WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

स्व सहायता समूह में BC Sakhi पदों पर भर्ती: सैलरी मिलेगी ₹8000

BC सखी का अर्थ होता है बैंकिंग कॉरस्पॉडेंट अर्थात बैंक की सभी सेवाओं के बारे में ग्रामीण लोगों को जागरूक करना BC सखी का प्रमुख कार्य होता है । ग्रामीण इलाकों में बैंकिंग की सेवाओं को पहुंचाने के अलावा बैंक में खाता खुलवाने से लेकर पैसे जमा करने और पैसा निकालने तक की सभी भीम के बारे में लोगों को जानकारी bc सखी के द्वारा ही पहुंचती है। आज के आर्टिकल में हम जानेंगे कि बैंकिंग कॉरेस्पोंडेंस के लिए किसी सखी का रजिस्ट्रेशन किस तरीके से
किया जाएगा और उसकी योग्यता क्या रहेगी?

समूहसैलरीऑनलाइन आवेदन अंतिम तारीख
स्व सहायता समूह₹8000 प्रति महीनाहाँफरवरी तक

BC सखी की नियुक्ति 2023–

BC सखी के लिए नियुक्ति राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत होती है राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के द्वारा इसके लिए पदों की जानकारी का नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है इच्छुक उम्मीदवार इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने के लिए आप राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन की ऑफिशल वेबसाइट पर जाकर कर सकते हैं ।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

BC सखी की नियुक्ति की पात्रता –

  1. बैंकिंग कॉरेस्पोंडेंस के लिए सबसे पहली आवश्यकता है कि महिला को कक्षा दसवीं पास होना चाहिए इसके अलावा भी अगर अन्य ग्रेजुएट भी किया हुआ है तो भी बहुत ही बढ़िया है ।
  2. एक्चुअली बैंकिंग का काम है तो महिला को डिजिटल डिवाइस चलाने का अनुभव होना चाहिए उसकी इतनी समझ होनी चाहिए कि बैंक का कार्य किस तरीके से किया जा सकता है ।
  3. महिला को बैंकिंग के लेनदेन की समझ होनी चाहिए और लोन के बारे में भी अच्छी जानकारी होनी चाहिए क्योंकि लोन देना और उसके बारे में लोगों को समझना बैंकिंग कॉरस्पॉडेंट के पद पर तैनात महिला का ही होता है।

bc सखी की सैलरी –

बैंकिंग कॉरस्पॉडेंट के पद पर तैनात महिला की सैलरी लगभग ₹4000 होती है लेकिन 2024 के समय उनकी सैलरी में बहाली आने वाली है लगभग सैलरी को 8000 से ₹10000 किया जा सकता है । बैंकिंग कॉरेस्पोंडेंस के पद पर तैनात महिला के लिए डिजिटल डिवाइस की जरूरत होती है जिसके लिए लगभग किसी भी इलेक्ट्रिक डिवाइस को खरीदने के लिए ₹50000 तक की आर्थिक सहायता भी प्रदान की जा सकती है ।

bc सखी को मिलने वाला लाभ–

ग्रामीण स्तर पर जितने भी स्वयं सहायता समूह के ग्रुप चलाए जाते हैं उनके लिए किसी भी प्रकार की सहायता के लिए डिजिटल रूप से फंड आता है और उसी का उपयोग करने के लिए बैंकिंग कॉरेस्पोंडेंस के पद पर तैनात महिला को आगे लाया जाता है और इन्हीं का काम होता है कि सभी लोगों को इसके बारे में जानकारी दें कि किस तरीके से इस फंड का उपयोग करना है । महिलाओं को प्रशिक्षण दिए जाने का काम भी बैंकिंग कॉरेस्पोंडेंस के पद पर चयनित महिला का ही होता है जो महिलाओं को यह सीखते हैं कि बैंकिंग की सुविधाओं को किस तरीके से उपयोग में लेना है ।

इन्हें भी पढ़ें –

Join telegram

Leave a Comment