने की जरूरत नहीं है परंतु प्रतिदिन पढ़ने की बहुत आवश्यकता है | प्रतिदिन पढ़ते रहने से आपका लेवल धीरे-धीरे उठता जाएगा |

🌗 क्या है सफलता का राज?

दोस्तों सफल होने के लिए केवल एक काम कर लेना हर विद्यार्थी के लिए महत्वपूर्ण होता है और वह होता है अपने काम के प्रति समर्पण| यदि विद्यार्थी अपनी पढ़ाई के प्रति खुद को समर्पित करके पढ़ाई करता है तो वह जरूर सफल होता है | यहां पर समर्पण का अर्थ है आप अपना पूरा ध्यान पढ़ाई में लगाएं इसके बाद आप जरुर सफल होंगे |

🌗 गलतियों को कैसे सुधारें?

दोस्तों परीक्षा अध्ययन कोई ऐसी पुस्तक नहीं है कि उसमें कोई गलती नहीं मिलेगी वह भी प्रिंट होकर आती है सिस्टमैटिक तरीका से प्रश्नों को सेट करके उसे तैयार किया जाता है | परीक्षा अध्ययन में होने वाली गलती को वही विद्यार्थी पकड़ सकता है जिसने सिलेबस को और एनसीईआरटी आधारित पुस्तक को बेसिक तरीका से पढ़ा होगा |

दोस्तों यदि आप से कहीं पर एक बार गलती हो जाती है तो उसे दोबारा दोहराने की कोशिश ना करें आप की पहली आवश्यकता है कि उस गलती को सुधारा जाए |

🌗 परीक्षा अध्ययन को कैसे शुरू करें?

  • ⚫️ परीक्षा अध्ययन को शुरू करने से पहले आपको पढ़ने का सही तरीका पता होना चाहिए | कभी-कभी विद्यार्थी परीक्षा के अनावश्यक कंटेंट को सीख कर अपना कीमती समय बर्बाद कर देता है |
  • ⚫️ सबसे पहले अपने अध्यापक की सलाह जरूर लें क्योंकि आपके लिए आपके अध्यापक से बेहतर परीक्षा की तैयारी कोई नहीं करवा सकता |
  • ⚫️ जब कोई चीज समझ में ना आए तो उसे बार-बार पढ़ें और समझने की कोशिश करें | ऐसा करने से आप एक से अधिक चीजों को सीख पाएंगे |
  • ⚫️ परीक्षा से डरकर कभी हार नहीं मानना चाहिए कभी-कभी विद्यार्थी कम अंक प्राप्त करने के बाद निराश हो जाता है | यदि आपके किसी परीक्षा में औसतन अंक आते हैं तो आपको निराश नहीं होना है बल्कि अधिक अंक लाने के लिए और अधिक मेहनत करना है |
Join telegram

Leave a Comment