WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

बहुत बड़ी खबर : समग्र आईडी की आधार से केवाईसी करने का आखिरी मौका

यदि आप मध्य प्रदेश के निवासी हैं और मध्य प्रदेश की सभी सरकारी योजनाओं का लाभ लेना चाहते हैं तो आपके पास समग्र आईडी होनी चाहिए। समग्र आईडी परिवार के हर एक सदस्य की अलग-अलग आईडी होती है। परिवार के हर एक सदस्य की समग्र आईडी को आधार कार्ड से लिंक करना मध्य प्रदेश सरकार द्वारा अनिवार्य कर दिया गया है। यदि आपको भविष्य में मध्य प्रदेश की किसी भी योजना का लाभ लेना है तो आपकी समग्र आईडी आधार से लिंक होनी चाहिए, साथ ही साथ समग्र आईडी में मोबाइल नंबर भी लिंक होना चाहिए।

समग्र आईडी से संबंधित महत्वपूर्ण बिंदु

  • समग्र आईडी मैं मोबाइल नंबर लिंक होना चाहिए
  • समग्र आईडी आधार के साथ लिंक होनी चाहिए
  • समग्र आईडी में उपस्थित जानकारी आधार के अनुसार ही होनी चाहिए । समग्र आईडी में नाम जन्मतिथि यह सभी आधार के नाम और जन्मतिथि से हूबहू एक समान होनी चाहिए।

आपको याद होगा लाडली बहना योजना के समय मध्य प्रदेश सरकार द्वारा समग्र आईडी में मोबाइल नंबर और समग्र आईडी के आधार के साथ केवाईसी अनिवार्य कर दिया गया था। कुछ समय बाद मध्य प्रदेश के पेंशनधारी बुजुर्गों के लिए भी समग्र और आधार की केवाईसी को अनिवार्य कर दिया गया था। लेकिन अब मध्य प्रदेश सरकार द्वारा बहुत ही बड़ा निर्णय लिया गया है। समग्र आईडी में मोबाइल नंबर लिंक होना और आधार कार्ड लिंक होना अनिवार्य कर दिया गया है। यदि आप मध्य प्रदेश की किसी भी योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो आपका आधार और मोबाइल नंबर समग्र आईडी में लिंक होना आदि आवश्यक है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

यदि आप मध्य प्रदेश की महत्वाकांक्षी योजनाओं में जैसे संबल कार्ड बनवाना चाहते हैं, राशन कार्ड बनवाना चाहते हैं, मनरेगा में शामिल होना चाहते हैं, तेंदूपत्ता संग्रहण करना चाहते हैं, ई उपार्जन गेहूं बिक्री रजिस्ट्रेशन करना चाहते हैं, कोई भी मध्य प्रदेश की स्कॉलरशिप योजना का लाभ लेना चाहते हैं, इन सभी महत्वाकांक्षी योजनाओं के लिए समग्र आईडी में मोबाइल नंबर लिंक और आधार कार्ड लिंक होना अनिवार्य कर दिया गया है।

ये खबरें भी पढ़िए-

Join telegram

Leave a Comment