बागेश्वर धाम की कथा अभी कहां हो रही है? Bageshwar Dham Katha

बागेश्वर धाम सरकर की कथा कहां हो रही है, बागेश्वर धाम की कथा, Where is the Katha of Bageshwar Dham happening now?

नमस्कार दोस्तों !

आज की पोस्ट में हम बात करने वाले हैं बागेश्वर धाम सरकार की कथा कहां पर हो रही है ? बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पंडित श्री धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी ने कितने दिन का दिव्य दरबार लगाने की घोषणा की है सभी प्रकार की बातों पर चर्चा करेंगे । दोस्तों जहां पर कथा हो रही है वहां पर बागेश्वर धाम सरकार कितने दिन रुकने वाले हैं इस कथा के बाद बागेश्वर धाम सरकार अगली कथा कहां पर होने वाली है। बागेश्वर धाम सरकार की कथा कौन से स्थान पर हो रही है? बागेश्वर धाम सरकार के द्वारा श्री राम कथा की जा रही है या फिर श्रीमद् भागवत कथा की जा रही है सभी प्रकार की बातों पर विस्तृत रूप से अध्ययन करेंगे ।

✭बागेश्वर धाम सरकार अगली कथा की जानकारी

बागेश्वर धाम सरकार के द्वारा 26 सितंबर से 4 अक्टूबर तक ब्रिटेन के लंदन में कथा की जाएगी । दोस्तों लंदन में लोगों की संख्या बहुत कम होती है क्योंकि कथा सुनाने के लिए ज्यादातर भारतीय एकत्रित होते हैं । केवल 10– 15% लोग ऐसे होते हैं जो ब्रिटेन के होते हैं नहीं तो कथा में केवल भारतीय लोग ही शामिल होते हैं ।

बागेश्वर धाम सरकार से मिलने का बहुत ही सुनहरा मौका है यदि कोई व्यक्ति विदेश जाकर बागेश्वर धाम सरकार से मिलता है तो विदेश में बागेश्वर धाम सरकार से जाकर आसानी से भेंट की जा सकती है क्योंकि विदेश में भारतीयों की संख्या बहुत कम होती है ।

✭ललितपुर बागेश्वर धाम सरकार कथा कैंसिल क्यों हुई

9 अक्टूबर से 17 अक्टूबर 2022तक उत्तर प्रदेश के जिला ललितपुर में बागेश्वर धाम सरकार के द्वारा भव्य श्री राम कथा होने जा रही थी परंतु कुछ व्यवधान उत्पन्न होने के कारण ललितपुर की कथा को बागेश्वर धाम सरकार ने स्थगित कर दिया है ।

ललितपुर की कथा स्थगित करने का सबसे बड़ा कारण था कि बागेश्वर धाम सरकार की रस्म रेट लिस्ट के जारी पोस्टर जो कि इंटरनेट पर बहुत तेजी से वायरल हो गए थे । बागेश्वर धाम सरकार कभी भी किसी से किसी भी प्रकार से पैसे नहीं मानते परंतु यदि कोई बागेश्वर धाम सरकार को पैसे अपनी इच्छा से भेंट करना चाहता है तो कर सकता है ।

✭काशी बनारस कथा

दोस्तों वर्तमान में बागेश्वर धाम सरकार अपनी पूरी टीम के साथ उत्तर प्रदेश के काशी बनारस में भव्य श्रीमद् भागवत कथा हो रही है जिसमें लाखों श्रद्धालु लोग शामिल हुए हैं । बागेश्वर धाम सरकार की कथा सुनाने के लिए काशी बनारस के आसपास के सभी लोग डेरा डाल के सुन रहे हैं। बागेश्वर धाम सरकार ने दिव्य दरबार का भी आयोजन किया है जिसमें लोगों को बिना टोकन का ही लाभ मिल रहा है।

✭121 कन्या विवाह 2023

बागेश्वर धाम सरकार ने बताया है कि इस बार 2023 में बागेश्वर धाम आश्रम पर 121 सामूहिक नि:शुल्क कन्या विवाह का आयोजन किया जाएगा जिसमें 2 महीने पहले रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी ।

✭काशी बनारस में हुई घनघोर बारिश

दोस्तों को उत्तर प्रदेश के बनारस की पावन धरा पर बागेश्वर धाम सरकार की कथा के चलते घनघोर बारिश हुई लेकिन फिर भी लोगों का काफिला जमा रहा लोग इधर-उधर हिले तक नहीं । बड़ी ही सूझबूझ के साथ और तगड़ी व्यवस्था काशी बनारस में कथा के लिए की गई ताकि सैकड़ों लोग एक साथ बैठ सकें। दोस्तों बागेश्वर धाम सरकार के द्वारा काशी बनारस में बड़े ही हर्ष के साथ कथा हो रही है साथ ही बारिश भी रुकने का नाम नहीं ले रही लेकिन फिर भी सैकड़ों लोग कथा का आनंद ले रहे हैं ।

✭13 सितंबर और 14 सितंबर का दिव्य दरबार

दोस्तों 13 सितंबर को सैकड़ों लोगों ने निशुल्क देव दरबार का लाभ लिया और पूज्य गुरुदेव पंडित श्री धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी से आशीर्वाद लिया । 13 सितंबर के बाद 14 सितंबर को भी बागेश्वर धाम सरकार के द्वारा दिव्य दरबार का आयोजन किया गया जिसमें सैकड़ों लोगों की अर्जी स्वीकार की गई और उनकी समस्या को दूर किया गया । दोस्तों बागेश्वर धाम सरकार ने बताया है कि सितंबर महीने के अंतिम सप्ताह तक बागेश्वर धाम में टोकन डाले जा सकते हैं । टोकन डालने की जानकारी बागेश्वर धाम के ऑफिशियल यूट्यूब चैनल के माध्यम से स्वयं बागेश्वर धाम सरकार के द्वारा बता दी जाएगी ।

✭काशी बनारस कथा स्थल

संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय काशी बनारस का काफी पुराना विश्वविद्यालय है इसी विश्वविद्यालय में बागेश्वर धाम सरकार के द्वारा दिव्य कथा का आयोजन किया जा रहा है । इस विश्वविद्यालय का क्षेत्रफल काफी बड़ा है जिसमें सैकड़ों लोग एक साथ बैठ सकते हैं । दोस्तों काशी बनारस कथा स्थल की तैयारियां बहुत पहले से चल रही थी ।

शुरुआत में काशी बनारस में श्रीमद् भागवत कथा बागेश्वर धाम सरकार की संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय में नहीं होनी थी जहां पर कथा का आयोजन होना था वहां से कैंसिल हो गई थी । कथा का आयोजन कैंसिल होने के बाद काशी बनारस के काफी पुराने विश्वविद्यालय जिसे संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय कहा जाता है इसी में इस कथा का आयोजन किया गया जो 11 सितंबर से 18 सितंबर 2022 तक चलेगा ।

✭अष्टोत्तर श्रीमद् भागवत कथा काशी बनारस

दोस्तों बागेश्वर धाम सरकार कथा सुनाने के लिए बुंदेली भाषा का प्रयोग करते हैं जिसके चलते लोग बहुत ही आनंदित होते हैं । दोस्तों बुंदेलखंड क्षेत्र के अंतर्गत काफी क्षेत्रफल आता है जिसमें बुंदेली भाषा को बहुत ही अच्छे ढंग से लोग पसंद करते हैं । वर्तमान समय में भले ही लोग अन्य भाषाओं का प्रयोग करते हैं परंतु अपनी क्षेत्रीय भाषा को कभी नहीं छोड़ते ।

बागेश्वर धाम सरकार का कहना है कि हम जिस भाषा में पले बढ़े उसी भाषा में हमें रहना चाहिए प्रयोग हम भले ही समय-समय पर अन्य भाषाओं का कर सकते हैं । बागेश्वर धाम सरकार का कहना है कि हमें अपनी बुंदेली भाषा को गौरवान्वित करना चाहिए इसे विकसित करना चाहिए नहीं तो यह दबके रह जाएगी । बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पंडित श्री धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी बुंदेली भाषा में कथा सुनाने के लिए जाने जाते हैं यहां तक कि विदेशों में भी वे बुंदेली भाषा का ही प्रयोग करते हैं, जो लोगों को खूब पसंद आती है ।

✭काशी बनारस कथा के बीच पहुंचे सांसद मनोज तिवारी जी

दोस्तों बीजेपी सांसद मनोज तिवारी जी उत्तर प्रदेश की पावन धरा पर काशी बनारस में बागेश्वर धाम सरकार की कथा में पहुंच गए और उन्होंने पूज्य गुरुदेव पंडित श्री धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी से भेंट की और आशीर्वाद लिया ।

दोस्तों बीजेपी सांसद मनोज तिवारी जी अपने सुंदर भजनों के साथ है कथा को और अधिक सुशोभित कर देते हैं ठीक उन्होंने वैसे ही इस बार काशी बनारस में अपने भजनों के द्वारा और अपने शब्दों के द्वारा लोगों को आनंदित किया । इससे पहले वे दो बार बागेश्वर धाम आश्रम पर भी हो कर आए हैं और जहां कहीं भी कथा होती है मनोज तिवारी जी अक्सर पहुंच जाते हैं । बीजेपी सांसद मनोज तिवारी के साथ साथ अन्य सेलिब्रिटी भी बागेश्वर धाम सरकार से आशीर्वाद लेने के लिए पहुंच जाते हैं।

✭काशी बनारस में पित्र तर्पण अनुष्ठान

11 सितंबर से 18 सितंबर तक बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पंडित श्री धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी उत्तर प्रदेश के काशी बनारस के अंतर्गत ही ठहरने वाले हैं । बागेश्वर धाम सरकार का कहना है कि जो भी व्यक्ति पित्र तर्पण का अनुष्ठान करना चाहता है वह काशी बनारस में 11 से 18 सितंबर तक किसी भी समय करवा सकता है ।

बागेश्वर धाम सरकार ने बताया है कि वे पित्र तर्पण की किसी भी प्रकार की राशि नहीं लेंगे परंतु जो कार्य में खर्चा होगा केवल वह देना होगा । काशी बनारस में ठहरने और भोजन की व्यवस्था बागेश्वर धाम सरकार के द्वारा की जा रही है पित्र तर्पण के लिए केवल दक्षिणा का खर्चा लोगों को स्वयं करना होगा ।

⚫️बागेश्वर धाम की महिमा : घर बैठे अर्जी कैसे लगाएं? टोकन कब मिलेगा?क्लिक करें
⚫️Bageshwar Dham के नाम पर Fraud धोखाधड़ी : बागेश्वर धाम गढ़ागंजक्लिक करें
⚫️Bageshwar Dham Contact No : Bageshwar Dham Toll free noक्लिक करें
⚫️बागेश्वर धाम कहाँ है? : Bageshwar Dham Kahan Hai? – जाने का रास्ताक्लिक करें
⚫️बागेश्वर धाम : कथा भजन – Bageshwar Dham Katha Bhajan Chhatarpurक्लिक करें
⚫️छतरपुर, पन्ना, दमोह एवं सागर से बागेश्वर धाम गढ़ा की दूरीक्लिक करें

✭पितृपक्ष का पावन अवसर बागेश्वर धाम सरकार कथा के साथ

पितृपक्ष के पावन अवसर पर बागेश्वर धाम सरकार ने पित्र तर्पण अनुष्ठान के लिए आज से कई दिन पहले एलान कर दिया था कि जो भी व्यक्ति पित्र तर्पण अनुष्ठान करना चाहता है 11 से 18 सितंबर काशी बनारस में करवा सकता है। वर्तमान समय में काशी बनारस में लाखों लोग एकत्रित हो रहे हैं क्योंकि यह एक बहुत ही बड़ा तीर्थ स्थल भी है जिस कारण से अक्सर लोग यहां पर आते रहते हैं । बागेश्वर धाम सरकार की फैन फॉलोइंग काफी तगड़ी है जिस कारण से जहां कहीं भी जाते हैं वहां पर भीड़ लग जाती है ।

✭सांसद मनोज तिवारी जी ने दिखाया काशी वालों को जलवा

दोस्तों काशी बनारस में हो रही कथा के बीच जैसे ही बीजेपी सांसद मनोज तिवारी जी पहुंचे और उन्होंने पूज्य गुरुदेव पंडित श्री धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी से प्रणाम किया और आशीर्वाद लिया । बागेश्वर धाम सरकार ने बीजेपी सांसद मनोज तिवारी जी को आदेश दिया कि आप अपने भजनों के द्वारा लोगों को आनंदित कीजिए लोग आपके भजन सुनना काफी पसंद करते हैं । दोस्तों सांसद मनोज तिवारी जी बीजेपी पार्टी से हैं और भोजपुरी एक्टर भी हैं साथ ही एक अच्छे सिंगर भी हैं ।

दोस्तों बीजेपी सांसद मनोज तिवारी एक बहुत अच्छे सिंगार हैं जिन्होंने भोजपुरी फिल्मों में कई गीतों को अपनी आवाज दी है बिल्कुल लोगों ने काफी पसंद किया है । उनके द्वारा दी गई आवाज के गीत लाखों लोग सुन चुके हैं । बीजेपी सांसद मनोज तिवारी बहुत अच्छे भजन भी गाते हैं दिन में माता के भजन प्रमुख हैं ।

☑️Hotels Near Bageshwar Dham – बागेश्वर धाम के पास होटलClick Here
☑️Bageshwar Dham Ki Mahima – Chhatarpur Gadha Ganj MPClick Here
☑️खजुराहो से बागेश्वर धाम की दूरी – Bageshwar Dham MP ChhatarpurClick Here
☑️बागेश्वर धाम एमपी (म.प्र) – Bageshwar Dham MP ChhatarpurClick Here
☑️बागेश्वर धाम महाराज का घर माता पिता, भाईClick Here

✭काशी बनारस कथा में हुई हजारों पुलिस बल तैनात

दोस्तों उत्तर प्रदेश पुलिस बल सैकड़ों की संख्या में काशी बनारस में तैनात है क्योंकि बाकी सावधान सरकार कथा को सुनाने के लिए सैकड़ों लोग एकत्रित हो रहे हैं । कथा के दौरान किसी भी प्रकार की समस्या उत्पन्न ना हो और अनुशासन बने रहे इसके लिए उत्तर प्रदेश पुलिस सैकड़ों की संख्या में तैनात है ।

दोस्तों बागेश्वर धाम सरकार किसी सेलिब्रिटी से कम नहीं है क्योंकि लाखों भक्तों को उनके दर्शन करने के लिए हमेशा खड़े रहते हैं जहां पर भी रुक जाते हैं वहीं से भीड़ लगनी शुरू हो जाती है । दोस्तों काशी बनारस में किसी भी प्रकार की समस्या अथवा व्यवधान उत्पन्न न हो इसके लिए पुलिस बल 11 से 18 सितंबर तक तैनात रहेगी ।

✭पितरों के लिए गंगा ही क्यों

दोस्तों बागेश्वर धाम सरकार ने पित्र तर्पण अनुष्ठान के लिए काशी बनारस को ही क्यों चुना इसका सबसे बड़ा कारण है कि काशी बनारस में गंगा नदी स्थित है । दोस्तों गंगा नदी इस प्रकार के अनुष्ठान के लिए बहुत ही पवित्र मानी जाती है और कहा जाता है कि जो भी व्यक्ति गंगा नदी के किनारे किस प्रकार का अनुष्ठान करता है उसका अनुष्ठान हमेशा सफल होता है ।

  • 🛑दोस्तों इस प्रकार के अनुष्ठान के लिए गंगा नदी को प्राचीन काल से ही सर्वश्रेष्ठ माना गया है कहा जाता है कि गंगा नदी में इस प्रकार के अनुष्ठान करने के लिए देवताओं ने भी प्राथमिकता दी है। कथाओं में भी पितृ तर्पण के लिए गंगा नदी को ही प्राथमिकता दी गई थी और पित्र तर्पण के कई कार्य सफल किए गए थे ।
  • 🛑दोस्तों भागीरथ ने भी अपने पुरखों को तारने के लिए गंगा नदी को ही प्राथमिकता दी थी लेकिन उस समय पृथ्वी पर गंगा नदी उपलब्ध नहीं थी। देवताओं ने भागीरथ को गंगा नदी को स्वर्ग से लाने के लिए भागीरथ को प्रेरित किया जिसके पश्चात भागीरथ ने घोर तपस्या करके गंगा जी को पृथ्वी पर आने के लिए मना लिया ।
  • 🛑दोस्तों गंगा नदी का देख वेग बहुत ज्यादा होने के कारण भागीरथ ने भगवान शिव से सहायता ली जिसके पश्चात गंगा नदी को पृथ्वी पर लाया गया ।

✭बागेश्वर धाम की कथा

दोस्तों बागेश्वर धाम सरकार ने काशी बनारस में चल रहे दिव्य दरबार में एक भक्त को भविष्य के पुत्र योग का आशीर्वाद दिया । जैसे ही भविष्य के पुत्र योग का आशीर्वाद दिया लोग सुनकर दंग रह गए। लोगों के मन में एक प्रश्न घूम घूम कर आ रहा था कि आखिर कैसे बागेश्वर धाम सरकार भविष्य बता सकते हैं । हालांकि इस बात की कोई विशेष पुष्टि नहीं होती है केवल बागेश्वर धाम सरकार ने योग बताया है अर्थात संभावना जताई है।

दोस्तों बागेश्वर धाम सरकार के पास स्वयं बालाजी महाराज की कृपा है जिस कारण से भी लोगों की समस्याओं को किसी के बिना बताए ही पहले से जान लेते हैं । उनका कहना है कि मानव कल्याण ही मेरा धर्म है। बागेश्वर धाम सरकार कहते हैं कि जब तक मेरा जीवन रहेगा मानव कल्याण के साथ-साथ सनातन धर्म का प्रचार प्रसार करता रहूंगा ।

☑️बागेश्वर धाम में टोकन की व्यवस्था – Bageshwar Dham WikipediaClick Here
☑️बागेश्वर धाम का इतिहास History Of Bageshwar Dham Chhatarpur MPClick Here
☑️बागेश्वर धाम शायरी स्टेटस | Bageshwar Dham Status ShayariClick Here
☑️बागेश्वर धाम महाराज का पता : बागेश्वर धाम का मोबाइल नंबरClick Here
☑️बागेश्वर धाम महाराज का नाम : बागेश्वर धाम महाराज की शादीClick Here
☑️बागेश्वर धाम और खजुराहो प्रसिद्ध धार्मिक एवं पर्यटन स्थलClick Here
Join telegram

Leave a Comment