WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

मुख्यमंत्री प्याज प्रोत्साहन योजना 2024 में रजिस्ट्रेशन करके उचित मूल्य बेचें प्याज

मुख्यमंत्री प्याज प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव जी के द्वारा प्याज के क्रय मूल्य और न्यूनतम समर्थन मूल्य के बीच जो अंतर होता है इसके बीच का जो भी खर्च होता है सभी का किसानों के खाते में जमा करना अनिवार्य हो गया है । आज के आर्टिकल में हम जानने का प्रयास करेंगे कि मुख्यमंत्री प्याज प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत किस तरीके से किसानों को इस योजना का लाभ दिया जाएगा और इसका लाभ किन किसानों को मिल पाएगा ।

मुख्यमंत्री प्याज प्रोत्साहन योजना की शुरुआत–

मुख्यमंत्री प्याज प्रोत्साहन योजना की शुरुआत 8 मार्च 2019 को हुई थी जिसमें मुख्य रूप से उद्यान की एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग की अहम भूमिका रही है शुरुआत करने के उद्देश्य माननीय पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी के द्वारा कई तरह के नियम बनाए गए । मुख्यमंत्री प्याज प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत किसानों को वह फायदा मिलता है जिसके बारे में वह कभी भी सोच नहीं सकते थे कई बार प्याज के दाम उनको वैसे नहीं मिल पाते जैसा वह अफोर्ड करते हैं इसीलिए सरकार ने ऐसा फैसला लिया है जिससे किसानों को उनका वह दाम मिल जाए जिसकी वह हकदार हैं ।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

अब किसानों की नहीं बिकेगी कम कीमत पर प्याज–

मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा शुरू की गई मुख्यमंत्री प्याज प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत ऐसे नियम बनाए गए हैं जिसमें कई प्रकार के नियम बनाए गए ताकि किसानों को उनका उचित मूल्य प्राप्त हो सके । कृषि उत्पादन संगठन के साथ-साथ सरकारी समितियां से यह सिफारिश की गई है कि उनके द्वारा उत्पादित की गई प्याज कम कीमत पर ना खरीदी जाए ताकि उनको किसी भी तरीके से हानि ना हो क्योंकि किसान बहुत मेहनत करते हैं और एक बहुत बड़ी मेहनत के बाद ही उत्पादन प्राप्त होता है ।

किसानों को मिलेगा 75% तक का अनुदान–

मध्य प्रदेश में प्याज के उत्पादन के बाद अक्सर देखा जाता है कि मंडियों में जब प्याज बिकने का समय आता है तब प्याज के दामों में भारी गिरावट देखने को मिलती है और किसानों को कई तरह से परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कोई व्यापारी जब अपने ही राज्य में प्याज के उत्पादन को भारी मात्रा में खरीदना है तो वह ₹800 प्रति कुंतल तक रहती है लेकिन जब इसी प्याज को बाहर के राज्य में बेचना पड़ता है तो परिवहन और भंडारण में 75% तक का अनुदान किसानों को दिया जाता है ।

प्याज के उत्पादन से किसानों को फायदा–

प्याज एक ऐसी फसल है जो व्यक्ति के जीवन में बहुत ही अहम भूमिका निभाती है क्योंकि प्याज हमारे दैनिक जीवन में बहुत उपयोगी है और इसका मूल्य भी अन्य सब्जियों की अपेक्षा अधिक होता है। प्याज का उत्पादन मध्य प्रदेश में खंडवा खरगोन से लेकर ग्वालियर तक और नदियों के कई किनारे भारी मात्रा में किया जाता है। प्याज के उत्पादन से किसानों को फायदा इसीलिए होता है क्योंकि कई बार किस इसका भारी मात्रा में स्टॉक कर लेते हैं और समय आने पर इसे बेचने पर मनचाहा दाम प्राप्त करते हैं। प्याज प्रोत्साहन राशि में जल्द से जल्द रजिस्ट्रेशन करलें क्योंकि पोर्टल जल्द ही बंद कर दिया जाएगा। एमपी में मोहन यादव सरकार ने किसानों के लिए कुछ ही समय के लिए खुशखबरी दी है।

इन्हें‌ भी पढ़ें –

Join telegram

Leave a Comment