रीवा जिले के पर्यटन स्थल Rewa History GK & Tourist Places

रीवा जिला रीवा संभाग के अंतर्गत आता है । रीवा संभाग का विस्तार मध्य प्रदेश के उत्तर पूर्व दिशा में है। प्राकृतिक दृष्टि से रीवा संभाग खनिज संसाधनों से भरा हुआ माना जाता है । ऐतिहासिक दृष्टि से रीवा संभाग बघेलखंड का हिस्सा है। वर्तमान में रीवा संभाग के अंतर्गत 4 जिले आते हैं रीवा सतना सीधी सिंगरौली।

रीवा जिले के प्रमुख पर्यटक स्थलMajor tourist places in Rewa district
देशभारत 
राज्यमध्य प्रदेश
संभागरीवा
जिला मुख्यालयरीवा
जिलारीवा
तहसील11
विधानसभा8
जिले का आकारत्रिभुजाकार
जिले की दिशाउत्तर पूर्व
रीवा में बघेल रियासत की स्थापना1400  ईसवी
सफेद शेरों की भूमिरीवा को
एशिया का सबसे बड़ा सोलर पार्करीवा में
रीवा किस नदी पर बसा हैबिछिया नदी पर
मध्य प्रदेश का सबसे ऊंचा जलप्रपातचचाई जलप्रपात
चचाई जलप्रपात किस नदी पर बना हैबीहड़ नदी पर
फारेस्ट गार्ड ट्रेनिंग स्कूलरीवा

Table of Contents

रीवा जिले के प्रमुख पर्यटक स्थल

रीवा जिले के प्रमुख पर्यटक स्थल निम्न है

  • ➡️ विंध्य प्रदेश
  • ➡️ सफेद शेरों की भूमि
  • ➡️ मध्यप्रदेश का दूसरा सबसे बड़ा तालाब
  • ➡️ फॉरेस्ट गार्ड ट्रेनिंग स्कूल रीवा
  • ➡️ टोंस विद्युत परियोजना
  • ➡️ पियावन गिनौची धाम
  • ➡️ रीवा का किला
  • ➡️ बहुटी जलप्रपात
  • ➡️ चचाई जलप्रपात
  • ➡️ वेंकट भवन पैलेस
  • ➡️ रानी तालाब
  • ➡️ देउर कुठार
  • ➡️ पुरवा जलप्रपात
  • ➡️ गोविंदगढ़ महल

▶️ रीवा जिले को विंध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश के गठन से पूर्व ही रीवा विंध्य प्रदेश की राजधानी के रूप में प्रसिद्ध था। आकार की दृष्टि से त्रिभुजाकार रूप से बना हुआ यह जिला मध्य प्रदेश के उत्तर पूर्व में स्थित है तथा रीवा संभाग का मुख्यालय है। रीवा में एक लंबे समय तक बघेल राजवंश का शासन रहा है । बघेल के शासन क्षेत्रों को बघेलखंड के नाम से जाना जाता है। संगीत सम्राट तानसेन अकबर के दरबार में पहुंचने से पहले रीवा के राजा रामचंद्र के दरबारी संगीतकार थे ।

✔️ रीवा में बघेल रियासत की स्थापना सन 1400 ईसवी में हुई थी। लेकिन इनकी मूल राजधानी बांधवगढ़ थी ।

✔️ सन 1957 में रीवा को बघेलखंड की राजधानी बना दिया गया था ।  1812 में बांधवगढ़ रियासत में अंग्रेजी सत्ता के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया था।

▶️ रीवा को सफेद शेरों की भूमि

रीवा जिले के अंतर्गत ही मुकुंदपुर नामक स्थान पर सफेद बाघ सफारी का निर्माण मध्यप्रदेश सरकार कर रही है। रीवा को मध्यप्रदेश में सफेद शेरों की भूमि भी कहा जाता है। यहां पकड़ा गया पहला सफेद शेर मोहन था। इसे पकड़ने का श्रेय गोविंद सिंह को जाता है। भारत सरकार ने मोहन के नाम पर डाक टिकट जारी किया है। रीवा रियासत और बघेल राजवंश के अंतिम राजा मार्तंड सिंह थे जो बाद में यहां के क्षेत्र से सांसद भी रहे। एशिया का सबसे बड़ा सोलर पार्क रीवा जिले में स्थित गुड़ की पहाड़ियों में बनाया जा रहा है।

✔️रीवा नगर यहां बहने वाली बिछिया नदी के किनारे स्थित है।

✔️मध्य प्रदेश का सबसे ऊंचा जलप्रपात चचाई जलप्रपात रीवा में ही बहने वाली बीहड़ नदी के किनारे स्थित है।

 रीवा को सफेद शेरों की भूमि
रीवा को सफेद शेरों की भूमि

▶️ मध्यप्रदेश का दूसरा सबसे बड़ा तालाब

रीवा के गोविंदगढ़ में स्थित तालाब को मध्य प्रदेश का दूसरा सबसे बड़ा तालाब माना गया है। रीवा मध्य प्रदेश में आम अनुसंधान केंद्र के लिए प्रसिद्ध है। रीवा में उगने वाला सुंदरजा आम यहां की विशेषता है। मध्य प्रदेश का एकमात्र सैनिक स्कूल मध्य प्रदेश के रीवा में खोला गया है । मध्य प्रदेश में बघेली भाषा का प्रमुख केंद्र रीवा है। हाल ही में रीवा में क्षेत्रीय भाषा को बढ़ावा देने के लिए कृष्णा राज कपूर ऑडिटोरियम बनाया गया है। रीवा में हर साल महामृत्युंजय के मेले का आयोजन किया जाता है।

✔️मध्य प्रदेश का प्रसिद्ध अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय रीवा में ही स्थित है । चचाई, केवटी और बहुटी  तीनों जलप्रपात रीवा जिले के अंतर्गत ही आते हैं ।

✔️मध्यप्रदेश में चावल कर आंदोलन की शुरुआत रीवा जिले से ही हुई थी। रीवा वर्तमान में सीमेंट और कत्था बनाने की उद्योग के लिए प्रसिद्ध है ।

▶️ फॉरेस्ट गार्ड ट्रेनिंग स्कूल रीवा

मध्यप्रदेश के वन विभाग ने अपना फॉरेस्ट गार्ड ट्रेनिंग स्कूल रीवा में ही खोला है । मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा मात्रा में कोरंडम और डोलोमाइट जैसे खनिज रीवा जिले में ही पाए जाते हैं । वर्तमान में रीवा राज्य का एक प्रमुख अलसी उत्पादक जिला है। रीवा जिले के अंतर्गत 11 तहसीलें और 8 विधानसभा में आती हैं। रीवा में सन 1968 में अवधेश प्रताप विश्वविद्यालय स्थापित किया गया था। रीवा में ठाकुर रणमत सिंह स्टेडियम स्थापित किया गया है ।

✔️मध्य प्रदेश के सबसे ज्यादा जानवर व सबसे ज्यादा गांव रीवा जिले में पाए गए हैं । रीवा लिंग अनुपात मध्य प्रदेश राज्य के लिंगानुपात के बराबर 931 है ।

✔️रीवा में बीहड़ नदी पर मध्य प्रदेश का सबसे ऊंचा जलप्रपात चचाई जिसकी ऊंचाई 130 मीटर है ।

✔️रीवा में सोन नदी पर बाणसागर बांध बनाया गया है । रीवा मध्य प्रदेश का पहला सैनिक स्कूल स्थापित किया गया था।

Read More

▶️ टोंस विद्युत परियोजना

रीवा में प्लास्टिक और सुपारी के खिलौने बनाए जाते हैं। रीवा में ही टोंस विद्युत परियोजना चलाई जा रही है । मध्य प्रदेश का सबसे ज्यादा ग्रामीण आबादी वाला जिला जहां पर आम शोध अनुसंधान केंद्र स्थापित किया गया हैं। रीवा में श्याम शाह मेडिकल कॉलेज स्थापित किया गया है और यही जेपी सीमेंट कारखाना स्थापित किया गया है। जिप्सम के उत्पादन में रीवा प्रथम स्थान पर है।

▶️ पियावन गिनोची धाम

यह एक ऐतिहासिक व प्राकृतिक धार्मिक स्थल है। जो रीवा जिले से 42 किलोमीटर दूर सीमोर की बरदहा घाटी में स्थित है। प्रकृति की खूबसूरती से यह धाम धरती से 200 फीट नीचे और लगभग 800 फीट चौड़े प्राकृतिक सुंदर वनों से घिरा हुआ है। यहां दो अद्भुत जलप्रपात  का संगम है यहां पर अति प्राचीन शिवलिंग मां पार्वती की दिव्य प्रतिमा वा पहाड़ियों पर उकेरी गए प्राकृतिक शैल चित्र हैं जो इस क्षेत्र की गौरव गाथा बताते हैं।

▶️ रीवा का किला

रीवा का किला रीवा के पर्यटन स्थल में से एक है।  इसके पीछे दो नदियां हैं जो इस किले को प्राकृतिक सुंदरता प्रदान करती हैं। इस किले का मुख्य द्वार भारतीय वास्तुकला का बेहतरीन नमूना है। ऐसा माना जाता है कि इस किले का निर्माण सलीम शाह ने करवाया था। जिसने इसे अपूर्ण ही छोड़ दिया था बाद में इसे रीवा के महाराज ने इस किले को पूरा बनाने का कार्य करवाया । इस किले में एक संग्रहालय भी बना है। जहां पर आप  हथियार तोप देख सकते हैं । यह किला अपने इतिहासिक  महत्वता के कारण प्रसिद्ध आकर्षण बना हुआ है।

 रीवा को सफेद शेरों की भूमि

▶️ बहुटी जलप्रपात

बहुटी जलप्रपात सीलन नदी पर स्थित है । इसकी ऊंचाई 198 मीटर यानी 650 फीट के लगभग है। यह जलप्रपात मध्य प्रदेश का सबसे ऊंचा झरना है। यह झरना ऊंचाई से गिरता हुआ झरझर की आवाज करता हुआ इस झरने का दृश्य बड़ा ही मनभावन लगता है। यदि आप प्रकृति प्रेमी है और सुंदर प्राकृतिक नजारों को देखना चाहते हैं तो यह जगह आपके लिए बहुत ही खास है।

▶️ वेंकट भवन पैलेस Rewa

वेंकट भवन पैलेस रीवा शहर की एक शानदार इमारत है। वेंकट भवन पैलेस रीवा शहर में स्थित है। वेंकट भवन पैलेस को बघेल शासकों के द्वारा बनवाया गया था। यह एक सर्वश्रेष्ठ इमारत भी है। महाराजा वेंकटरमन के द्वारा निर्मित इस भवन की देखभाल भी अच्छी तरह से की जाती है । सन 1894 में आकाल के दौरान स्थानीय लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से इस भवन का निर्माण किया गया था । यह भवन 425 वर्ग मीटर के क्षेत्र में स्थित है। इस भवन का निर्माण 1960 में पूरा हो गया था । इस भवन में सीसे के बेहतरीन नक्काशी की गई है । इस भवन के ऊपर की मंजिल में एक शाही हॉल है।

वेंकट भवन पैलेस Rewa
वेंकट भवन पैलेस Rewa

▶️ रानी तालाब

रानी तालाब रीवा के सबसे पुराने तालाबों में से एक है
यह शहर के दक्षिणी भाग में स्थित है। इस जगह को बहुत ही पवित्र जलासय है । माना जाता है कि इस तालाब का निर्माण रीवा के महाराज भाव सिंह के शासनकाल में सन 1675 में करवाया गया था। इस तालाब के बीचों-बीच एक मंदिर स्थित है। इस तालाब के पश्चिम में देवी काली का एक भव्य मंदिर स्थित है। आप यहां पर आ कर के नौका विहार का आनंद भी ले सकते हैं

 रानी तालाब Rewa
रानी तालाब Rewa

▶️ गोविंदगढ़ महल

रीवा पर्यटन में गोविंदगढ़ महल एक मुख्य पर्यटन स्थल है। आप भी इस पर्यटन के अलावा गोविंदगढ़ झील को देख सकते हैं इसी झील के तट पर यह महल बना हुआ है। कहा जाता है कि  गोविंदगढ़ रीवा के महाराज की ग्रीष्मकालीन राजधानी भी हुआ करती थी। इस महल की वास्तुकला बेहतरीन और काबिलियत है। आप यहां पर आकर एक संग्रहालय भी देख सकते हैं। ऐसा कहा जाता है कि भारत का सबसे पहले सफेद बाघ गोविंदगढ़ के जंगलों में ही मिला था जिसे रीवा के महाराज ने इसी किले में रखकर प्रजनन कार्यक्रम के दौरान इसकी संख्या बढ़ाने का कार्य भी किया था।

▶️ चचाई जलप्रपात

यह जलप्रपात रीवा के पास बीहड़ नदी पर स्थित है चचाई जलप्रपात में 120 मीटर से पानी गिरता है
चचाई जलप्रपात बड़ा ही मनमोहक लगता है । यह मध्य प्रदेश का दूसरा सबसे ऊंचाई से गिरने वाला झरना भी है। यहां आकर आप सुंदर व प्राकृतिक नजारा को देखकर काफी अच्छा महसूस कर सकते हैं।

चचाई जलप्रपात Rewa
चचाई जलप्रपात Rewa

▶️ देऊर कोठार

यह एक पुरातात्विक स्थल है यहां आप प्राचीन बौद्ध स्तूपो को देख सकते हैं। 1982 में खोजे गए ये स्तूप लगभग 2000 साल पुराने हैं । और सम्राट अशोक के शासनकाल  से संबंधित है यहां पर कई छोटे स्तूप भी है।

▶️ पुरवा जलप्रपात

पुरवा जलप्रपात रीवा जिले में स्थित है ।पुरवा जलप्रपात रीवा जिले का एक प्रमुख पर्यटक स्थल है।रीवा में ऐतिहासिक इमारतों के अलावा खूबसूरत झरनों की सैर का आनंद का अनुभव भी कर सकते हैं । पुरवा जलप्रपात टोंस नदी पर स्थित है । आप यहां पर परिवार और दोस्तों के साथ घूमने के लिए आ सकते हैं।

रीवा जिले के प्रमुख पर्यटक स्थल संबंधित FAQ’S [ Major Tourist Places in Rewa District FAQ’S ]

1️⃣ मध्य प्रदेश का चचाई जलप्रपात किस जिले में स्थित है?

उत्तर- रीवा

2️⃣ मध्य प्रदेश का बहुति जलप्रपात किस जिले में स्थित है?

उत्तर- रीवा

3️⃣ गोविंदगढ़ महल किस जिले में स्थित है?

उत्तर- रीवा

4️⃣ रीवा जिले में कितनी तहसीलें हैं?

उत्तर- 11

5️⃣ रीवा जिले में कितनी विधानसभा हैं ?

उत्तर- 8

6️⃣ टोंस विद्युत परियोजना किस जिले में चलाई जा रही है?

उत्तर- रीवा

7️⃣ फारेस्ट गार्ड ट्रेनिंग स्कूल किस जिले में स्थित है?

उत्तर- रीवा

8️⃣ मध्य प्रदेश का विंध्य प्रदेश किस जिले को कहा जाता है?

उत्तर – रीवा संभाग

9️⃣ सफेद शेरों की भूमि किस जिले को कहा जाता है?

उत्तर – रीवा

🔟 वेंकट भवन पैलेस किस जिले में स्थित है?

उत्तर- रीवा

Website Home ( वेबसाइट की सभी पोस्ट ) – Click Here
———————————————————-
Telegram Channel Link – Click Here
Join telegram

Leave a Comment