WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के फॉर्म 16 जनवरी तक भर जाएंगे, महिला सशक्तिकरण सप्ताह स्पेशल फॉर्म (12 जनवरी)

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का सबसे पहला उद्देश्य यह था कि पूरे देश में हर घर पर रसोई गैस उपलब्ध कराई जाए ताकि ईंधन के माध्यम से होने वाला प्रदूषण भी काम किया जा सके और गांव स्तर पर और शहर स्तर पर चूल्हे के माध्यम से खाना बनाने वाली महिलाओं को राहत मिल सके । हमारे देश के हर परिवार का स्वच्छ जीवन और एकदम बेहतर जीवन हो सके इसके लिए सरकार ने इस योजना की शुरुआत की है क्योंकि हमारे देश में अभी भी ऐसे परिवार मौजूद थे जिनके पास खाना बनाने के लिए रसोई का कोई भी समान नहीं था।

भारत सरकार के द्वारा जब इस योजना की शुरुआत की गई तो करोड़ों सिलेंडर पूरे सामान के साथ वितरित किए गए जिसमें सबसे पहली प्राथमिकता ग्रामीण स्तर पर दी गई और हर परिवार को एक सिलेंडर दिया गया । आज के आर्टिकल में हम बात करते हैं कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का उद्देश्य क्या था और इस योजना के तहत किस तरीके से यदि कोई परिवार लाभ लेने से रह गया है तो आवेदन कैसे कर सकता है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

उज्ज्वला योजना की शुरुआत –

1 मई 2016 को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा इस योजना की शुरुआत उत्तर प्रदेश के बलिया जिले से की गई इस योजना का सबसे पहला उद्देश्य यह था कि जो भी परिवार आर्थिक रूप से कमजोर है और इस प्रकार की योजनाओं का लाभ उसे मिलना चाहिए ताकि उसका भी जीवन एक बहुत ही सुंदर और स्वस्थ तरीके से बीते।

एलपीजी कनेक्शन मध्य प्रदेश –

भारत सरकार के द्वारा अभी तक पूरे कुल मिलाकर 8 करोड़ से ज्यादा इस योजना के माध्यम से गैस कनेक्शन किया गया लेकिन अभी वर्तमान समय में इस योजना को बंद किया गया है हालांकि इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है कि इस योजना को दोबारा से कब स्टार्ट किया जाएगा लेकिन अभी फिलहाल में आवेदन नहीं किया जाएगा। मध्य प्रदेश के नए मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव जी के द्वारा यह आश्वासन दिया गया है की आने वाले समय में उज्ज्वला योजना के लिए भी वेबसाइट खोली जाएगी और आवेदन किया जाएगा।

गैस कनेक्शन करवाने की कीमत –

भारत सरकार के द्वारा चलाई गई योजना उज्वला के तहत किसी भी वर्ग के किसी भी परिवार को कोई राशि नहीं देनी पड़ती उसका गैस कनेक्शन फ्री में सरकार के द्वारा किया जाएगा। इस योजना के तहत यदि किसी सरकारी कर्मचारियों के माध्यम से अथवा अन्य कर्मचारियों के माध्यम से आवेदन करने हेतु कोई रिश्वत मांगी जाती है तो आप उसकी शिकायत कर सकते हैं।

उज्ज्वला योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया–

उज्ज्वला योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया दो तरीके से पूरी की जाती है जिसमें पहली प्रक्रिया यह होती है कि आपका आवेदन स्वयं ग्राम पंचायत के रोजगार सहायक अथवा कार्यकर्ताओं के माध्यम से किया जाएगा जिसमें आधार कार्ड और समग्र आईडी के साथ दो पासपोर्ट साइज फोटो का इस्तेमाल किया जाएगा। इसके बाद फॉर्म भरकर इसका आवेदन तहसील में जमा किया जाएगा इसके बाद ऑनलाइन तरीके से इसका आवेदन हो जाएगा और आधार कार्ड में दिए गए पते के आधार पर इसका गैस सिलेंडर घर पर आ जाएगा और यदि घर पर नहीं आता है तो आपके नजदीकी रसोई गैस केंद्र पर भी आ जाएगा ।

Join telegram

Leave a Comment