WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Class 9th Sanskrit Annual Exam 20 March 2024 MP Board

🌗 संस्कृत–

▶️ व्याकरण—

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

व्याकरण संस्कृत विषय का बहुत बड़ा भाग है इसमें कई तरह की अध्याय देखने को मिलते हैं और सभी से प्रश्न भी परीक्षा में देखने को मिलते हैं जिसमें से त्रैमासिक परीक्षा में कितना महत्वपूर्ण है विद्यार्थियों के लिए वह इस प्रकार है –

कक्षा 9 वी संस्कृत की तैयारी कैसे करें 
कक्षा9 वी 
विषयसंस्कृत 
बोर्डMadhya Pradesh board
सत्र 2024
परीक्षा की तैयारी कैसे करेंसिलेबस के अनुसार और ब्लूप्रिंट के आधार पर
पूरे सिलेबस में से कितने पर्सेंट सिलेबस पूछा जाएगा 28 persent 
समय3 hour
माध्यमसंस्कृत

➜संधि और उसके प्रकार–

दोस्तों त्रैमासिक परीक्षा के लिए संधि की परिभाषा और संधियों के प्रकार तथा उनके उदाहरण सभी महत्वपूर्ण हैं । संधि के किसी भी एक प्रकार को विस्तृत रूप से भी पूछा जा सकता है जिसमें से संधि का संपूर्ण वर्णन सीखना विद्यार्थी के लिए महत्वपूर्ण हो जाता है ।

➜शब्द रूप–

दोस्तों संस्कृत के शब्द रूप विद्यार्थी के लिए बहुत महत्वपूर्ण होते हैं हालांकि त्रैमासिक परीक्षा के लिए भी शब्द रूप बहुत महत्वपूर्ण है ।

➜धातु रूप–

दोस्तों धातु का अर्थ होता है क्रिया जिसे संस्कृत में धातु कहा जाता है और हिंदी में क्रिया कहा जाता है । धातु को पूर्ण रूप से सीखना त्रैमासिक परीक्षा के लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि धातु के प्रकार और उनके उदाहरण इस परीक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण है, कहीं से भी प्रश्न पूछा जा सकता है ।

➜उपसर्ग–

दोस्तों संस्कृत में उपसर्ग बहुत महत्वपूर्ण होते हैं क्योंकि इनसे जुड़े हुए शब्दों के प्रश्न भी परीक्षा में देखने को मिलते हैं। यदि आप उपसर्ग को सीख लेते हैं तो आप परीक्षा में आने वाले अन्य प्रश्नों को भी हल कर सकते हैं ।

उपसर्ग के माध्यम से संस्कृत के कई शब्दों के अर्थ स्पष्ट रूप से प्रकट होते हैं यदि विद्यार्थी उपसर्ग सीख लेता है तो संस्कृत में आने वाले प्रश्नों के अर्थ जानने में आसानी हो जाती है ।

➜ अव्यय –

परीक्षा में अव्यय भी कक्षा नौवीं के छात्रों के लिए अति महत्वपूर्ण है क्योंकि यहां से प्रश्न पूछा ही जाएगा ।

➜निबंध लेखन–

दोस्तों संस्कृत विषय में कक्षा 9वीं के छात्रों के लिए निबंध लिखना अति महत्वपूर्ण होता है परीक्षा के लिए संस्कृत भाषा पर निबंध आने की पूरी संभावना है ।

संस्कृत भाषा के अलावा अन्य विषयों पर भी निबंध पूछे जा सकते हैं संस्कृत में निबंध लिखते समय विद्यार्थी को सबसे महत्वपूर्ण इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि शब्द कहीं भी गलत ना हो ।

➜पत्र लेखन–

संस्कृत में पत्र लेखन भी परीक्षा के लिए महत्वपूर्ण है इसमें दोनों प्रकार के पत्र पूछे जा सकते हैं औपचारिक पत्र और अनौपचारिक पत्र ।

पत्र लेखन में आमंत्रण पत्र , निमंत्रण पत्र दोनों ही परीक्षा में पूछे जा सकते हैं ।

संस्कृत विषय की तैयारी के लिए विद्यार्थी कौन-कौन से तरीके अपना सकता है –

↪️ संस्कृत में सबसे पहले विद्यार्थी के लिए जरूरी है कि इसकी व्याकरण को समझें और सीखे व्याकरण सीखने के बाद विद्यार्थी संस्कृत को आसानी से समझ सकता है ।

↪️ संस्कृत को हल्के में नहीं लेना चाहिए कई विद्यार्थी इस विषय को बहुत ही छोटा समझ लेते हैं और बाद में तैयारी अच्छी ना होने के कारण परीक्षा परिणाम से निराश रहते हैं ।

↪️ संस्कृत की व्याकरण में धातु रूप, प्रत्यय, उपसर्ग, संधि ,समास आदि को समझ कर ही केवल याद रखा जा सकता है ।

↪️ संस्कृत को रटने की बिल्कुल भी कोशिश ना करें क्योंकि रटी हुई चीज हमेशा याद नहीं रहती वह बाद में भूल जाती है ।

कक्षा 9वी संस्कृत परीक्षा 2022 की तैयारी

हेलो दोस्तों आज मैं आपको बताने जा रहा हूं कि आप कक्षा 9वी संस्कृत सब्जेक्ट की तैयारी किस प्रकार से करें इसके बारे में मैं आपको विस्तृत जानकारी दूंगा।

दोस्तों मैं आपको बताना चाहता हूं कि आप मध्य प्रदेश बोर्ड के नौवीं कक्षा की संस्कृत परीक्षा 2022 की तैयारी किस प्रकार से करें । दोस्तों सबसे पहले आपको ध्यान देना है कि आपको अपनी तैयारी टारगेट के हिसाब से करना है। कक्षा नौवीं की संस्कृत विषय में जितना सिलेबस आपको स्कूल में पढ़ाया जाएगा। आपका उतना ही सिलेबस परीक्षा 2022 में पूछा जाएगा। दोस्तों परीक्षा उतनी ज्यादा कठिन नहीं होती हैं क्योंकि उसमें संस्कृत के कुछ ही यूनिट को लिया जाता है। पूरी यूनिटे परीक्षा में नहीं आती हैं क्योंकि आप का सिलेबस जब तक पूरा नहीं हो पाता तो उन के द्वारा उतनी ही पेपर में यूनिट दी जाती है या उतने ही प्रश्न पूछे जाते हैं जितने कि आप को पढ़ाया गया होगा। घबराने की कोई बात नहीं है । आप अपने सिलेबस को बहुत अच्छी तरीके से तैयार करें और पढ़ाई को कंटिन्यू बनाए रखें। पढ़ाई कंटिन्यू करें तो आपको इसमें एक फायदा होगा कि आपका रूटीन बना रहेगा और आपका इसमें गैप नहीं लगेगा तो आपको जितना भी आप पढ़ेगे आपको चीजें क्लियर हो जाएंगी।

✔️पढ़ाई में गैप ना लगाएं

आप इस चीज का ध्यान रखें कि आपको उसमें गैप नहीं देना है । आपनी पढ़ाई को निरंतर बनाए रखना है तो आप इस प्रकार से अपने सिलेबस को बहुत अच्छे तरीके से तैयार कर सकते हैं और त्रैमासिक परीक्षा 2022 में संस्कृत के सब्जेक्ट में अच्छे नंबर ला सकते हैं। यह आपके लिए एक सुनहरा अवसर होता है कि आप अन्य बच्चों की अपेच्छा उच्च श्रेणी में परीक्षा को पास कर सकें। इसके बाद फिर आपके ऊपर निर्भर करता है कि आप कितनी पढ़ाई करते हैं । यदि आप अपनी पढ़ाई को अच्छे तरीके से करते हैं तो आपको उच्च श्रेणी का स्थान प्राप्त होगा।

✔️ फ्री मोड में पढ़ाई करें

यदि आपको किसी भी प्रकार की कोई चीजें समझ में नहीं आती हैं तो आजकल टेक्नोलॉजी की दुनिया और डिजिटल दुनिया हैं। आप अपने मोबाइल के माध्यम से भी बहुत सी जानकारी ले सकते हैं और जो आपको समझ में नहीं आ रहा है उसे यूट्यूब के माध्यम से समझ सकते हैं। आपके यूट्यूब मोबाइल में सिलेबस से संबंधित बहुत जानकारी मिल जाएगी । आपको यदि ऑफलाइन समझ में नहीं आता हैं तो आप ऑनलाइन का भी सहारा ले सकते हैं। वैसे तो कुछ ही समय पहले लॉकडाउन जैसी स्थिति लगातार 2 वर्षों से बनी रही है। तो उसमें बहुत से बच्चे ऑनलाइन तरीके से ही घर में बैठ करके पढ़ाई कर रहे थे । लेकिन फिर से स्कूल ओपन हो गए हैं। बहुत से बच्चों को ऑनलाइन पढ़ने का तरीका बहुत ही अच्छा लगा और उनको ऑनलाइन पढ़ने में हैबट बन गया। ऑनलाइन के माध्यम से आप कहीं भी बैठ करके पढ़ सकते हैं। इसमें किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं जाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर भी बेस्ट टीचर उपलब्ध रहते हैं। ऑनलाइन के माध्यम से आपको सभी सब्जेक्ट के वीडियो अपलोड मिल जाएंगे तो आपको जो भी चीजें समझ में नहीं आती हैं तो आप ऑनलाइन का सहारा लीजिए और अपनी पढ़ाई को उच्च स्तर तक पहुंचाइए है ।

✔️ ऑफलाइन तरीके से समझ में ना आए तो ऑनलाइन तरीका अपनाएं

पहले तो आपको ऑफलाइन तरीका ही अपनाना है फिर इसके बाद यदि आपको समझ में नहीं आता है तो आपको ऑनलाइन तरीका अपनाना है। कोरोना काल की स्थिति में बच्चों की काफी पढ़ाई प्रभावित हुई है। क्योंकि कोरोना काल में स्कूल खुले ही नहीं है और यदि खुले हैं तो उसमें बच्चे नहीं गए क्योंकि सभी को डर लग रहा था कि कहीं कोरोनावायरस ना हो जाए। कोरोना एक बेहद गम्भीर बीमारी है । देश में बच्चों का स्कूल जाना कोरोना के समय सुरक्षित नहीं था। इसलिए सरकार ने फैसला लिया कि बच्चे ऑनलाइन तरीके से ही पढ़ाई करें । जब से कोरोना लगा तब से ऑनलाइन की डिमांड भी बहुत ज्यादा बढ़ गई।

✔️ समय का बहुत ध्यान दें

दोस्तों आपको इस चीज का विशेष ध्यान देना है कि परीक्षा में संस्कृत का पेपर थोड़ा बड़ा होता है। तो आपको उसमें समय का बहुत ज्यादा ध्यान देना है। संस्कृत के पेपर में क्वेश्चन भी ज्यादा रहते हैं। इस प्रकार यदि आप समय का ध्यान नहीं रखते हैं तो आपको समय कम पड़ सकता और आपको पेपर सॉल्व करने में समस्या हो सकती है तो आपको इस चीज का विशेष ध्यान देना है।

✔️ पेपर में हमेशा शुद्ध लिखें

दोस्तों आपको एक और ध्यान देना है कि आपको शुद्ध लिखना है गलत नहीं लिखना है क्योंकि आपके अशुद्ध लिखने से नंबर काट लिए जाते है। जिससे आप के परीक्षा परिणाम में नंबर कम आते हैं और कई बच्चे फेल भी हो जाते हैं। इस चीज का ध्यान दें कि आपको शुद्ध लिखना है। आपके लिखने का तरीका गलत नहीं होना चाहिए नहीं तो आप के अंक काटे जा सकते हैं।

✔️ पेपर का पैटर्न

दोस्तों आपका संस्कृत पेपर का पैटर्न इस तरह से रहेगा

⏺️इसमें पहले खंड में आपको बहुविकल्पीय प्रश्न मिलेंगे।
⏺️ बहुविकल्पीय प्रश्न एक- एक नंबर के होगे।
⏺️ दूसरे खंड में आपको अति लघु उत्तरीय प्रश्न मिलेंगे
⏺️ अति लघु उत्तरीय प्रश्न 2 -2 नंबर के पूछे जाएंगे
⏺️ अति लघु उत्तरीय प्रश्नों का उत्तर आपको प्रत्येक प्रश्न का उत्तर 30 शब्दों में लिखना होगा
⏺️ तीसरे खंड में लघुउत्तरीय प्रश्न में रहेंगे
⏺️ लघु उत्तरीय प्रश्नों में प्रत्येक प्रश्न का उत्तर आपको 75 शब्दों में लिखना होगा
⏺️ लघु उत्तरीय प्रश्न 3 -3 नंबर के पूछे जाएंगे
⏺️ चौथी खंड में विश्लेषणात्मक प्रश्न पूछे जाएंगे
⏺️ विश्लेषणात्मक प्रश्न 4- 4 नंबर के पूछे जाएंगे।को
⏺️ विश्लेषणात्मक प्रश्नों के उत्तर आपको 120 शब्दों में देने होंगे।
⏺️ वस्तुनिष्ठ प्रश्न 40 परसेंट प्रश्न होंगे
⏺️ पाठ्यवस्तु पर आधारित 40 परसेंट प्रश्न होंगे
⏺️ विश्लेषणात्मक पर आधारित 20 परसेंट प्रश्न होंगे

✔️ पेपर पूरा सॉल्व करें

आपको जिस खंड से अच्छा लगे आप उस खंड से पेपर को हल करना शुरू कर सकते हैं लेकिन दोस्तों आपको पेपर पूरा हल करना है इस चीज का आपको ध्यान देना है। दोस्तों यदि आपको कोई चैप्टर कठिन लगे तो आप उसे रट करके ना जाएं। याद करें उसे आप समझने का प्रयास करें और समझ कर के ही पढ़ें तो आपको हर चीज जल्दी याद हो जाएगी और समझी हुई चीजें ज्यादा समय तक याद रहती हैं जो चीजें आप रटते हैं वह जल्दी भूल जाते हैं तो आपको यदि कोई चीज समझ में नहीं आती है और आपको लगता है कि यह कठिन है तो उसे समझ करके ही पढ़ना अच्छा होता है।

✔️ अपनी पढ़ाई को कंटिन्यू बनाए रखें

दोस्तों रिवीजन का बहुत ज्यादा ध्यान दें क्योंकि संस्कृत विषय ज्यादा कठिन नहीं होता है लेकिन यदि आप रिवीजन नहीं करते हैं तो आपको यह कठिन जरूर लगेगा तो आप इस चीज का बिल्कुल ध्यान दें की आप रिवीजन कंटिन्यू करते रहें जिससे कि आपको चीजें क्लियर हो जाएंगे और पेपर में कोई भी प्रश्न किसी भी प्रकार से आ जाए तो आपको कोई इसमें दिक्कत नहीं जाएगी।
जैसे कि एक कहावत है

“करत करत अभ्यास ते जड़मति होत सुजान।
रसरी आवत जात है सिल पर होत निशान”।।

इसी प्रकार से ही पढ़ाई होती है आप जितना अभ्यास करेंगे उतनी ही देर तक आपको चीजें याद रहेंगी क्योंकि यह प्रकृति का नियम ही है जिस चीज को आप ज्यादा देखेंगे और पढ़ेंगे वह चीजें आपको ज्यादा समय तक याद रहेंगी । फिर भी यदि आपको समझ कर पढ़ने में याद नहीं होता तो आप उसे लिखकर भी याद करें क्योंकि लिखकर के याद की हुई चीजें बहुत लंबे समय तक रहती हैं।

✔️ ब्लूप्रिंट के आधार पर पढ़ाई करें

दोस्तों आपको पुराने पेपरों के आधार पर पढ़ाई करना जिस प्रकार से पुराने पेपर आते हैं उसी के आधार पर पढ़ाई करें और सिलेबस के हिसाब से ही पढ़ाई करें। पुराने पेपरों का आपको रिवीजन करते रहना है। पुराने पेपर आपको सॉल्व करना है जिससे कि आपकी पढ़ाई और मजबूत होगी और आपकी बहुत सी चीजें क्लियर हो जाएंगी। पुराने पेपर लगाने से आपकी याददाश्त और पढ़ाई में निखार आता है और आप पुराने पेपर लगाने से आपका पेपर जल्दी सॉल्व हो जाएगा तो आपको ध्यान देना है कि आपको पुराने पेपर लगाना है।

सिलेबस के आधार पर पढ़ने से हमें यह पता लग जाता है कि किस यूनिट से क्या आना है क्या नहीं आना है और हम उसी के आधार पर पढ़ाई करते हैं इससे हमको ज्यादा मेहनत भी नहीं करनी पड़ती और हमारा सिलेबस भी पूरा कंप्लीट हो जाता है तो आप इस प्रकार से सिलेबस के आधार पर ही पढ़ाई करें।

FAQ

☑️ पढ़ाई कैसे करें?
उत्तर- अपनी पढ़ाई को निरंतर बनाए रखें कोशिश करें कि सुबह 4:00 बजे उठकर के पढ़ने लगे।

☑️ परीक्षा में संस्कृत का पेपर किस प्रकार से आएगा?
उत्तर- त्रैमासिक परीक्षा 2024 संस्कृत का पेपर ब्लूप्रिंट के आधार पर आएगा।

☑️ संस्कृत का पेपर पूरे सिलेबस में से कितना पर्सेंट पूछा जाएगा?
उत्तर- परीक्षा में संस्कृत का पेपर 33 परसेंट पूरे सिलेबस में से पूछा जाएगा।

☑️ ऑनलाइन पढ़ाई करें या ऑफलाइन करें?
उत्तर- ऑनलाइन तरीके से यदि आपको समझ में आए तो ऑनलाइन तरीका अपनाएं यदि ऑफलाइन तरीका आपको अच्छा लगे ऑफलाइन पढ़ाई करें तो अपने तरीके से पढ़ाई करें।

Join telegram

Leave a Comment